इन कारणों से आती है खट्टी डकार, जानें मिनटों में दूर करने के उपाय

कल्याण आयुर्वेद- खट्टी डकार आना एक आम समस्या है जो ज्यादातर लोगों को आती है. इससे यह पता चलता है कि आपके पेट में गैस ज्यादा हो गई है. इसके अलावा यह समस्या ज्यादा खाने या फिर जल्दी-जल्दी खाने से भी होती है. आपको बता दें कि डकारे अपच के कारण पैदा होती है और अपच धूम्रपान, तनाव, कोल्ड ड्रिंक, शराब का सेवन आदि के कारण पैदा होता है. ऐसे में डकार के साथ पेट में जलन, उल्टी, पेट फूलने की समस्या, पेट में दर्द, गले में जलन आदि की समस्याएं उत्पन्न हो जाती है. इसका समय पर इलाज करना जरूरी होता है क्योंकि यह धीरे-धीरे कई तरह की समस्याएं होने का खतरा बन सकता है?

इन कारणों से आती है खट्टी डकार, जानें मिनटों में दूर करने के उपाय

खट्टी डकारे आने के कारण-

* जब लोगों को भूख अधिक लगती है तो वे ज्यादा भोजन खा लेते हैं या फिर भोजन जल्दी- जल्दी कर लेते हैं. जिसके कारण उन्हें डकार आने की समस्या हो जाती है. इसके अलावा जिनकी नाक बंद होती है तो वे मुंह के माध्यम से सांस लेते हैं यही कारण है कि हवा पेट में भर जाती है और इसकी वजह से भी खट्टी डकार आने की समस्या हो सकती है. ऐसे लोगों को एसिड रिफ्लक्स यानी पेट में सूजन आ जाने के कारण इस तरह की परेशानियां पैदा हो सकती है.

* जो लोग शराब और कैफिन का अधिक मात्रा में सेवन करते हैं तो इससे उनकी भोजन नली का निचला हिस्सा बहुत ज्यादा प्रभावित होना शुरू हो जाता है, जिसके वजह से एसिड रिफ्लक्स होने की संभावना अधिक हो जाती है. इसके अलावा कार्बोनेटेड पेय पदार्थ के सेवन से भी ज्यादा डकार आती है. कार्बोनेटेड पेय पदार्थ में शराब के अलावा कैफ़ीन, कोल्ड ड्रिंक, स्पार्कलिंग वाइन आदि भी शामिल है.

* खट्टी डकार आने की समस्या मोटापे के कारण ही होती है. जिन लोगों का वजन अधिक होता है या जिनके पेट का आकार बढ़ने लगता है, उनके पेट पर ज्यादा दबाव पड़ता है. जिसके कारण एसिड भोजन नली में आने लगता है जो ज्यादा मात्रा में खा लेते हैं. उन लोगों में भी खट्टी डकार आने की समस्या देखी जाती है. बता दें कि मोटे लोगों की शिथिल जीवन शैली होती है ऐसे में लोग ज्यादातर गंभीर समस्याएं जैसे डायबिटीज आदि से परेशान ही रहते हैं. जिसके कारण डकार की शिकायतें अधिक हो जाती है.

* महिलाओं में गर्भावस्था के दौरान खट्टी डकार आना बहुत ही आम समस्या है. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि गर्भाशय का आकार बढ़ने लगता है. इस दौरान हार्मोन की भोजन नली के निचले हिस्से पर प्रभाव पड़ता है. जिससे गर्भवती महिलाएं हमेशा पीड़ित रहती है. गर्भावस्था में खून की कमी भी देखने को ज्यादा मिलती है. एनीमिया के कारण सांस फूलने और अत्यधिक थकान होने के कारण वे मुंह से सांस लेती है, जिसके कारण हवा पेट में भर जाती है और यह डकार जैसी समस्या उत्पन्न करती है.  गर्भावस्था में महिलाओं को कुछ- कुछ समय पर थोड़ा- थोड़ा खाना होता है ऐसे में यह समस्या और गंभीर रूप ले सकती है.

* अगर मुख्य कारणों की बात की जाए तो जिन लोगों की पाचन संबंधित समस्याएं रहती है. इन लोगों के खट्टी डकार अधिक आती है. बता दें कि इरिटेबल बाउल सिंड्रोम के कारण एसिड रिफ्लक्स हो जाता है. पाचन शक्ति कमजोर होने के कारण सही ढंग से भोजन नहीं पच पाता है जो गैस बनाता है और खट्टी डकार के रूप में बाहर आता है.

* गैस तब बनती है जब बैक्टीरिया पाचन क्षेत्र में खाना बचा रहे होते हैं. इसके कारण भी बदबूदार डकारे आने लगती है और पेट फूलने की समस्या भी देखी जाती है. बता दें कि जब हम प्रोटीन वाले आहार और शराब की मात्रा अधिक कर लेते हैं तब भी इस तरह की समस्या हो जाती है.

खट्टी डकार से बचाव के उपाय-

* धूम्रपान से बचें, गलत खाने की आदत से बचें, सोने से पहले तुरंत खाना ना खाए, शराब के अलावा कोल्ड ड्रिंक सोडा आदि कार्बोनेटेड पेय पदार्थों के सेवन से बचें, च्युंगम का सेवन कम करें.

* यदि खट्टी डकार आने की समस्या है तो रात को सोने से पहले एक चम्मच त्रिफला चूर्ण यानी हरे, बहरा और आंवला का चूर्ण गुनगुने पानी के साथ सेवन करें यह पेट से संबंधित समस्याओं को दूर करने के लिए अति गुणकारी होता है.

* खाना खाने के तुरंत बाद पानी ना पिए बल्कि खाना खाने से 1 घंटे पहले या 1 घंटे बाद पानी पिए. हालांकि खाना खाते समय थोड़ा बहुत पानी पिए और यदि खट्टी डकार आने की समस्या है तो गुनगुने पानी खाना के साथ पिएं तो खट्टी डकार को दूर करने में काफी फायदेमंद साबित होगा.

* खट्टी डकार को दूर करने में अदरक काफी मददगार होता है. इसके लिए एक चम्मच अदरक का रस, नींबू का रस और थोड़ा-सा सेंधा नमक और शहद डालकर दिन में दो-तीन बार पिएं, आपकी परेशानी दूर हो जाएगी.

* पानी को अच्छी तरह से उबालकर इसमें पुदीने की पत्तियां डाल लें और 10 मिनट बाद इसे पी लें. इससे बार-बार खट्टी डकार आने की समस्या दूर हो जाएगी.

* मिनटों में खट्टी डकार से राहत पाना चाहते हैं तो एक इलायची को अच्छी तरह से चबाएं. प्रतिदिन एक इलायची का सेवन करने से पाचन क्रिया दुरुस्त रहती है और पेट से जुड़ी परेशानियां भी दूर हो जाती है.

* यदि खट्टी डकार आ रही है तो तुरंत थोड़ा सा गुड़ का टुकड़ा लेकर मुंह में रखकर चूसें, इससे आपको मिनटों में ही आराम मिल जाएगा. गुड़ में मौजूद डाइजेस्टिव एंजाइम खाने को जल्दी हजम करने में मदद करते हैं.

यह जानकारी अच्छी लगे तो लाइक, शेयर जरूर करें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments