किसी चमत्कारी औषधि से कम नहीं है यह चूर्ण, हर बीमारी से करता है रक्षा

कल्याण आयुर्वेद- आज के समय में ज्यादा कर लोग कोई भी बीमारी होने पर अंग्रेजी दवाओं का सेवन करना शुरू कर देते हैं. लेकिन फल या जड़ी- बूटियों से बनी आयुर्वेदिक औषधियां इस्तेमाल करना अंग्रेजी दवाओं से बेहतर साबित होता है. सरल भाषा में कहें तो स्वास्थ्य को दुरुस्त रखने के लिए घरेलू उपाय अपनाना अधिक फायदेमंद होता है.

किसी चमत्कारी औषधि से कम नहीं है यह चूर्ण, हर बीमारी से करता है रक्षा

आज हम आपको एक ऐसे ही चमत्कारी चूर्ण के बारे में बताने जा रहे हैं जो आपको कई तरह की बीमारियों से बचाए रखने में मददगार होता है.

जी हां हम जिस चमत्कारी चूर्ण के बारे में बात कर रही हैं वह है त्रिफला चूर्ण. त्रिफला चूर्ण हरे, बहेड़ा और आंवला के मिश्रण से तैयार किया जाता है जो औषधीय गुणों से भरपूर होता है. तो आज हम आपको त्रिफला चूर्ण के सेवन से होने वाले फायदों के बारे में बताएंगे.

इम्यूनिटी को करता है मजबूत-

त्रिफला चूर्ण का सेवन करने से इम्यूनिटी मजबूत होता है. आपको बता दें कि इस चूर्ण में इम्यूनिटी माड्यूलेटरी एक्टिविटी पाई जाती है, जिसकी मदद से रोग प्रतिरोधक क्षमता को सक्रीय करके उन्हें मजबूत बनाता है. इसके अलावा इसमें एंटीऑक्सीडेंट एक्टिविटी भी मौजूद है जो इम्यूनिटी को मजबूत बनाने में सक्रिय तौर पर काम कर सकती है.

मधुमेह ऐसे करें बचाव-

मधुमेह एक ऐसी बीमारी है जिससे हर कोई बचना चाहता है क्योंकि यह बीमारी जिसे एक बार चपेट में ले लेती है पूरी जिंदगी साथ नहीं छोड़ती, लेकिन आजकल के बदलते खान-पान के कारण यह बीमारी होना आम हो गई है. अगर इससे खुद को बचा कर रखना चाहते हैं तो इसके लिए त्रिफला का काफी फायदेमंद साबित हो सकता है. क्योंकि इसका नियमित सेवन करने पर खून में मौजूद ब्लड ग्लूकोज का स्तर बेहद कम हो जाता है. जिसके वजह से डायबिटीज जैसी खतरनाक बीमारियों से आपकी रक्षा करता है.

कब्ज के लिए रामबाण-

सही खानपान ना होने के कारण कब्ज की समस्या होना कोई बड़ी बात नहीं है. ऐसे में त्रिफला का चूर्ण काफी फायदेमंद साबित हो सकता है. इस चूर्ण में गैलिक एसिड पाया जाता है जिसकी मदद से कब्ज की समस्या से राहत मिल सकती है. प्रतिदिन इस चूर्ण को गर्म पानी के साथ सेवन करने से कब्ज की समस्या से छुटकारा मिलता है.

ओरल हेल्थ के लिए है फायदेमंद-

त्रिफला का चूर्ण ओरल हेल्थ से संबंधित हर तरह की समस्या के लिए सेवन किया जा सकता है. यहां तक कि वैज्ञानिक भी इस पर अध्ययन कर चुके हैं. साथ ही इस बात की पुष्टि की जा चुकी है कि इसका सेवन करने से ओरल हेल्थ में सुधार हो सकता है. बता दें कि इस चूर्ण में एंटीकैविटी एक्टिविटी मौजूद होती है. जिसके जरिए दांतों को खराब होने से बचाया जा सकता है. इतना ही नहीं ब्रश करने के दौरान अगर मसूड़े से खून निकलता है तो त्रिफला के चूर्ण का इस्तेमाल करने से यह समस्या दूर हो जाती है.

मुंह के छालों करता है ठीक-

मुंह में छाले होना एक आम समस्या है, जिससे ज्यादातर लोग प्रभावित हो चुके होते हैं. जब मुंह में छाला पड़ जाता है तो कुछ खाना- पीना कठिन हो जाता है. ऐसे में आप एक चम्मच त्रिफला चूर्ण को थोड़ी देर तक मुंह में रखकर चबाएं और हल्का गुनगुना पानी पी लें. ऐसा करने से एक दो बार में ही मुंह के छाले ठीक हो जाते हैं.

आंखों के लिए है फायदेमंद-

आंखों के स्वास्थ्य के लिए भी त्रिफला चूर्ण काफी फायदेमंद होता है. इसमें पौष्टिक तत्व मिनरल्स पाया जाता है. ऐसे में अगर आप प्रतिदिन पानी के साथ इस चूर्ण का सेवन करेंगे तो यह टॉनिक के तौर पर आंखों में एक तरह का एंटीऑक्सीडेंट बढ़ाता है. जिसकी मदद से आंखों की रोशनी सही होने के साथ ही अन्य नेत्र रोगों से भी बचाव किया जा सकता है.

मोटापा दूर करने के लिए त्रिफला-

मोटापा दूर करने के लिए भी त्रिफला का प्रयोग करना काफी लाभदायक होता है. इसके लिए त्रिफला चूर्ण को पानी में मिलाकर सेवन किया जा सकता है. इसके लिए आप ठंडा या गर्म दोनों तरह के पानी का उपयोग कर सकते हैं. आप चाहे तो मोटापा कम करने के लिए त्रिफला को चाय की तरह उपयोग कर सकते हैं. इसके लिए एक चम्मच त्रिफला चूर्ण को दो कप पानी में उबालें. जब उबल कर पानी एक कप रह जाए तो इसमें शहद डालकर पियें. यह स्वादिष्ट होने के साथ ही आपके मोटापा को कम करेगा.

यह जानकारी अच्छी लगे तो लाइक, शेयर जरूर करें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments