तीखा और मसालेदार खाना खाने के होते हैं कई फायदे, आप भी जरूर जानें

कल्याण आयुर्वेद- कई ऐसे लोगों को देखा होगा जो हरी मिर्च के बिना तो खाना ही नहीं खाते हैं. तीखे गोलगप्पे, मसालेदार राजमा, छोला का नाम सुनते ही मुंह में पानी आ जाता है. क्या आप भी उन लोगों में से हैं जिन्हें एक्स्ट्रा स्पाइसी खाना ज्यादा पसंद है. अगर आप का भी जवाब हां है तो यह सोच कर परेशान ना हो कि तीखा और मसालेदार खाना सेहत के लिए सिर्फ नुकसानदेह ही होता है क्योंकि साइंस आपके फेवर में है, जी हां साइंस के मुताबिक मसालेदार भोजन खा सकते हैं परंतु सीमित मात्रा में.

तीखा और मसालेदार खाना खाने के होते हैं कई फायदे, आप भी जरूर जानें

आइए जानते हैं मसालेदार खाना खाने के कुछ फायदे-

वेट लॉस में मददगार- एक नहीं बल्कि कई स्टडीज के द्वारा पता चला है कि हरी और लाल मिर्च, काली मिर्च, हल्दी, दालचीनी आदि मसाले शरीर में मेटाबॉलिक रेट को पढ़ाते हैं तथा भूख को कम करने में मदद करते हैं जिससे कि वजन घटाने में बहुत मदद मिलता है.

कैंसर से बचाता है- आपको बता दें मिर्च में कैप्सेसीन नाम का एक्टिव कॉम्पोनेंट्स पाया जाता है जो कैंसर कोशिकाओं को धीमा करने तथा उन्हें क्षतिग्रस्त करने में मदद करता है. ऐसा होने पर कैंसर को फैलने तथा बढ़ने से रोकता है. तीखा खाना खाने से आपको कैंसर जैसी बीमारी से खतरा कम रहता है.

इंफेक्शन से बचाता है- आपको पता होगा जीरा और हल्दी जैसे मसालों में एंटीऑक्सीडेंट एंटीबैक्टीरियल और एंटीमाइक्रोबियल्स प्रॉपर्टी पाए जाते हैं जो हमारे शरीर के हानिकारक व्यक्तियों से लड़कर उन्हें बाहर निकालने में मदद करते हैं. जिसके कारण आप इंफेक्शन तथा बीमारियों से दूर रहने में सक्षम होते हैं.

डिप्रेशन रहता है कंट्रोल- तीखा और मसालेदार भोजन खाने पर शरीर में सेरोटोनिन यानी फीलगुड हार्मोन का उत्पादन बढ़ जाता है. जिससे कि आप स्ट्रेस और डिप्रेशन से दूर रहते हैं. इसके अलावा ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है लेकिन हां स्पाइसी फूड का सेवन सीमित मात्रा में ही करें.

क्या आपको भी तीखा और मसालेदार खाना पसंद है हमें कमेंट में जरूर बताएं और अगर जानकारी अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक तथा शेयर जरूर करें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments