एक ही बार में शरीर की सारी गंदगी को साफ कर देगा यह चूर्ण, कब्ज से परेशान है तो एक बार आजमाकर जरूर देखें

कल्याण आयुर्वेद- आज के समय अनियमित खानपान, तेल- मसलों का अधिक सेवन आदि के कारण कब्ज की समस्या बहुत ही आम समस्या है. इससे ज्यादा कर लोग परेशान रहते हैं. वहीं यदि पेट साफ हो जाए तो यह शरीर के संपूर्ण सफाई का बेहतर उपाय होता है. आज हम आपको एक ऐसे चूर्ण के बारे में बताने जा रहे हैं जो शरीर की सफाई करने काफी मददगार साबित होगा.

एक ही बार में शरीर की सारी गंदगी को साफ कर देगा यह चूर्ण, कब्ज से परेशान है तो एक बार आजमाकर जरूर देखें
चलिए जानते हैं विस्तार से-

शरीर की संपूर्ण सफाई करने के लिए यह चूर्ण बहुत ही बेहतर है. इस चूर्ण का उपयोग विशेष शरीर की संपूर्ण गंदगी को बाहर निकालने के लिए, आंतों की सफाई के लिए, पेट की सफाई के लिए एवं गर्भ के रोगों में भी बहुत फायदेमंद है.

इस चूर्ण को बनाने के लिए इन चीजों आवश्यकता होगी-

काला दाना- 30 ग्राम.

सनाय पत्ती- 30 ग्राम.

काला नमक- 10 ग्राम.

सबसे पहले काला दाना और सनाय पत्ती कूटकर चूर्ण बना लें. बाद में नमक पिसकर और उसमें मिला दें. बस आपका चूर्ण तैयार हो गया.

यह चूर्ण कब्ज मिटाने और दस्त खोलने में बहुत ही उपयोगी है. इसके इस्तेमाल से यकृत, प्लीहा, शूल और गर्भाशय के रोगों में लाभ होता है. इसके अलावा जिन रोगों में दवा देने से पहले पेट साफ करने की जरूरत होती है उन सब में इसे आराम से दी जा सकती है. इसमें यह खूबी है कि इससे पतला दस्त नहीं आता है, पर पेट का सारा मल बंधे हुए दस्त के रूप में निकाल देता है.

कैसे करें सेवन-

इसकी सेवन की मात्रा 2 से 5 ग्राम तक की है. रात को सोते समय चूर्ण खाकर ऊपर से गुनगुना पानी पी लें. सवेरे ही एक या दो दस्त खुलासा होने से शरीर हल्का हो जाता है. पहले इसे थोड़ी मात्रा में बाद में मात्रा बढ़ा सकते हैं. लेकिन इस निर्देश के साथ के बराबर अनुसार मात्रा कम लें. अन्यथा दस्त पतले हो सकते हैं. इस दवा के खाने से पेट में दर्द सा होता है क्योंकि यह आँतों में जमी मल को खुरचता है. ऐसी दशा में थोड़ी सी सौंफ लेकर चूसें इससे शीघ्र ही मल निकल जाता है और पेट हल्का हो जाता है.

नोट- यह पोस्ट शैक्षणिक उद्देश्य से लिखा गया है. प्रयोग से पहले किसी योग्य डॉक्टर की सलाह जरूर लें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments