क्या सिर्फ कैल्शियम की कमी से ही होती है हड्डियों में दर्द ? जानिए दर्द होने के अन्य कारण

कल्याण आयुर्वेद- महिला हो या पुरुष एक उम्र के बाद हड्डियों और जोड़ों में दर्द का एहसास ज्यादातर लोगों को होता है. समय के साथ यह दर्द असहनीय भी हो सकता है. लोग डॉक्टर के पास जाते हैं और डॉक्टर मरीजों को पैथोलॉजी लैब और केमिस्ट के पास भेज देता है. कुछ दिनों के लिए दर्द का एहसास खत्म होता है, लेकिन दर्द खत्म नहीं होता है. लेकिन सवाल यह उठता है कि हड्डियों में दर्द होता क्यों है? क्या सिर्फ कैल्शियम की कमी के कारण ही ऐसा होता है या फिर इसके पीछे कुछ और भी कारण होते हैं.

क्या सिर्फ कैल्शियम की कमी से ही होती है हड्डियों में दर्द ? जानिए दर्द होने के अन्य कारण

चलिए जानते हैं विस्तार से-

विश्वेश्वरय्या प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के पास आउट इंजीनियर ब्रिज मौर्य कहते हैं कि अगर आप शरीर को घर मान ले तो उसमें लगे पिलर हमारी हड्डियां होती है. जैसे पिलर- गिट्टी, बालू, सीमेंट और पानी से बने होते हैं वैसे ही हमारी हड्डियों की संरचना भी सिर्फ कैल्शियम से पूरी नहीं होती है बल्कि हड्डियों का संरचना बनाने का काम कोलेजन करता है और उन्हें सही आकार देता है. फिर उसे कठोर और मजबूत करने का काम कैल्शियम फास्फेट करता है साथ ही इसमें पानी भी 30% होता है.

कोलेजन मांस पेशियों की संयोजी उत्तक में पाया जाने वाला एक प्रकार का प्रोटीन है इसके अलावा हड्डियों में पाए जाने वाले लुब्रिकेंट यानी सायनोवियल फ्लुएड के कम हो जाने के कारण हड्डियां आपस में टकराने लगते हैं. जिसके वजह से दर्द होने लगता है.

इसलिए यदि आपकी हड्डियों में दर्द हो रहा है तो हो सकता है आपके शरीर में कैल्शियम की वजाय कोलेजन कम हो गया हो और अगर जोड़ों में दर्द और कट कट की आवाज आती है तो हो सकता है आपके शरीर में ग्लूकोसामाइन कम हो गया हो. यूरिक एसिड बढ़ने पर भी हड्डियों में दर्द शुरू हो जाता है. ओस्टियोपोरोसिस और स्पोंडिलाइटिस, रिकेट्स और विटामिन डी की कमी से भी हड्डियों में दर्द रहता है और कैल्शियम कम होने की बात तो सबको पता ही है.

यह जानकारी अच्छी लगी तो लाइक, शेयर जरूर करें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments