जानें- हड्डियों में दर्द होने के कारण और बचाव करने के तरीके

कल्याण आयुर्वेद- महिला हो या पुरुष एक उम्र के बाद हड्डियों में दर्द होना एक आम समस्या है. लेकिन कई बार उम्र से पहले भी हड्डियों का दर्द लोगों को परेशान करने लगता है. भले ही हड्डियों में दर्द की समस्या आम तौर पर बोन डेंसिटी कम होने के कारण या फिर चोट लगने की वजह से हो. लेकिन यह किसी गंभीर बीमारी का संकेत हो सकता है?

जानें- हड्डियों में दर्द होने के कारण और बचाव करने के तरीके

मेडिकल रिसर्च के अनुसार पुरुषों की तुलना में महिलाओं को ज्यादा गंभीर रूप से हड्डियों में दर्द की शिकायत रहती है. 

चलिए जानते हैं विस्तार से-

जोड़ों में दर्द की समस्या- हड्डियों में अचानक दर्द उठने के कई कारण हो सकते हैं. चोट या शरीर के किसी अंग विशेष के बहुत ज्यादा इस्तेमाल या फिर ब्लड सर्कुलेशन में बाधा होने के कारण दर्द हो सकता है. इसी तरह पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस, गठिया, ल्युपस या सिकल सेल, एनीमिया के चलते भी अचानक जोड़ों में दर्द की समस्या हो सकती है.

हड्डियों में दर्द होने के कारण-

व्यायाम- व्यायाम करना सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है. नियमित व्यायाम करने से हमारा शरीर स्वस्थ रहता है, लेकिन आजकल ज्यादातर युवा फिट रहने के लिए ऑनलाइन चैनल का सहारा ले रहे हैं. अच्छे शरीर के लिए जुंबा और एरोबिक्स जैसी एक्सरसाइज करते हैं. लेकिन बिना योगा टीचर की एक्सरसाइजेज को करने से भी हड्डियों में दर्द की समस्या हो सकती है?

प्रोटीन- सप्लीमेंट्स अक्सर युवा वर्ग के लोग बॉडी बनाने के लिए कई तरह के प्रोटीन सप्लीमेंट्स लेते रहते हैं. कुछ सप्लीमेंट्स में स्टेरॉइड होता है. जिससे नसें सिकुड़ जाती है और बोन टिशु डैमेज हो जाते हैं जो हड्डियों में दर्द का कारण बन सकता है.

भरपूर नींद नहीं लेना- कुछ लोग देर रात पार्टी करने की वजह से तो कुछ काम के कारण रात को देर से सोते हैं जिसकी वजह से उनकी नींद पूरी नहीं हो पाती है. ऐसे में पेट से संबंधित समस्याएं होने के साथ ही तनाव व जोड़ों में दर्द की समस्या भी हो सकती है.

गलत खानपान- फास्ट फूड खाने और धूम्रपान करने से पर भी जोड़ों पर बुरा प्रभाव पड़ता है. अगर आप हड्डियों में दर्द की समस्या से बचना चाहते हैं तो दूध से बनी चीजों का सेवन करें. इससे शरीर में कैल्शियम की कमी पूरी होती है.

ठीक से ना बैठना- आजकल ज्यादातर लोग बैठकर काम करना अधिक पसंद करते हैं. लेकिन बैठने के दौरान उन्हें अपनी मुद्रा का विशेष ध्यान रखना चाहिए, जहां तक संभव हो सीधे बैठे और एक ही पोजीशन में बहुत देर तक नहीं बैठे रहे क्योंकि बहुत देर तक एक ही जगह बैठे रहने से भी हड्डियों में दर्द होने का कारण बन सकता है.

ऐसे कर सकते हैं बचाव-

* मांस पेशियों में खिंचाव और हड्डियों में दर्द की समस्या से बचना चाहते हैं तो हर 20 मिनट में खड़ा होना चाहिए.

* डेस्क वर्क करते हैं तो लंबे समय तक एक ही स्थिति में बने रहने से बचना चाहिए.

* हल्की स्ट्रैचिंग करना भी हड्डियों के दर्द से बचाव करने में मददगार है. शरीर को घुमाएँ. सिर को अगल-बगल घुमाएँ. इस तरह की साधारण स्ट्रेचिंग भी दर्द से छुटकारा दिलाने में मददगार साबित होगा.

* अपने आहार में कैल्शियम युक्त भोजन को जरूर शामिल करें. इसके लिए दही, दूध, पनीर, सोयाबीन, पत्तेदार सब्जियां, ब्रोकली आदि को नियमित शामिल करें.

* अगर आपको लंबे समय तक हड्डियों में दर्द बना रहता है तो आपको डॉक्टरी सलाह जरूर लेनी चाहिए.

* गंभीर आर्थराइटिस के मामले में जॉइंट रिप्लेसमेंट दर्द से छुटकारा दिलाने में कारगर साबित हो सकता है इसके लिए हड्डी रोग विशेषज्ञ की सलाह लें.

यह जानकारी अच्छी लगे तो लाइक, शेयर जरूर करें. धन्यवाद.


Post a Comment

0 Comments