कई जटील स्वास्थ्य समस्याओं का घरेलू उपचार है पुदीना, जानें इस्तेमाल करने के तरीके

कल्याण आयुर्वेद- गर्मियों की शुरुआत होते ही पुदीने की मांग बढ़ जाती है. पुदीने की पत्तियों का इस्तेमाल मुख्य रूप से चटनी बनाने के लिए किया जाता है. इसकी चटपटी चटनी खाने के स्वाद को दोगुना कर देता है. हालांकि पुदीना मुख्य आहार तो नहीं है लेकिन इसकी मौजूदगी से खाने का स्वाद बढ़ जाता है. इसके अलावा पुदीने की पत्तियां औषधीय गुणों से भरपूर होती है. गर्मियों में पुदीने की चटनी खाना ज्यादातर लोग पसंद करते हैं क्योंकि यह शरीर को गर्मी से राहत देने में मददगार होता है. लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि पुदीने की पत्तियां कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं को दूर करने में अहम भूमिका निभाता है.

कई जटील स्वास्थ्य समस्याओं का घरेलू उपचार है पुदीना, जानें इस्तेमाल करने के तरीके

1 .गर्मी में लू से बचने के लिए भी पुदीने का इस्तेमाल किया जाता है. इसके रस को पीकर बाहर निकलने से लू लगने का खतरा काफी कम रहता है.

2 .अगर आपके मुंह से बदबू आने की समस्या है तो पुदीना इस समस्या से छुटकारा दिलाने में काफी मददगार होगा. इसके लिए पुदीने की कुछ पतियों को मुंह में लेकर चबा लें. नियम से इसके पानी से कुल्ला करने से मुंह की बदबू दूर हो जाती है.

3 .हैजा होने पर भी पुदीने का इस्तेमाल किया जाता है. हैजा होने पर पुदीना, प्याज का रस, नींबू का रस बराबर मात्रा ( एक-एक चम्मच ) में मिलाकर पीने से काफी लाभ होता है.

4 .गर्मियों में पुदीने की मांग बढ़ जाती है क्योंकि गर्मियों के रोग जैसे दस्त, बमन, हैजा, पेट दर्द, अजीर्ण, चर्म रोग आदि को दूर करने में काफी मददगार होता है. इसके लिए शुद्ध और अच्छे किस्म का पुदीना लें. इस को पीसकर रस निकाल लें. फिर छानकर 1 सीसी में भर लें. लेकिन यह रस उतना ही रखें जितना 2 दिन में खत्म हो जाए. अब इस रस को चीनी के शरबत में मिलाएं. एक गिलास शरबत में 3 चम्मच पुदीने का रस डालना उचित रहता है. 2 दिन बाद फिर रस बनाएं. इसका 1 सप्ताह तक दिन में दो से तीन बार उपयोग करें. यह उपर्युक्त रोगों में लाभ पहुंचाने के साथ-साथ गर्मियों में शीतलता भी प्रदान करता है.

5 .यदि किसी को गैस की समस्या हमेशा बनी रहती है तो एक गिलास पानी में 25 ग्राम पुदीने का रस और एक 30 ग्राम शहद मिलाकर नियमित रूप से 1 सप्ताह तक पीने से लाभ होता है. हालांकि इसका एक ही खुराक में असर होना शुरू हो जाता है.

6 .यदि किसी को पेट दर्द हो रहा हो तो दो चम्मच पुदीने का रस आधा कप पानी में मिलाएं. अब इसमें आधा नींबू का रस निचोड़ लें और अच्छी तरह से मिलाकर पी लें. इससे कुछ ही मिनटों में पेट दर्द से आराम मिल जाता है.

7 ..पुदीने का रस उल्टी तुरंत रोकने में मददगार होता है इसके लिए एक चम्मच पुदीने का रस और एक चम्मच नींबू का रस मिलाकर पीना चाहिए. इसमें शहद मिला लेने से इसका लाभ दुगना हो जाता है.

8 .हिचकी आना एक आम समस्या है. कई बार ऐसा होता है कि लगातार हिचकी आ रही होती है ऐसे में पुदीने के पत्तों के साथ चीनी या मिश्री के टुकड़े चबाएं. हिचकी तुरंत बंद हो जाएगी.

9 .बिच्छू का डंक मारना एक आम समस्या है जो किसी के साथ भी हो सकता है. बिच्छू का डंक मारने के बाद काफी तेज दर्द और जलन होना शुरू हो जाता है. ऐसे में पुदीने की पत्तियों को पीसकर बिच्छू काटे हुए जगह पर लेप करें और पुदीने का रस पिलायें. इससे बिच्छू का जहर कम होने लगता है.

10 .खांसी, जुकाम, दमा तथा खाना नही पचना ( मन्दाग्नि ) की समस्या हो तो 8-10 पुदीने की पत्तियां, 5 काली मिर्च और स्वाद के अनुसार नमक डालकर चाय की तरह तैयार कर लें. अब ऐसी मात्रा दिन में 3 बार पियें. काफी लाभ होगा.

11 . पुदीना स्वास्थ्य समस्याओं को दूर करने के साथ ही है सौन्दर्य समस्याओं को दूर करने में मददगार होता है. इसके लिए हरा पुदीना पीसकर चेहरे पर लेप करें. जब यह सूख जाए तो पानी से धो डालें. इसके नियमित प्रयोग करने से चेहरे की फुंसियां, मुंहासे, दाग मिट जाते हैं. कम से कम 1 माह तक इसका प्रयोग करना चाहिए.

यह जानकारी अच्छी लगे तो लाइक, शेयर जरूर करें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments