पैंट की पिछली जेब में पर्स रखने की आदत आपको पहुंचा सकता है अस्पताल, जानें कैसे

कल्याण आयुर्वेद- आपने ज्यादातर लोगों देखा होगा कि वे पैंट की पिछली जेब में पर्स रखते हैं. लेकिन यह आदत सही नहीं है. इस आदत के कारण आपको परेशानी हो सकती है. आपको सुनकर हैरानी हो. लेकिन आपकी पैंट की पिछली जेब में रखा हुआ पर्स आपके बैक पेन की वजह बन सकता है?

पैंट की पिछली जेब में पर्स रखने की आदत आपको पहुंचा सकता है अस्पताल, जानें कैसे

एक रिसर्च के अनुसार पैंट की पिछली जेब में पर्स रखकर दिनभर बैठने या गाड़ी चलाने से कमर की मसल्स पर जो दबाव पड़ता है वह कमर दर्द का वजह बन सकता है? आपको लगता है कि यह तो कितनी पुरानी आदत है, पहले किसी ने ऐसा नहीं कहा था. लेकिन यह बात सच है. पहले लोग अन्य कारणों का दर्द का जिम्मेदार मानते थे क्योंकि यह रिसर्च सामने नहीं आई थी.

शोधकर्ताओं का कहना है कि जब भी आप पैंट की पिछली जेब में कुछ रख कर बैठते हैं जो आमतौर पर आपको पर्स ही होता है तो आपकी कमर और पेल्विक अपनी सामान्य अवस्था की जगह एक गलत पोस्चर में आ जाती है. ऐसा जब लंबे समय तक होता है तो आपकी मसल्स पर दबाव पड़ता है. इसके साथ ही आपको कमर दर्द और साइटिका की समस्या बढ़ने की संभावना अधिक हो जाती है.

आमतौर पर पर्स रखते हैं लेकिन ऐसा असर कोई भी वस्तु बैक पॉकेट में रख कर लंबे समय तक बैठने से होगा. कई बार आप इंपॉर्टेंट कार्यों का रोल किया कागज़, अपना मोबाइल फोन भी बैक पैकेट में रख लेते हैं. आप सोचिए और ऐसी कौन सी चीज है जो आप पेंट की पिछली जेब में रख कर छोड़ देते हैं और दोबारा ऐसा करने से पहले ध्यान रखें कि आप अपनी सेहत के साथ खिलवाड़ नहीं करें, नहीं तो परेशानी अधिक होने पर अस्पताल जाना पड़ सकता है.

यह जानकारी अच्छी लगे तो लाइक, शेयर जरूर करें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments