महिलाओं में श्वेत प्रदर की समस्या को सिर्फ 7 दिन में खत्म कर देता है शीशम का पत्ता, जानें इस्तेमाल करने की विधि

कल्याण आयुर्वेद- महिलाओं में श्वेत प्रदर का होना एक बहुत ही आम समस्या है जो ज्यादातर महिलाओं को होता है. हालांकि साधारण सा श्वेत रंग का गुप्त अंग से स्राव होते रहना महिलाओं की स्वास्थ्य की निशानी होती है. लेकिन यदि यही स्राव अधिक आने लगे तो श्वेत प्रदर का रूप धारण कर लेता है. जिसके वजह से उन्हें परेशानियों का सामना करना पड़ता है.

महिलाओं में श्वेत प्रदर की समस्या को सिर्फ 7 दिन में खत्म कर देता है शीशम का पत्ता, जानें इस्तेमाल करने की विधि

इस स्राव को अधिक मात्रा में आने के कारण कमर दर्द, पैर में दर्द, हाथ- पैरों में जलन, सिर में जलन होना जैसी समस्याएं उत्पन्न होने लगती है. ऐसे में इस समस्या को दूर करने के लिए डॉक्टरी सलाह उन्हें जरूर लेनी चाहिए. लेकिन ज्यादातर महिला गुप्त अंगों से जुड़ी बीमारियां बताने में डॉक्टर के पास शर्माते हैं तो वहीं घर में भी जल्दी किसी को नहीं बताते जो उनके स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक होता है.

आज हम इस पोस्ट के माध्यम से श्वेत प्रदर दूर करने के लिए शीशम के पत्ते का उपाय बताने जा रहे हैं जो सिर्फ 7 दिनों में ही इस समस्या से छुटकारा दिलाने में मददगार होता है यह आजमाया हुआ नुस्खा है.

यदि आप से प्रदर की समस्या से परेशान है तो शीशम के 20- 25 कोमल पतियों को चटनी की तरह पीसकर आधे गिलास पानी में डुबोकर रात भर के लिए रख दें. सुबह पत्ती सहित इसे खाली पेट में पी लें. नियमित 7 दिनों तक इसका इस्तेमाल करने से श्वेत प्रदर यानी पानी जाने की समस्या निश्चय ही दूर हो जाती है. यह आजमाया हुआ नुस्खा है.

Post a Comment

0 Comments