गर्मियों में अमृत सामान गुणकारी है बेल का शरबत, जानें अनमोल फायदे

कल्याण आयुर्वेद- गर्मियों की शुरुआत होते ही हमारे शरीर पर कई तरह के दुष्प्रभाव बढ़ने लगते हैं. गर्मियों में सर्दी- जुकाम, पेचिस, डायरिया जैसी समस्याएं होना आम हो जाता है तो वही लू लगने की चांस अधिक हो जाते हैं ऐसे में बेल का शरबत किसी रामबाण से कम नहीं है. नियमित बेल का शरबत पीने से हमारे शरीर को ठंडक मिलती है जिससे कई बीमारियां दूर रहती है.

गर्मियों में अमृत सामान गुणकारी है बेल का शरबत, जानें अनमोल फायदे

तो चलिए जानते हैं बेल के फायदे-

1 .गर्मी के दिनों में लू लगने का डर सबसे अधिक होता है लेकिन बेल का शरबत बनाकर पीने से लू लगने का खतरा दूर रहता है और लू लग जाने पर यह दवा की तरह काम करता है. तपते शरीर की गर्मी को दूर करने में बहुत ही लाभकारी है.

2 .शरीर में गर्मी बढ़ जाने पर आंव, दस्त जैसी समस्याएं हो सकती है इससे छुटकारा पाने के लिए प्रतिदिन आधी कच्ची पक्की बेल के फल का सेवन करें या फिर बेल के शरबत का सेवन करें. यह डायरिया रोग में काफी लाभदायक होता है.

3 .कई बार आंखें लाल होने के साथ ही आंखों में जलन होने लगती है. ऐसी स्थिति में बेल के पत्तों का रस एक- एक बूंद आंख में डालने से तुरंत लाभ होता है और इसका कोई साइड इफेक्ट भी नहीं होता है. बस डालने से पहले इस बात का ध्यान रखें कि रस में कचरा ना हो. आंख के दर्द में बेल के पत्तों की लुगदी आँख पर बांधने से काफी राहत मिलती है.

4 .पाचन संबंधी समस्याओं में पके हुए बेल का फल का सेवन करना काफी फायदेमंद होता है. इसका शरबत पीने से पेट साफ रहता है. यह फल पाचक होने के साथ-साथ बलवर्धक भी है यानी यह हमारे शरीर को एनर्जी भी प्रदान करता है. इसके सेवन से बात- कफ संबंधित समस्याएं दूर हो जाती है. गर्मियों में गर्भवती महिलाओं का जी मिचलाने लगे तो बेल और सोठ का काढ़ा दो चम्मच पिलाने से अच्छा लाभ होता है.

5 .बेल का मुरब्बा सेवन करने से शरीर को शक्ति मिलती है और कमजोरी दूर हो जाती है. यह पेट संबंधी समस्याओं में तो फायदेमंद है ही बेल के गूदे को खाड़ के साथ खाने से आंत संबंधी रोग में राहत मिलती है.

6 .बच्चे के पेट में कीड़े होने पर तो इसके पत्तों का अर्क पिलाना काफी कारगर उपाय है. छोटे बच्चों को प्रतिदिन एक चम्मच पका बेल खिलाने से शरीर की हड्डियां मजबूत होती है.

7 .बेल के फल को शहद और मिश्री के साथ चाटने से शरीर के खून का रंग साफ होता है और खून में भी वृद्धि होती है. वहीं इसके गुदे में काली मिर्च, सेंधा नमक मिलाकर खाने से आवाज भी सुरीली होती है.

8 .डायबिटीज के मरीजों के लिए बेल के पत्तों का चूर्ण बनाकर सेवन करना काफी लाभदायक होता है. यह बढ़े हुए शुगर लेवल को नियंत्रित करने में असरकारी है.

Post a Comment

0 Comments