डायबिटीज के मरीजों को आहार में जरूर शामिल करना चाहिए ये चीजें, रहेंगे स्वस्थ

कल्याण आयुर्वेद- आज के समय में डायबिटीज एक आम बीमारी बनती जा रही है. जिससे ज्यादातर महिला- पुरुष ग्रसित हो रहे हैं. डायबिटीज एक ऐसी बीमारी है जो किसी को एक बार हो जाए तो पूरी जिंदगी उसका साथ नहीं छोड़ता है, ऐसे में रहन-सहन के साथ खानपान का विशेष ध्यान रखना पड़ता है जो डायबिटीज के मरीजों के लिए जिंदगी का अहम हिस्सा होता है और यदि वे अपने रहन-सहन और खान-पान का विशेष ध्यान रखते हैं तो एक स्वस्थ जीवन यापन आराम से कर सकते हैं.

आज हम इस पोस्ट के माध्यम से कुछ ऐसे चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं जिसका सेवन डायबिटीज के मरीजों को जरूर करना चाहिए.

डायबिटीज के मरीजों को आहार में जरूर शामिल करना चाहिए ये चीजें, रहेंगे स्वस्थ

नींबू- डायबिटीज के मरीजों को प्यास लगने की समस्या हमेशा ही रहती है. इसलिए वे बार-बार पानी पीते हैं. ऐसी अवस्था में नींबू निचोड़ कर पीने से प्यास की अधिकता कम होती है.

खीरा- डायबिटीज के मरीजों को भूख से थोड़ा कम तथा हल्का भोजन लेने की सलाह दी जाती है. ऐसे में बार- बार भूख महसूस होती है इस स्थिति में खीरा खा कर उन्हें भूख मिटाना फायदेमंद होता है.

गाजर और पालक- डायबिटीज के मरीजों को गाजर और पालक का रस मिलाकर पीना चाहिए क्योंकि डायबिटीज का असर आंखों पर होता है जिससे आंखें कमजोर होने लगती है इसके नियमित सेवन करने से आंखों की कमजोरी दूर रहती है.

शलजम- डायबिटीज के मरीजों को तरोई, लौकी, परवल, पालक, पपीता आदि का सेवन करते रहना चाहिए. शलजम के प्रयोग से रक्त में शर्करा की मात्रा कम होने लगती है अतः शलजम की सब्जी, परांठे, सलाद आदि चीजें स्वाद बदल- बदलकर करते रहना चाहिए.

जामुन- डायबिटीज उपचार में जामुन का प्रयोग आयुर्वेद में सदियों से किया जाता रहा है. जामुन के मधुमेह के रोगियों के लिए अच्छा फल कहा जाए तो बेहतर होगा क्योंकि इसकी गुठली, छाल, रस और गुदा सभी डायबिटीज में काफी फायदेमंद होते हैं. मौसम के अनुरूप जामुन का सेवन औषधि के रूप में करना फायदेमंद होता है.

करेला- डायबिटीज के मरीजों को करेले का नियमित सेवन करते रहना चाहिए, क्योंकि इसका कड़वा रस ब्लड शुगर की मात्रा को कम करता है. डायबिटीज के रोगी को इसका रस प्रतिदिन पीना चाहिए. इससे डायबिटीज में आश्चर्यजनक लाभ होता है.

मेथी- डायबिटीज के उपचार में मेथी दाने का प्रयोग काफी फायदेमंद होता है. इसके नियमित सेवन से पुराना डायबिटीज भी ठीक हो जाता है. इसके लिए मेथी दानों का चूर्ण बनाकर रख लीजिए और प्रतिदिन सुबह खाली पेट एक चम्मच चूर्ण पानी के साथ सेवन कीजिए. कुछ ही दिनों में इसकी अद्भुत क्षमता देखकर चकित हो जाएंगे. इसके अलावे मेथी के साग उपलब्ध हो तो नियमित सेवन करते रहना चाहिए.

गेहूं के जवारे- गेहूं के पौधों में रोग नाशक गुण पाए जाते हैं. गेहूं के छोटे-छोटे पौधों का रस असाध्य बीमारियों को जड़ से खत्म करने की शक्ति रखता है. इसका रस मनुष्य के रक्त से 40 फ़ीसदी मेल खाता है. इसे ग्रीन ब्लड के नाम से पुकारा जाता है. ज्वारे का ताजा रस निकालकर आधा कप रोगी को पिला दीजिए. प्रतिदिन सुबह-शाम इसका आधा कप की मात्रा में सेवन करते रहने से डायबिटीज नियंत्रित रखता है.

Post a Comment

0 Comments