चुकंदर और पालक का सूप बढ़ाएगा ऑक्सीजन का स्तर, ऐसे तैयार करें

कल्याण आयुर्वेद- कोरोना काल की इस घड़ी में जिसे देखो ऑक्सीजन के लिए भाग रहा है. मानव ऑक्सीजन की इसमें सब कुछ हो जाती है. चिकित्सकों की राय इससे अलग है उनका मानना है कि हम आइसोलेशन में रहने वाले सभी मरीजों को ऑक्सीजन की जरूरत नहीं है. पालक व चुकंदर का सूप लेकर हम ऑक्सीजन के स्तर को गिरने से बचा सकते हैं.

चुकंदर और पालक का सूप बढ़ाएगा ऑक्सीजन का स्तर, ऐसे तैयार करें

चुकंदर और पालक का सूप पीने से फेफड़ों को पर्याप्त ऑक्सीजन प्राप्त होती है जिससे वह मजबूती से कोरोनावायरस लड़ते हैं. करीब 40 कोरोना मरीज जो पर सफल प्रयोग के बाद लखनऊ स्थित लोहिया संस्थान के आयुर्वेदाचार्य डॉ एसके पांडे ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर प्रयोग करने की सलाह दी है ताकि मरीजों को गंभीर होने से बचाया जा सके.

तो आइए जानते हैं डॉक्टर एस के पांडे के उपयोगी सुझाव-

ऐसे बनाएं सूप-

1 किलो पालक और आधा किलो चुकंदर कुकर में बिना पानी डाले 20 से 30 मिनट तक मध्यम आंच पर रखें. इसके बाद पालक व चुकंदर के उबले हुए घनत्व को बतौर सूप इस्तेमाल करने के लिए छान लें. फिर इसमें सेंधा नमक और नींबू मिलाकर सेवन कर सकते हैं.

इसमें मौजूद है यह खास तत्व-

कोरोना के इलाज में दिया जा रहा है कि जिंक, विटामिन B12, विटामिन सी, कैलशियम इत्यादि पालक व चुकंदर में प्राकृतिक रूप से मौजूद हैं. इसके साथ ही इसमें आयरन व नाइट्रिक ऑक्साइड, मैग्नीशियम, प्रोटीन भी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है.

ऐसे करता है काम-

* चुकंदर में प्राकृतिक रूप से मौजूद नाइट्रिक ऑक्साइड शरीर में रक्त वाहिकाओं को खोल देती है.

* इससे फेफड़ों की कार्य क्षमता बढ़ने लगती है. साथ ही पूरे शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ने लग जाती है.

* यह सूप लाल रुधिर कणिकाओं यानी आरबीसी और श्वेत रुधिर कणिकाओं यानी डब्ल्यूबीसी को भी बढ़ाता है. जिससे रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है.

* यह आरबीसी फेफड़ों तक ऑक्सीजन संवहन का काम करता है.

स्रोत- दैनिक जागरण.

Post a Comment

0 Comments