डायबिटीज के मरीजों के लिए रामबाण इलाज है जामुन का बीज, इस तरह करें इस्तेमाल

कल्याण आयुर्वेद - बाजारों में जामुन मिलना शुरू हो गया है. जामुन एक ऐसा फल है, जो डायबिटीज के मरीजों के लिए बहुत फायदेमंद होता है. जामुन स्वाद में थोड़ा कसैला और अम्लीय होता है. अगर शुगर पेशेंट इस छोटे से फल को अपनी डाइट में शामिल करेंगे, तो उनका शुगर लेवल काबू में रख सकता है. इसके अलावा और भी कई समस्याओं को दूर करती हैं.

डायबिटीज के मरीजों के लिए रामबाण इलाज है जामुन का बीज, इस तरह करें इस्तेमाल

तो आइए जानते हैं विस्तार से -

जामुन के बीज का पाउडर है फायदेमंद -

आयुर्वेद एक्सपोर्ट के अनुसार जामुन के पाउडर का उपयोग आयुर्वेद में औषधि के रूप में किया जाता है. इसमें फाइबर, मैग्नीशियम, आयरन, विटामिन ए, बी, सी पाए जाते हैं. यह सभी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं. इसके साथ ही इन डायबिटीज पेशेंट के ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित करने में भी कारगर है.

डायबिटीज के मरीज इस तरह करें जामुन का इस्तेमाल -

सबसे पहले जामुन के बीज को अच्छी तरह पानी से धो कर सुखा लें. जब जामुन के बीच सूख जाए तो उसे मिक्सर में पीस कर पाउडर तैयार कर ले. रोजाना सुबह खाली पेट दूध में एक चम्मच इस पाउडर को मिलाएं और इसे पिए रोजाना ऐसा करने से डायबिटीज के रोगियों का ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल रहता है. इसके साथ ही पेट से संबंधित समस्याओं से भी छुटकारा मिलता है.

इसके अन्य फायदे -

1.जामुन की छाल का काढ़ा बनाकर पीने से पेट दर्द और अपच जैसी समस्याओं से छुटकारा मिलता है.

2.आपको पता दे जामुन का सेवन करने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है. जिसके कारण आप कई बीमारियों से लड़ने में सक्षम होते हैं.

3.इसका सेवन करने से शरीर में खून की कमी पूरी होती है. अगर किसी को खून की कमी की समस्या है, तो उसे जामुन का सेवन जरूर करना चाहिए.

4.यदि आपको पथरी की समस्या हो जाए, तो जामुन की गुठली फायदेमंद होती है. जामुन की गुठली के पाउडर को दही में मिलाकर खाने से पथरी में फायदा होता है.

आपको यह जानकारी कैसी लगी ? हमें कमेंट में जरूर बताइए और घर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक और शेयर जरूर करें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments