शरीर के इन अंगों का फड़कना माना जाता है बेहद अशुभ, आप भी जानें

कल्याण आयुर्वेद - ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शरीर के अंगों का फड़कना हमें शुभ तथा अशुभ संकेत देता है. आज के इस पोस्ट में हम आपको शरीर के ऐसे अंगों के बारे में बताएँगे, जिनका फड़कना अशुभ माना जाता है.

शरीर के इन अंगों का फड़कना माना जाता है बेहद अशुभ, आप भी जानें

तो आइए जानते हैं विस्तार से - 

1.यदि किसी व्यक्ति के दोनों कंधे एक साथ फड़कने लगते हैं, तो इसे बेहद ही अशुभ माना जाता है. इसका मतलब यह है, कि किसी के साथ आपकी बड़ी लड़ाई होने वाली है. 

2.अगर आपके हथेली में अपने आप कोई हलचल होती है, तो इसका मतलब ये है कि आप जल्द ही किसी बड़ी मुसीबत से घिरने वाले हैं.

3.यदि किसी महिला की बाईं आंख फडकती है, तो यह अहसुभ संकेत हो सकता है. माना जाता है कि महिला के बाईं आंख फड़कना किसी वियोग का लक्षण हो सकता है. 

4.यदि किसी व्यक्ति की गर्दन बाईं ओर फड़कती है तो इसका मतलब है कि आपको धनहानि होने की संभावना है. इसके अलावा अगर किसी व्यक्ति की दाहिनी जांघ फड़कती है, तो इससे उसे शर्मिंदगी झेलनी पड़ सकती है. 

5.यदि किसी व्यक्ति के दाहिने हाथ का अंगूठा फड़फड़ाये तो इसका मतलब है कि उस व्यक्ति की मनचाही मुराद पुरी होने में विलंभ होगी.

6.अगर किसी व्यक्ति की हथेली के किसी कोने में फड़फड़ाहट हो, तो वह निकट भविष्य में उसके संकट में घिरने का संकेत होता है.

आपको यह जानकारी कैसी लगी ? हमें कमेंट में जरूर बताइए और अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक तथा शेयर जरूर करें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments