डायबिटीज का सबसे बड़ा दुश्मन है इस पेड़ का पत्ता, 7 दिन के अंदर जड़ से कर देगा खत्म

कल्याण आयुर्वेद- आजकल के इस भाग दौड़ भरी जिंदगी में अनियमित जीवनशैली के चलते डायबिटीज को धीमी मौत भी कहा जाता है. यह एक ऐसी बीमारी है जो एक बार किसी को पकड़ ले तो जीवन भर नहीं छोड़ती है. इस बीमारी का जो सबसे बुरा पक्ष है वह यह है कि यह शरीर में अन्य बीमारियों को भी निमंत्रण देती है. आज के इस पोस्ट में हम आपको एक ऐसे पौधे की पत्तियों के बारे में बताएंगे जो डायबिटीज का सबसे बड़ा दुश्मन माना जाता है.

डायबिटीज का सबसे बड़ा दुश्मन है इस पेड़ का पत्ता, 7 दिन के अंदर जड़ से कर देगा खत्म

तो आइए जानते हैं विस्तार से-

ऐसी कई बीमारियां हैं जो दवाइयों का सेवन करने पर धीरे-धीरे ठीक हो जाती है, लेकिन शुगर एक ऐसी बीमारी है जिसका आप लाख इलाज करा लें. लेकिन यह कभी ठीक नहीं होगी. एक बार यह बीमारी जिसे हो जाए तो फिर उसे जीवित रहने तक दवाइयों का सेवन अनिवार्य हो जाता है.

आज हम आपको जिस पौधे के बारे में बता रहे हैं उसका नाम है अकौआ. इसे मदार, मन्दार, आक और अर्क भी कहा जाता है. इसका वृक्ष छोटा और छतादार होता है. पत्ते बरगद के पत्तों के समान मोटे होते हैं. हरे सफेदी लिए पत्ते पकने पर पीले रंग के हो जाते हैं. इसका फूल सफेद छोटा होता है. फूल पर रंगीन चिट्टियां होती हैं.

डायबिटीज का सबसे बड़ा दुश्मन है इस पेड़ का पत्ता, 7 दिन के अंदर जड़ से कर देगा खत्म

आपको बता दें इस पौधे की पत्तियों के उपयोग से आप शुगर की बीमारी से छुटकारा पा सकते हैं. अब तक काफी लोग इस उपयोग से लाभ प्राप्त कर रहे हैं. आप भी उसका उपयोग कर सकते हैं. इसका इस्तेमाल करने से 7 दिन से 3 महीने के भीतर शुगर की समस्या दूर हो जाएगी और मोटापा भी दूर हो जाएगा. कई लोगों को इस पौधे का रिजल्ट सातवें दिन ही मिल जाता है.

इस उपाय को करने के लिए रात को आक के पौधे की एक पत्ती लेनी है और इस पत्ती को उल्टा करके पैर के तलवे से सटाकर मोजा पहन लें. सुबह और पूरा दिन तक इसे ऐसे ही रहने दे और रात में सोते समय निकाल दें. 1 सप्ताह में आपका शुगर लेवल सामान्य हो जाएगा. पर एक बात का ध्यान रखें कि इसका दूध आंख में ना जाए. नहीं तो आपकी आंख खराब हो सकती है.

आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट में जरूर बताइए और अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक तथा शेयर जरूर करें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments