जीभ के रंग से समझें इस बीमारी के चपेट में आ रहा है आपका शरीर, काले धब्बे पड़ना हो सकता है खतरनाक

कल्याण आयुर्वेद - जीभ यानी जुबान जो न केवल आपको स्वाद का आभास कराती है. बल्कि यह आपके सेहत से जुड़े राज भी खोलती हैं. जी हां जीभ के रंग के आधार पर आप जान सकते हैं कि आपकी सेहत ठीक है या नहीं. आज के इस पोस्ट में हम आपको जीभ के रंग के अनुसार आपके सेहत के बारे में बताएंगे.

जीभ के रंग से समझें इस बीमारी के चपेट में आ रहा है आपका शरीर, काले धब्बे पड़ना हो सकता है खतरनाक

तो आइए जानते हैं विस्तार से -

1.गहरे लाल रंग की जीभ -

एनीमिया, लाल बुखार के कारण जीभ का रंग गहरा लाल हो जाता है. इसके अलावा यह विटामिन B12 की कमी के कारण भी हो सकता है. वहीं अगर जीभ का निचला हिस्सा गहरा लाल हो जाए, तो समझ ले की आंतों में गर्मी बढ़ गई है.

2.जीभ पर जमी पीली परत -

यदि आपक जीभ पर पीली परत जम जाए, तो यह इस बात की ओर इशारा करती है कि आप ओवर ईटिंग कर रहे हैं. इसके अलावा इनडाइजेशन लीवर या मुंह में बैक्टीरिया ज्यादा होने की वजह से जीभ पर पीली परत जम जाती है. जिसके कारण मुंह से बदबू आना थकावट और बुखार की समस्या भी हो जाती है.

3.जीभ पर छाले पड़ना -

कभी गलती से जीभ कट जाने, तीखा भोजन लेने की वजह से मुंह में छाले पड़ जाते हैं. इसे इग्नोर नहीं करना चाहिए क्योंकि हफ्तों से ज्यादा छाले नहीं गए,तो यह अलसर का रूप भी ले सकता है.

4.जीभ पर काले धब्बे पड़ना -

जीभ पर काले धब्बे पड़ना शरीर में खून की कमी डायबिटीज की ओर इशारा करता है. इसके अलावा मुंह में बैक्टीरिया ज्यादा होने की वजह से भी जीभ पर काले रंग के धब्बे पड़ने लगते हैं.

आपको यह जानकारी कैसी लगी ? हमें कमेंट में जरूर बताइए और अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक तथा शेयर जरूर करें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments