गर्भवती महिलाएं जरूर पिएं हल्दी वाला दूध, मिलेंगे कमाल के फायदे

कल्याण आयुर्वेद- हल्दी कई बीमारियों की दवा है और हल्दी वाले दूध का नाम तो आप सभी ने सुना होगा. इसे आयुर्वेद में भी औषधि की जगह दी गई है. कई वर्षों से औषधीय गुणों के कारण हल्दी का उपयोग किया जा रहा है हल्दी की जड़ सूजन रोधी प्रभाव देती है और एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होती है. आज के इस पोस्ट में हम आपको प्रेग्नेंसी में हल्दी वाला दूध पीने के फायदे बताएंगे.

गर्भवती महिलाएं जरूर पिएं हल्दी वाला दूध, मिलेंगे कमाल के फायदे

तो आइए जानते हैं विस्तार से- 

पैरों में सूजन को दूर करता है-

जैसा कि आप सभी जानते होंगे प्रेगनेंसी में वॉटर रिटेंशन और हार्मोनल बदलाव के कारण जोड़ों में दर्द तथा पैरों में सूजन हो जाती है. यदि आप हल्दी वाले दूध का सेवन करेंगी तो पैरों में सूजन और जोड़ों के दर्द से भी आराम मिलेगा.

सर्दी-जुकाम से छुटकारा-

हल्दी में एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं जो सर्दी- जुकाम को दूर करने में बहुत मददगार होती है. हल्दी वाला दूध पीने से सर्दी, जुकाम, खांसी और गले की खराश भी ठीक हो जाती है.

बीमारियों से बचाता है-

हल्दी के एंटीलिपिडैमिक गुण कोलेस्ट्रोल को बढ़ने से रोकता है. इसमें करक्यूमिन नामक तत्व होता है जो प्रेग्नेंट महिला और शिशु को कई तरह की बीमारियों तथा संक्रमण से भी बचाता है.

अनिद्रा से छुटकारा-

गुनगुना हल्दी वाला दूध पीने से अच्छी नींद आती है. प्रेगनेंसी में अक्सर महिलाओं को अनिद्रा या गहरी नींद न आने की शिकायत रहती है. ऐसे में उन्हें हल्दी वाले दूध का सेवन जरूर करना चाहिए. लेकिन एक बात का हमेशा ख्याल रखने की गर्भवती महिलाओं को अधिक मात्रा में हल्दी का सेवन नहीं करना चाहिए. इसलिए इसकी मात्रा कम ही लें.

आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट में जरूर बताइए और अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक + शेयर जरूर करें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments