बिना छिले हुए खाएं ये 5 फल, होंगे अचूक फायदे

अक्सर लोगों को देखा जाता है की फलों एवं सब्जियों को खाने या बनाने से पहले उनके छिलके हटा देते हैं. लेकिन ऐसा नहीं करना चाहिए. क्योंकि इससे न सिर्फ फलों का स्वाद बदल जाता है बल्कि उसके पोषक तत्व पर भी गहरा प्रभाव पड़ता है. आज हम आपको कुछ ऐसे ही फलों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनको बिना छिलके हटाए खाने से आपको बहुत सारे लाभ होंगे. आप चाहे तो इस फल को बिना छिलके हटाए भी खा सकते हैं. बिना छिलका हटाए हुए खाने से आपको अधिक लाभ प्राप्त होगा.

तो चलिए जानते हैं उन फलों के बारे में-

1 .चीकू-

चीकू फल सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है. यह एक ऐसा फल है जो अपने मीठे स्वाद के लिए जाना जाता है. यह एक ऐसा फल है जिसमे सुक्रोज और फ्रुक्टोज मौजूद होते हैं जो शरीर को भरपूर ऊर्जा देने का काम करते हैं. साथ ही आपको भरपूर स्फूर्ति से भी भर देंगे.

आपको बता दें कि चीकू फल में विटामिन ए, विटामिन बी कंपलेक्स, विटामिन सी और विटामिन ई प्रचुर मात्रा में होते हैं. चीकू फल को बिना छिलके हटाए खाना आपके शरीर को अधिक लाभ पहुंचाएगा.

चीकू फल खाने के फायदे-

चीकू फल स्वादिष्ट होने के साथ-साथ कैल्शियम, फास्फोरस और आयरन से भरपूर होते हैं जो आपकी हड्डियों को मजबूत बनाते हैं. अगर आप चीकू फल का नियमित रूप से सेवन करते हैं तो आपको आगे चलकर अन्य कैल्शियम की गोलियां लेने की जरूरत नहीं पड़ेगी. क्योंकि चीकू फल में आयरन, फोलेट, कैल्शियम, मैग्नीशियम, पोटेशियम, जिंक, तांबा, फास्फोरस, सेलेनियम आदि खनिज पदार्थ मौजूद होते हैं जो शरीर की हड्डी के एक चौथाई निर्माण के लिए आवश्यक होते हैं.

इतना ही नहीं चीकू फल पाचन संबंधित समस्याओं में भी काफी मददगार होता है. जिससे चिड़चिड़ापन आपकी परेशानी और कब्ज जैसे लक्षण दिखाई देखने को मिलते हैं. चीकू में फाइबर भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो पाचन प्रणाली के लिए काफी फायदेमंद होता है. जिससे कब्ज जैसी परेशानियां दूर रहती है.

2 .सेब-

सेब खाना सेहत के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है. कई लोगों का कहना है कि प्रतिदिन एक सेब जो व्यक्ति खाता है उसे डॉक्टर के पास जाने की जरूरत नहीं पड़ती है. बहुत से लोग ऐसे भी हैं जो सेब को बिना छिले खाना पसंद करते हैं तो बहुत से लोग हैं जो इसे छिलकर खाना पसंद करते हैं. लेकिन शायद उनको पता नहीं है कि छिलके में उसके पल्प से 4 गुना ज्यादा विटामिन के होता है जो ब्लड क्लोट में मदद करता है. साथ ही यह आपको एंटीऑक्सीडेंट क्वर्सेटिन यानी सांस की बीमारी से भी बचाने में मदद करता है. इसके छिलके निकालने से इसमें मौजूद विटामिन ए और विटामिन सी कम हो जाते हैं.

सेब खाने के फायदे-

सेब में फाइबर और पानी होता है. इसके अलावा इसके कुछ प्राकृतिक यौगिक भी वजन को बढ़ावा दे सकते हैं. इसलिए आप वजन कम करना चाहते हैं तो आपको सेब का नियमित सेवन करना चाहिए.

सेब कमजोरी को रोकने रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने और मांस पेशियों में सुधार करने में एक प्रमुख भूमिका निभाते हैं. यदि आप वजन बढ़ाना चाहते हैं तो भी सेब का सेवन कर सकते हैं. इस में उपलब्ध कैलोरी और प्रोटीन आपको मजबूत बनाने और वजन बढ़ाने में मददगार होते हैं.

सेब खून की कमी को दूर करने, कोलेस्ट्रोल को नियंत्रित रखने में अहम भूमिका निभाता है. जिसके कारण एनीमिया के मरीजों को इसका सेवन करना फायदेमंद होता है. वही इसके नियमित सेवन से खून की कमी नहीं होती है साथ ही कोलेस्ट्रोल को यह नियंत्रित रखता है जिससे हृदय रोगों का खतरा काफी कम हो जाता है.

3 .खीरा-

ज्यादातर लोग खीरे को अक्सर छीलकर खाना पसंद करते हैं. लेकिन आपको बता दें कि खीरे के छिलके में ही सबसे ज्यादा न्यूट्रिएंट्स और फाइबर के साथ पोटेशियम और एंटीऑक्सीडेंट मौजूद होते हैं. खीरे को छिलके के साथ खाने से यह आपके डाइजेशन सही रखता है. इसमें मौजूद विटामिन के आपको शरीर को चुस्त रखते हैं. यह आपके शरीर में प्रोटीन को एब्जोर्ब करने में मदद करते हैं.

खीरा खाने के फायदे-

खीरा पाचन क्रिया में मदद करता है. सास को तरोताजा रखता है. खीरा शरीर को हाइड्रेट रखता है, आंखों की सूजन को कम करता है. शुगर लेवल को कम करता है, खीरा का नियमित रूप से सेवन करना हमारी सेहत के लिए काफी लाभदायक होता है.

4 .गाजर-

गाजर को सलाद के साथ ही लोग ऐसी भी खाना अधिक पसंद करते हैं. लेकिन अक्सर लोग सलाद में खाने से पहले इसके छिलके को हटा देते हैं. जबकि गाजर में न्यूट्रिएंट्स की मात्रा सबसे ज्यादा गाजर के छिलके में ही होता है. इसके छिलके में beta-carotene की मात्रा सबसे ज्यादा होती है जो विटामिन ए में बदल कर आंखों को लाभ पहुंचाता है. साथ ही यह आपकी त्वचा को सनबर्न और धूप से होने वाली एलर्जी से भी रक्षा करता है.

गाजर खाने के फायदे-

गाजर का सेवन नियमित रूप से करने से कैंसर को रोकने में मददगार होता है, वही इसमें विटामिन ए प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जिससे आंखों की दृष्टि में सुधार होता है. इसके सेवन से मधुमेह को नियंत्रित करने में मदद मिलती है. साथ ही गाजर का सेवन पाचन में सुधार करता है. इसके सेवन से रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है यह रक्तचाप को भी नियंत्रण में रखता है.

5 .आलू-

अक्सर लोग आलू की सब्जी बनाने से पहले या तो आलू के छिलके को हटा देते हैं या फिर इसे उबालकर इसके छिलके हटा देते हैं. लेकिन आपको बता दें कि आलू के छिलके में पल्प से 7 गुना अधिक कैल्शियम पाया जाता है. साथ ही 17 गुना अधिक आयरन की मात्रा होती है. इसका छिलका निकाल देने से आलू में मौजूद सभी न्यूट्रिएंट्स और फाइबर की मात्रा 90% तक कम हो जाती है. आपको बता दें कि आलू का पल्प आपके लिए नुकसानदायक भी हो सकता है. आलू के छिलके में मौजूद beta-carotene आपके डाइजेशन में मददगार होता है और शरीर का रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी मजबूत बनाए रखता है.

आलू खाने के फायदे-

आलू का सेवन साइनसाइटिस के दर्द को भी कम करने के लिए भी किया जाता है. यह दर्द सर्दियों में अधिक ठंड लगने से होता है. 2 से 5 मिलीलीटर आलू के पत्ते के रस में शहद और सेंधा नमक मिला लें. अच्छी तरह से मिल जाने के बाद पी लें. इससे साइनसाइटिस के दर्द के साथ गले में होने वाली जलन से भी छुटकारा पाया जा सकता है.

आलू मुंह के छालों के लिए भी लाभदायक होता है. मुंह में छाले शरीर में कुछ पोषक तत्वों की कमी तथा गलत खान-पान के कारण होते हैं. मुंह के छालों एवं मुंह की समस्या को दूर करने के लिए आलू के बुने हुए कंद का सेवन करना चाहिए. इससे मुंह के छालों को जल्द ही ठीक किया जा सकता है.

आलू नए शिशु को जन्म देने वाली मां के दूध में वृद्धि करने में भी सहायक होता है क्योंकि शिशु का मूल खाद्य पदार्थ मां का दूध ही होता है और यह उसके लिए बहुत जरूरी होता है. यदि दूध की कमी हो रही है तो भुने हुए आलू का सेवन करना चाहिए, यह बहुत ही लाभदायक साबित होता है.


Post a Comment

0 Comments