स्वास्थ्य और लंबी उम्र का सबसे अच्छा राज है सुबह जल्दी उठना, जाने फायदे

कल्याण आयुर्वेद- सुबह जल्दी उठना सेहत के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है. आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में हमारी दिनचर्या पूरी तरह से बदल गई है. जिसका सीधा प्रभाव हमारे स्वास्थ्य पर पड़ने लगा है. कम उम्र में ही हमारे शरीर में कई तरह की गंभीर बीमारियां उत्पन्न होने लगे हैं जिसका प्रमुख कारण है हमारी अव्यवस्थित जीवनशैली और खानपान.

स्वास्थ्य और लंबी उम्र का सबसे अच्छा राज है सुबह जल्दी उठना, जाने फायदे

आज हम आधुनिकता एवं पाश्चात्य की चकाचौंध में हमारे प्राचीन एवं वैज्ञानिक नियम मिला है जिसे लोग भूलते जा रहे हैं. किंतु सत्य तो यह है कि हमारी संस्कृति विरासत बहुत संपन्न आयुर्वेद द्वारा मनुष्य जीवन के लिए जो दैनिक नियम बनाए गए थे वह पूरी तरह से वैज्ञानिक आधार पर बनाए गए थे.

इन्हीं नियमों में से एक है सुबह जल्दी उठना. सुबह जल्दी उठने का नियम जिसे आयुर्वेद के अनुसार स्वस्थ दिनचर्या एवं उत्तम स्वास्थ्य के लिए जरूरी माना गया है. सुबह सूर्योदय से पहले उठना हमारे लिए चमत्कारिक रूप से फायदेमंद होता है.

चलिए जानते हैं सुबह जल्दी उठने के फायदे-

1 .सुबह जागने के लिए सबसे उत्तम समय है ब्रह्म मुहूर्त-

हिंदू धर्म में हमारे ऋषि-मुनियों ने सुबह जागने के लिए ब्रह्म मुहूर्त को सबसे उत्तम माना है. आयुर्वेद के अनुसार भी ब्रह्म मुहूर्त में जागना हमारे सेहत के लिए काफी फायदेमंद होता है. ब्रह्म मुहूर्त में उठने वाले व्यक्ति को शारीरिक बल, बुद्धि, ओज, लंबी आयु एवं सुख- समृद्धि की प्राप्ति होती है.

सुबह जल्दी उठना हमारे लिए कितना लाभदायक है इसकी कल्पना भी हम नहीं कर सकते हैं. सुबह सूर्योदय से पहले जागने से हमारे संपूर्ण व्यक्तित्व में सकारात्मक परिवर्तन आते हैं. हमारा मनोबल अंतर होता है तथा जीवन में नई ऊर्जा का संचार होता है.

शास्त्रों की माने तो रात्रि का चौथा प्रहार ब्रह्म मुहूर्त कहलाता है यानी सूर्योदय से डेढ़ से 2 घंटे पहले का समय आमतौर पर सुबह 4:30 से 5:30 बजे का समय ब्रह्म मुहूर्त का होता है. हमें इस समय बिस्तर छोड़ देना चाहिए तथा अपने नित्य कर्म जैसे शौच एवं स्नान करके मुक्त हो जाना चाहिए.

2 .प्राणवायु है सुबह की हवा-

सुबह 4:00 से 7:00 के समय के बीच में हवा की गुणवत्ता पूरे दिन की अपेक्षा सबसे अच्छी रहती है. इस समय हवा प्रदूषण मुक्त एवं स्वस्थ रहती है. इसीलिए यह समय प्राणायाम एवं योग के लिए सबसे अच्छा समय माना गया है.

सुबह की सैर के लिए भी यह समय बहुत ही बेहतर है. इससे हमारे शरीर में ऊर्जा का संचार होता है तथा मन प्रसन्न हो जाता है. योग एवं मेडिटेशन के लिए भी सुबह का समय सबसे अच्छा रहता है. अगर हम सुबह जल्दी उठ जाते हैं तो सारा दिन हमारे शरीर में स्फूर्ति एवं ताजगी बनी रहती है.

3 .कब्ज एवं पेट की समस्याएं से मिलता है राहत-

आज के समय में बहुत तेजी से फैलने वाली एक बीमारी है जिसने आज हर दूसरे- तीसरे व्यक्ति को अपने कब्जे में ले लिया है वह बीमारी है कब्ज या पेट का साफ ना होना. इसका प्रमुख कारण है आजकल की आधुनिक जीवनशैली, आज कल का हमारा खान- पान जो दिन-प्रतिदिन इस बीमारी का शिकार बनाते जा रहा है.

आयुर्वेद की मानें तो कब्ज 95% बीमारियों की जड़ है. अगर हमारा पेट साफ नहीं होगा तो इससे हमारे शरीर में कई तरह की बीमारियां उत्पन्न होने लगती है और पेट साफ ना होने का एक कारण सुबह देर से उठना है.

आयुर्वेद के मुताबिक हमारे शरीर में तीन प्रकार की प्रवृतियां पाई जाती है कफ, पीत और वायु.

दिन और रात मिलाकर 24 घंटे होता है. यह प्रवृतियां हमारे शरीर में अलग-अलग समय में अलग-अलग प्रभाव डालते हैं जैसे सुबह के समय हमारे शरीर में कफ की प्रवृत्ति प्रबल होती है. उसके बाद जैसे-जैसे सूरज चढ़ने लगता है हमारे शरीर में कफ का प्रभाव कम होने लगता है और पीत का प्रभाव अधिक होने लगता है. शाम होते ही पीत का प्रभाव कम हो जाता है और वायु का प्रभाव बढ़ने लगता है.

क्योंकि कफ का प्रभाव सुबह-सुबह ज्यादा रहता है और कफ की प्रवृत्ति चिकनाहट भरी होती है. इसी कारण सुबह के समय मल विसर्जन की प्रक्रिया आसान हो जाती है तथा पेट पूरी तरह से साफ हो जाता है. इसके बाद जैसे-जैसे समय बढ़ता जाता है पीत की प्रवृत्ति बढ़ने के कारण आंतों में मौजूद मल सूख कर कठोर हो जाते हैं जिससे कब्ज की समस्या उत्पन्न हो जाता है.

इसलिए अगर हम सूर्योदय से पहले उठकर इन कार्यों से मुक्त हो जाते हैं तो हमें कभी कभी कब्ज, पेट साफ न होना, गैस और कब्जियत जैसी समस्या नहीं होगी एवं पूरा दिन स्फूर्ति और ऊर्जा के साथ बीतेगा.

4 .सुबह जल्दी उठकर हम सभी काम समय पर पूरे कर सकेंगे-

आजकल की भागदौड़ भरी जीवनशैली में हर मनुष्य को प्रतिदिन कई प्रकार की कार्य करना पड़ता है. आपका जो भी पेशा हो आपको पैसा कमाने के लिए प्रतिदिन काम करना ही पड़ता है. इसी के लिए व्यक्ति सुबह से शाम तक दौड़ता रहता है फिर बहुत से जरूरी काम समय की कमी के कारण छूट जाते हैं जिसका प्रभाव हमारी तरक्की एवं कमाई पर पड़ता है.

अगर हम अपने दिन की शुरुआत सामान्य लोगों से दो-तीन घंटे पहले कर देते हैं तो हम प्रतिदिन कुछ अतिरिक्त समय निकाल पाएंगे. जिसका उपयोग हम अपनी प्रोडक्टिविटी बढ़ाने में कर सकते हैं.

हमें किसी भी कार्य को कल पर टालना नहीं पड़ेगा. इसके अलावा हम अपने परिवार एवं बच्चे के लिए भी समय निकाल पाएंगे. हमारे दिन भर के कार्य अगर समय पर पुरे हो जाएंगे तो हमें मानसिक शांति भी प्राप्त होगी जिससे हमारा मनोबल बढ़ेगा.

5 .मिलती है जीवन में सफलता-

क्या आपको पता है कि जितने भी सफल व्यक्ति जिनका नाम हम जानते हैं. जिन्होंने अपनी जिंदगी में सफलता हासिल की है और अपने देश और व्यापार करना सारी दुनिया में पहुंचाया. इन सब में सबसे बड़ी आदत है सुबह जल्दी उठना.

ज्यादातर सभी सफल व्यक्ति अपने दिन की शुरुआत सुबह 4:00 से 5:00 बजे कर देते हैं. सभी मशहूर हस्तियों की आदत होती है सुबह जल्दी उठना. बहुत सारे लोग अपनी सफलता को श्रेय उनकी सुबह जल्दी उठने की आदत को देते हैं.

सभी बड़े- बड़े बिजनेसमैन, फिल्म स्टार, खिलाड़ी, राजनेता और डॉक्टर यह सभी सुबह जल्दी उठने के फायदों को जानते हैं और सुबह जल्दी उठकर व्यायाम, योग, मेडिटेशन के पश्चात पूरे दिन की योजनाएं बनाते हैं.

6 .सुबह जल्दी उठने से आपके जीवन में आएंगे सकारात्मक बदलाव-

सुबह जल्दी उठकर आप अपने जीवन में सकारात्मक बदलाव भी ला सकते हैं. आप खुद प्रयोग करके देखें. अगर आपकी आदत देर तक सोने की है तो आप कुछ दिन सुबह 5:00 से 6:00 के बीच उठ जाइए. कम से कम 1 सप्ताह आप इस प्रयोग को करके देखिए. आपको अपने जीवन में खुद-ब-खुद बदलाव महसूस होने लगेगा. आपके शरीर में ऊर्जा का स्तर बढ़ जाएगा, आपका मन प्रसन्नचित्त रहेगा. आपका हौसला भी बढ़ेगा.

सुबह जल्दी उठने के इतने ज्यादा फायदे हैं जिन्हें गिनाया नहीं जा सकता है. सूर्योदय से पहले जागने से मनुष्य के संपूर्ण व्यक्तित्व का विकास होता है. आप अपने सफलता के पथ पर आगे बढ़ने लगेंगे. आपकी सारी घड़ी सही तरह से काम करने लगेंगे. साथ ही रात में नींद भी अच्छी आएगी.

सुबह जल्दी उठने की आदत कैसे डालें-

कुछ लोगों की शिकायत रहती है कि हम सब जानते हैं उन्हें यह भी पता है कि सुबह उठना काफी फायदेमंद होता है और वे उठना भी चाहते हैं लेकिन चाह कर भी इस नियम का पालन नहीं कर पाते हैं या फिर एक-दो दिन या सप्ताह भर में नियम टूट जाता है. फिर वही पुरानी जीवनशैली शुरू हो जाती है इसके लिए क्या किया जाए. क्योंकि आजकल की प्रतिस्पर्धा भरी जीवनशैली ही कुछ ऐसी है कि ना चाहते हुए भी आपको कभी-कभी 11-12 बजे रात तक जागना ही पड़ता है और इसी कारण सुबह जल्दी नींद नहीं खुल पाती है. तो ऐसे में क्या किया जाए?

सुबह जल्दी उठने के लिए आप यह तरीके अपना सकते हैं-

* आपको फिर संकल्प करना होगा कि आपको सुबह उठना ही है चाहे कुछ भी हो जाए.

* रात में सोने से पहले आंखें बंद करके अपने मन में निश्चय कर लीजिए कि मुझे सुबह 5:00 बजे उठना है.

* रात में सोने का समय निर्धारित कर लीजिए. वह समय 12:00 बजे रात से पहले होना चाहिए.

* सोने के निर्धारित समय से ज्यादा आपको किसी भी हालत में नहीं जागना चाहिए.

* दोपहर में खाना खाने के बाद 15-20 मिनट की एक छोटी सी झपकी लें इसके और भी बहुत सारे फायदे मिलेंगे.

* यदि सुबह का नियम किसी दिन टूट भी गया तो निराश ना हो और उसे वहीं पर छोड़े नहीं. यही गलती ज्यादातर लोग करते हैं. अगले दिन से फिर सुबह जल्दी उठने के लिए नियम पर आ जाइए.

* कम से कम 90 दिनों तक आप इस क्रम को दृढ़ता के साथ जारी रखें. आपको खुद ही सुबह उठने के नियम मजबूत हो जाएंगे और आप इसे तोड़ नहीं पाएंगे.

तो यह थे सुबह जल्दी उठने के फायदे. यदि आपको यह जानकारी पसंद आए तो लाइक, शेयर जरूर करें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments