प्रेरणादायक- जिंदगी में खुश रहना चाहते हैं तो एक बार इस लघु कथा को जरुर पढ़ें

लघु कथा-  एक बार एक दुखी व्यक्ति अपने जीवन के दुखों से परेशान होकर महात्मा बुद्ध के पास गया और उनके कदमों में गिरकर बोला -हे महात्मन' मैं अपनी जिंदगी की समस्याओं से तंग हो चूका हूं. एक समस्या निपटाता हूं तो दूसरी समस्या खड़ी हो जाती है, दूसरी को निपटाना हूं तो तीसरी समस्या खड़ी हो जाती है.  मैं तो बिल्कुल परेशान हो चुका हूं. मैंने सुना है कि आप महाज्ञानी और ईश्वर के परम भक्त हैं. इसलिए मैं आपके शरण में आया हूं. अब आप ही कोई ऐसा उपाय बताईए. जिससे मेरी सभी समस्याएं बिल्कुल समाप्त हो जाए.

प्रेरणादायक- जिंदगी में खुश रहना चाहते हैं तो एक बार इस लघु कथा को जरुर पढ़ें 
महात्मा बुद्ध बोले- ठीक है ‌उपाय तो मैं बता दूंगा, लेकिन अभी नहीं कल बताऊंगा. परन्तु इसके लिए तुम्हें मेरा एक काम करना होगा. तुम्हें आज रात मेरे ऊंटों के बसेरे में पहरा देना होगा और जब सभी ऊंट बैठ जाए तो तुम भी सो जाना. लेकिन ध्यान रहे, जब तक एक भी ऊंट खड़ा रहे बिल्कुल नही सोना. वह व्यक्ति बोला- ठीक है. इसके बाद वह व्यक्ति वहां से ऊंटों के बसेरे में चला गया. दूसरे दिन सुबह जब वह व्यक्ति महात्मा बुद्ध के पास आया तो महात्मा बुद्ध उसकी लाल-लाल आंखें देखकर बोले- लगता है तुम रात भर सोए नहीं हो. 

वह व्यक्ति बोला- हां महात्मन' मैं रात भर सो नहीं पाया क्योंकि वहां तो सैकड़ों ऊंट थे. एक उंट बैठता तो दूसरा खड़ा हो जाता, दूसरा बैठता तो तीसरा खड़ा हो जाता, इस तरह रात भर में कभी भी सभी उंट एक साथ बैठे ही नहीं इसलिए मैं रात भर जागता रहा.

महात्मा बुद्ध बोले- वत्स बिल्कुल इसी तरह हमारी जिंदगी है. जिंदगी की समस्याएं कभी खत्म नहीं होती है क्योंकि समस्याएं हमारी जिंदगी के महत्त्वपूर्ण अंग हैं. इसलिए अगर तुम अपनी जिंदगी में खुश रहना चाहते हो तो‌ तुम्हें इन समस्याओं में ही खुश रहना होगा. क्योंकि फूलों का राजा गुलाब भी कांटो के बीच ही खिलता है.  जैसे कमल का फूल कीचड़ में खिलता है, उसी तरह तुम्हें भी समस्याओं के बीच में ही खुश रहना सीखना होगा. धैर्य और संतोष के साथ जिंदगी जीना सीखना होगा. तभी तुम अपनी जिंदगी में खुश रह पाओगे.

Post a Comment

0 Comments