स्वाद ही नहीं सेहत के लिए भी वरदान हैं ये 6 भारतीय मसाले, एसिडिटी से लेकर कब्ज तक करता है खत्म

कल्याण आयुर्वेद - भारतीय व्यंजनों की डिमांड दुनिया भर में है. अगर इसकी सबसे खास वजह को जाना जाए, तो वह है भारतीय मसालों के अनूठे अंदाज में प्रयोग करना. जी हां यह खाने के स्वाद को तो बढ़ाते ही हैं. इनके सेवन से पेट की कई समस्याओं से भी छुटकारा मिलता है. दरअसल भारतीय किचन में जो सबसे खास मसाले हैं, वे पाचन तंत्र को बेहतर तरीके से काम करने में काफी मददगार साबित होते हैं. अगर इनका सेवन सही तरीके से किया जाए, तो पेट में होने वाली अपच, कब्ज, खट्टी डकार, गैस बनना जैसी समस्याओं का उपचार किया जाता है. आज के इस पोस्ट में हम आपको अच्छे मसाले के बारे में बताएंगे, जो आपकी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं.

स्वाद ही नहीं सेहत के लिए भी वरदान हैं ये 6 भारतीय मसाले, एसिडिटी से लेकर कब्ज तक करता है खत्म

तो चलिए जानते हैं विस्तार से -

1.जीरा का उपयोग करें -

दाल में छौंक लगानी हो या कोई तरकारी बनाना हो, जीरा का उपयोग भारतीय व्यंजनों में हमेशा ही किया जाता है. यह स्वाद को तो बढ़ाता ही है, साथ ही हमारे पाचन को भी ठीक रखने में मदद करता है. अगर हम एक चम्मच जीरा भूनकर ठंडा कर लें और बारीक पीसकर शहद या पानी मिलाकर रोज खाली पेट पिए, तो डाइजेशन तेजी से बेहतर होता है.

2.अदरक का इस्तेमाल -

दरअसल अदरक में कार्मिनेटिव तत्व पाए जाते हैं, जो गट के लिए फायदेमंद होता है. आप अदरक की चाय पिए इससे पेट में गैस बनना या अपच की समस्या होना दूर हो जाएगा. इसके अलावा पेट से जुड़ी अन्य समस्याएं भी दूर होंगी.

3.अजवायन का इस्तेमाल -

अजवाइन भी अपच की समस्या को ठीक करने के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है. यह गैस और एसिडिटी के इलाज के लिए सबसे लोकप्रिय घरेलू उपचारों में से एक है. दरअसल इसमें थाइमोल तेल होता है, जो गैस्ट्रिक रस को छोड़ता है. जिससे एसिडिटी की समस्या से राहत मिलती है. यदि आप एक कप पानी में एक चम्मच अजवायन डालकर उबालकर चाय की तरह इसका सेवन करें, तो आपको गैस और एसिडिटी की समस्या से तुरंत राहत मिलेगा.

4.हींग का इस्तेमाल करें -

हींग को एसिडिटी और खट्टी डकार के लिए इलाज के लिए काफी उपयोगी माना जाता है. यह गैस, अपच और किसी तरह की पेट की समस्या के इलाज में बहुत मदद करता है. इसमें एंटी इन्फ्लेमेटरी, कार्मिनेटिव और पाचक गुण होते हैं, जो पाचन के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं.

5.दालचीनी का इस्तेमाल -

पेट में गैस बनना और एसिडिटी हो तो दालचीनी का सेवन करने से आप इस समस्या से राहत पा सकते हैं. यह एक प्राकृतिक पाचक की तरह काम करता है, जो आमतौर पर रिच इंडियन फूड रेसिपीज में प्रयोग किया जाता है. इसका प्रयोग से खाना पचाना आसान हो जाता है.

6.इलायची का इस्तेमाल करें -

इलायची में खास तत्व होता है, जो लार ग्रंथियों को उत्तेजित करता है और एसिडिटी से होने वाली जलन को कम करने के साथ-साथ आपकी भूख में भी सुधार करता है.

आपको यह जानकारी कैसी लगी ? हमें कमेंट में जरूर बताइए और अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक व शेयर जरूर करें. साथ ही चैनल को फॉलो जरूर करें. इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments