ठंढ के मौसम में गर्म पानी से नहाना है नुकसानदायक, इन 9 गलतियों को करने से भी बचें

कल्याण आयुर्वेद - सर्दी के मौसम में कोल्ड, फ्लू और इंफेक्शन फैलने का खतरा काफी हद तक बढ़ जाता है. इस मौसम में ठंड से बचने के लिए लोग गर्म कपड़े गर्म पानी चाय कॉफी जैसी चीजों का इस्तेमाल करते हैं. परंतु क्या आप जानते हैं कि ठंड से राहत पाने के लिए कुछ तरकीब आपके लिए मुश्किल भी खड़ी कर सकती हैं. आज के इस पोस्ट में हम आपको कुछ ऐसी गलतियों के बारे में बताएंगे जिन्हें करना आपके लिए खतरनाक साबित हो सकता है. यह गलतियां अक्सर लोग ठंड के मौसम में ठंड से बचने के लिए करते हैं.

ठंढ के मौसम में गर्म पानी से नहाना है नुकसानदायक, इन 9 गलतियों को करने से भी बचें

तो चलिए जानते हैं विस्तार से -

1.देर तक गर्म पानी से नहाना -

एक्सपर्ट की मानें तो ठंड के मौसम में ज्यादा देर तक गर्म पानी से नहाना सेहत के लिए अच्छा नहीं होता है. इससे हमारी बॉडी और दिमाग दोनों पर बुरा असर पड़ता है. दरअसल गर्म पानी केराटिन नाम के स्किन सेल्स को डैमेज करता है. जिससे त्वचा में खुजली रेडनेस और रेसेस की समस्या हो जाती है.

2.बहुत ज्यादा कपड़े पहनना -

सर्दी के मौसम में खुद को घर में रखना बहुत अच्छी बात है. परंतु इसके लिए ज्यादा कपड़े पहनना गलत आदत है. इससे बचना चाहिए. क्योंकि ऐसा करने से आपकी बॉडी ओवरहीटिंग का शिकार हो सकती है. दरअसल ठंड लगने पर हमारा इम्यून सिस्टम वाइट ब्लड सेल्स प्रोड्यूस करता है, जो इंफेक्शन और बीमारियों से हमारी सुरक्षा करता है, जबकि बॉडी के ओवरहिट होने पर इम्यून सिस्टम अपना काम नहीं कर पाता है.

3.कम पानी पीना -

सर्दियों के मौसम में लोगों को कम प्यास लगती है, परंतु इसका मतलब यह नहीं है, कि ठंड में शरीर को पानी की जरूरत नहीं है. यूरिनेशन, डाइजेशन और पसीने में पानी शरीर से बाहर आता है. ऐसे में पानी न पीने के कारण बॉडी डिहाइड्रेट होने लगती है. जिससे किडनी और डाइजेशन के ऊपर गलत असर पड़ता है.

4.कैफीन का अधिक सेवन करना -

सर्दी के मौसम में लोग शरीर को गर्म रखने के लिए चाय और कॉफी का सेवन अधिक करते हैं. लेकिन शायद आप भूल रहे हैं कि बहुत ज्यादा मात्रा में कैफीन का सेवन करना शरीर के लिए काफी नुकसानदायक होता है. दिन भर में आपको दो या तीन कप से ज्यादा कॉफी नहीं पीनी चाहिए.

5.बाहर जाने से परहेज करना -

ज्यादातर लोग सर्दी के मौसम में ठंड से बचने के लिए घर से बाहर निकलना बंद कर देते हैं. ऐसा करना सेहत पर भारी पड़ सकता है. घर में सिकुड़ कर रहने से आपकी फिजिकल एक्टिविटी खराब हो जाती है. जिससे आपका मोटापा बढ़ने लगता है और सूर्य की किरणों से मिलने वाले विटामिन डी भी नहीं मिल पाता है.

6.एक्सरसाइज -

ठंड में तापमान कम होने की वजह से लोग बिस्तर में सिकुड़ कर बैठे रहते हैं. फिजिकल एक्टिविटी शून्य होने की वजह से हमारे इम्यून सिस्टम सुस्त पड़ने लगता है. इसलिए रजाई में घुस कर बैठने की बजाय साइकिलिंग, वाकिंग या कोई भी वर्क आउट  शुरूफौरन कर देना चाहिए.

7.बेड टाइम रूटीन -

इस मौसम में दिन छोटे हो जाते हैं और रात लंबी हो जाती है. ऐसी दिनचर्या ना केवल कार्डियक साइकिल डिस्टर्ब होती है, बल्कि शरीर में हार्मोन भी बढ़ जाता है. इससे झांकियां आने लगती है. सुस्ती चढ़ती है. इसलिए स्लीपिंग टाइम में ही अच्छे से नींद पूरी करने की कोशिश करें.

8.सेल्फ मेडिकेशन -

इस मौसम में लोगों को अक्सर खांसी, जुकाम या बुखार की दिक्कत होती है. ऐसे में डॉक्टर से बिना जांच कराए self-medication जानलेवा हो सकता है. यह किसी गंभीर बीमारी के लक्षण भी हो सकते हैं. इसलिए कोई भी दवाई या नुस्खा आजमाने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर ले लें.

9.ज्यादा खाना -

सर्दी के मौसम में इंसान की खुराक अचानक से बढ़ जाती है और वह सेहत की परवाह किए बगैर कुछ भी खाने लगता है. दरअसल ठंड के मुकाबले में शरीर की कैलोरी ज्यादा खर्च करती है. जिसकी भरपाई हम हॉट चॉकलेट या एक्स्ट्रा कैलोरी वाले फ्रूट से करते हैं. ऐसे में भूख लगने पर सिर्फ फाइबर वाली सब्जियां या फल खाने चाहिए.

आपको यह जानकारी कैसी लगी ? हमें कमेंट में जरूर बताइए और अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक तथा शेयर जरूर करें. साथ ही चैनल को फॉलो जरूर कर लें. इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments