सर्दियों में मूली खाने से क्या होता है ? जानकर चौंक जाएंगे

सर्दियों का मौसम चल रहा है। इस मौसम में कई सारे रोगों का संकट भी बढ़ जाता है। यदि आपको इन सर्दियों के मौसम में रोगों से बचना है तथा अपने इम्युन सिस्टम को मजबूत करना है तो ऐसे में कई फूड्स ऐसे में जो सर्दियों में आपके स्वास्थ्य का विशेष रूप से ध्यान रख सकते हैं। 

आप इस सब्जी का नाम जानकर भरोसा नहीं कर पाएंगे। दरअसल, हम यहां मूली की बात कर रहे हैं। मूली आपकी इम्युनिटी बढ़ाने से लेकर सर्दी, जुकाम, ब्लड प्रेशर, त्वचा तथा पाचन तंत्र के लिए भी आवश्यक है। मूली लोग बहुत पसंद करते हैं। इसका कई प्रकार से सेवन किया जाता है। हम मूली को परांठे के तौर पर खाते हैं, सलाद के तौर पर खाते हैं या फिर अचार के रूप में इसका सेवन करते हैं। मूली आपके स्वास्थ्य के लिए बेहद ही लाभदायक हैं। आइए जानते हैं मूली के हेल्थ बेनिफिट्स के बारे में-

* पाचन तंत्र में मददगार:- मूली में फाइबर की मात्रा भरपूर पाई जाती है। ये आपके पाचन तंत्र को ठीक करके पेट संबंधी जितने रोग हैं, उन्हें दूर भगाता है। जो लोग हर दिन सलाद के रूप में मूली खाते हैं उनके शरीर में कभी भी फाइबर की कमी नहीं होती है। फाइबर की वजह से पाचन तंत्र सही ढंग से काम करता है। इसके अलावा मूली लिवर और गाल ब्लैडर को भी सुरक्षित रखती है।

* इम्युनिटी मजबूत करने में है कारगर:- मूली में विटामिन A, C, E, B 6, पोटैशियम सहित अन्य पोषक तत्व पाए जाते हैं। ये आपकी इम्युनिटी बढ़ाने में बहुत सहायता है। 

* कफ और जुकाम में लाभदायक:- मूली में एंटी-कंजेस्टिव गुण पाए जाते हैं, जो इसे सर्दियों में स्वास्थ्य के लिए लाभकारी बनाता है।

* त्वचा रोगों से लड़ने में है सहायक:- मूली में फॉस्फोरस और जिंक भी बहुत मात्रा में पाई जाती है, जो ठंड में ड्राई स्किन में नमी लाने तथा मुंहासे और चेहरे पर होने वाले लाल चकत्तों से स्किन को छुटकारा दिलाने में सहायक है।

* ठंड में शरीर को रखता है हाइड्रेट:- अक्सर ऐसा देखा गया है कि, ठंड में हम पानी पीना कम कर देते हैं। ऐसे में चिकित्सक भी यही सलाह देते हैं कि शरीर में पानी की कमी को दूर करने के लिए हमें ऐसे फूड्स खाना चाहिए जिसमें इसका मात्रा अधिक होती है। मूली में पानी की प्रचुर मात्रा पाई जाती है, जो आपके शरीर को प्राकृतिक तौर पर हाइड्रेट रखने में सहायक सिद्ध होता है।

* हाई ब्लड प्रेशर मरीजों के लिए जरूरी है मूली:- मूली में पोटैशियम की प्रचुर मात्रा पाई जाती है। ये शरीर में सोडियम तथा पोटैशियम के संतुलन को बनाए रखने में सहायता करता है। मूली एंथोसायनिन का अच्छा स्त्रोत माना जाता है, जिससे हमारा दिल सही ढंग से काम कर पाता है। रोज मूली खाने से हृदय रोगों का खतरा कम होता है। मूली में फोलिक एसिड और फ्लेवोनॉयड्स भी अच्छी मात्रा में पाया जाता है। मूली खून में ऑक्सीजन की आपूर्ति भी बढ़ाती है।

* रक्त वाहिकाओं का मजबूत करती है- मूली में कोलेजन पाया जाता है जो हमारी रक्त वाहिकाओं को मजबूत बनाता है। इसकी वजह से एथेरोस्क्लेरोसिस जैसी गंभीर बीमारी होने की संभावना कम हो जाती है।

* मेटाबॉलिज्म- मूली ना केवल पाचन तंत्र के लिए अच्छी होती है, बल्कि ये एसिडिटी, मोटापा, गैस्ट्रिक समस्या और मितली जैसी समस्याओं को भी ठीक करने में मददगार होती है।

* पोषक तत्व- लाल मूली विटामिन E, A, C, B6, और  K से भरपूर होती है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट, फाइबर, जस्ता, पोटेशियम, फॉस्फोरस, मैग्नीशियम, कैल्शियम, आयरन और मैंगनीज अच्छी मात्रा में पाया जाता है। ये सारे पोषक तत्व हमारे शरीर को अंदर से सेहतमंद बनाते हैं।

मूली पत्ते भी हैं फायदेमंद-

मूली के पत्ते पाइल्स (बवासीर) जैसी बीमारी से छुटकारा पाने के लिए सबसे कारगर इलाज है. बवासीर एक बहुत ही भयंकर रोग है. इसमें गुदे में छोटे-छोटे मस्से बन जाते है जो काफी कष्टदायी होते हैं. अगर सही समय पर इस रोग का इलाज़ न किया जाये तो ये एक गंभीर बीमारी का रूप ले सकती है. लोग इस बीमारी के इलाज़ के लिए डॉक्टर के पास जाने में शर्माते हैं. मूली के पत्तों से बवासीर का इलाज़ किया जा सकता है.

मूली के पत्तों की सब्जी खाने से बवासीर की समस्या से निजात पा सकते हैं.  मूली के पत्तों में फास्फोरस, सोडियम, विटामिन ए, विटामिन बी, विटामिन सी, क्लोरीन, आयरन, मैग्नीशियम और अन्य पोषक तत्वों भरपूर मात्रा में होते हैं. इसलिए मूली के पत्ते पेट के लिए फायदेमंद होते हैं.

अगर आप रोज मूली के पत्तों की सब्जी खायेंगे तो जल्दी ही बवासीर की समस्या से छुटकारा मिलेगा. इसके अलवा बवासीर के मस्सों पर मूली के पत्तों को पीसकर लगाने से भी फायदा मिलेगा.

Post a Comment

0 Comments