कई बीमारियों को दूर करता है नमक वाला पानी, जानें इसके 5 जबरदस्त फायदे

कल्याण आयुर्वेद - नमक वाला पानी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है. एयरपोर्ट के मुताबिक अगर आप नमक वाले पानी का सीमित मात्रा में सेवन करें, तो इससे आपको कई फायदे मिलते हैं. यह पेट से जुड़ी समस्याओं से लेकर त्वचा प्रॉब्लम को भी दूर करने का कारगर तरीका माना जाता है. आज के पोस्ट में हम आपको नमक के पानी पीने के कुछ फायदे बताने जा रहे हैं.

कई बीमारियों को दूर करता है नमक वाला पानी, जानें इसके 5 जबरदस्त फायदे

तो आइए जानते हैं विस्तार से -

1.गले में खराश की समस्या से छुटकारा -

यदि आपको गले में खराश की समस्या हो जाए तो नमक के पानी से गरारा करने पर आपको फायदा मिलेगा. इससे गले में मौजूद बैक्टीरिया को साफ करने में मदद मिलेगी. इससे गले में खराश की समस्या दूर होगी. यह गले की कोशिकाओं में सूजन को भी कम करता है. गले के संक्रमण या गले के दर्द के दौरान नमक के पानी का इस्तेमाल आपके लिए फायदेमंद रहेगा. ऐसा इसलिए क्योंकि समुद्री नमक में सूजन को कम करने वाले गुण पाए जाते हैं. जिसके कारण गुनगुने नमक वाले पानी से गरारे करने पर यह गले की संक्रमित कोशिकाओं की सूजन को दूर करने में मदद करता है.

2.पाचन क्रिया के लिए फायदेमंद -

यदि आपको पाचन से जुड़ी कोई समस्या है, तो इसके लिए भी यह एक कारगर तरीका है. यह कब्ज की समस्या को भी दूर करने में मदद करता है. आप रोजाना इसका सेवन कर सकते हैं. इससे पाचन से जुड़ी समस्याएं दूर होंगी और पाचन मजबूत बनेगा.

3.मुंह की बदबू को दूर करता है -

नमक के पानी का उपयोग माउथवॉश के तौर पर भी कर सकते हैं. नियमित रूप से इसका इस्तेमाल करने से मुंह में मौजूद बैक्टीरिया खत्म हो जाएंगे. यह मसूड़ों में सूजन मुंह की दुर्गंध और कैबिटी को भी दूर करता है. एक गिलास गर्म पानी में एक चम्मच समुद्री नमक मिलाएं और इसे मुंह में लगभग 1 से 2 मिनट के लिए रखें. इससे दांतों को साफ करने में भी मदद मिलेगी.

4.त्वचा के लिए फायदेमन्द -

नमक का स्किन प्रॉब्लम को दूर करने का भी कारगर तरीका है. इसमें मौजूद सल्फर के घटक त्वचा की सतह को साफ करके मुलायम बनाए रखने में मदद करते हैं. यदि आपको त्वचा से संबंधित समस्या है, तो इसे दूर करने के लिए आप नमक वाले पानी का सेवन कर सकते हैं.

5.पैरों के लिए फायदेमंद -

यदि आपको पैरों से बदबू आने की समस्या रहती है, तो इसके लिए भी नमक के पानी का उपयोग किया जा सकता है. इसके लिए एक बड़े कटोरे में गुनगुना पानी लें और इसमें एक से दो कप नमक मिला लें. अब कुछ देर तक पैरों को इस पानी में डुबोकर रखें. 20 मिनट के बाद पैरों को नार्मल पानी से धो लें. इससे पैरों से आने वाली बदबू से छुटकारा मिलेगा.

आपको यह जानकारी कैसी लगी ? हमें कमेंट में जरूर बताइये और अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक तथा शेयर जरूर करें. साथ ही चैनल को फॉलो जरूर कर लें. इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद.

इसे भी पढ़ें-कंपवात रोग क्या है? जाने कारण, लक्षण और आयुर्वेदिक एवं घरेलू उपाय

वृक्क पथरी क्या है ? जाने कारण, लक्षण और आयुर्वेदिक एवं घरेलू उपाय

प्रतिश्याय ( सर्दी ) क्यों हो जाती है ? जानें कारण, लक्षण और घरेलू एवं आयुर्वेदिक उपाय

चेचक क्या है ? जाने कारण, लक्षण और घरेलू एवं आयुर्वेदिक उपाय

आमाशय व्रण ( पेप्टिक अल्सर ) क्या है ? जाने कारण, लक्षण और घरेलू एवं आयुर्वेदिक उपाय

उन्डूकपुच्छशोथ ( Appendicitis ) क्या है? जानें कारण, लक्षण और घरेलू एवं आयुर्वेदिक उपाय

हैजा रोग क्या है ? जानें कारण, लक्षण और घरेलू एवं आयुर्वेदिक उपाय

सर्दियों में सिंघाड़ा खाने के फायदे

अफारा (Flatulence ) रोग क्या है ? जाने कारण, लक्षण और आयुर्वेदिक एवं घरेलू उपाय

जठर अत्यम्लता ( Hyperacidity ) क्या है ? जाने कारण, लक्षण और आयुर्वेदिक एवं घरेलू उपाय

हिचकी क्या है? जाने कारण, लक्षण एवं घरेलू और आयुर्वेदिक उपाय

विटामिन डी क्या है ? यह हमारे शरीर के लिए क्यों जरूरी है ? जाने प्राप्त करने के बेहतर स्रोत

सेहत के लिए वरदान है नींबू, जाने फायदे

बच्चों को मिर्गी होने के कारण, लक्षण, उपचार एवं बचाव के तरीके

हींग क्या है ? जाने इसके फायदे और इस्तेमाल करने के तरीके

गठिया रोग संधिशोथ क्या है ? जाने कारण, लक्षण और आयुर्वेदिक एवं घरेलू उपाय

पुरुषों को नियमित करना चाहिए इन चीजों का सेवन, कभी नही होगी कमजोरी की समस्या

सोना, चांदी आदि धातु से बने गहने पहनने के क्या स्वास्थ्य लाभ होते हैं? जरुर जानिए

दूध- दही नहीं खाते हैं तो शरीर में कैल्शियम की पूर्ति के लिए करें इन चीजों का सेवन

मर्दाना शक्ति बिल्कुल खत्म हो चुकी है उनके लिए अमृत समान गुणकारी है यह चूर्ण, जानें बनाने और सेवन करने की विधि

स्पर्म काउंट बढ़ाने में इस दाल का पानी है काफी फायदेमंद, जानें अन्य घरेलू उपाय

एक नहीं कई बीमारियों का रामबाण दवा है आंवला, जानें इस्तेमाल करने की विधि

रात को सोने से पहले पी लें खजूर वाला दूध, फायदे जानकर हैरान रह जाएंगे

महिला व पुरुषों में प्रजनन क्षमता बढ़ाने के कारगर घरेलू उपाय

दिल और दिमाग के लिए काफी फायदेमंद है मसूर दाल, मोटापा को भी करता है नियंत्रित

कई जटिल बीमारियों का रामबाण इलाज है फिटकरी, जानें इस्तेमाल करने के तरीके

बरसात के मौसम में होने वाली 8 प्रमुख बीमारियां, जानें लक्षण और बचाव के उपाय

स्पर्म काउंट बढ़ाने के लिए पुरुषों को इन फलों का सेवन करना चाहिए

पुरुषों में शारीरिक कमजोरी मिटाकर नया जोश प्राप्त कराने के आयुर्वेदिक एवं घरेलू उपाय

श्वेत प्रदर ( ल्यूकोरिया ) होने के कारण, लक्षण और आयुर्वेदिक एवं घरेलू उपाय

ये राज पता हो तो हर कोई पा सकता है सुंदर, गोरा और निखरी त्वचा

सिर दर्द होने के कारण, लक्षण और आयुर्वेदिक एवं घरेलू उपचार

बच्चों को सुखंडी ( सुखा ) रोग होने के कारण, लक्षण और आयुर्वेदिक उपचार

वृक्क ( किडनी ) में पथरी होने के कारण, लक्षण और आयुर्वेदिक एवं घरेलू उपचार

राजयक्ष्मा ( टीबी ) होने के कारण, लक्षण और आयुर्वेदिक उपचार

आयुर्वेद के अनुसार संभोग करने के नियम, जानें सेक्स से आई कमजोरी दूर करने के उपाय

अशोकारिष्ट बनाने की विधि, उपयोग एवं फायदे

कुमारी आसव बनाने की विधि, उपयोग एवं फायदे

सारस्वतारिष्ट बनाने की विधि, उपयोग एवं फायदे

महासुदर्शन चूर्ण बनाने की विधि, उपयोग एवं फायदे

लवंगादि चूर्ण बनाने की विधि, उपयोग एवं फायदे

त्रिफला चूर्ण बनाने की विधि, उपयोग एवं फायदे

जलोदर होने के कारण, लक्षण और घरेलू एवं आयुर्वेदिक उपचार

अल्जाइमर रोग होने के कारण, लक्षण और घरेलू एवं आयुर्वेदिक उपचार

रक्त कैंसर होने के कारण, लक्षण और घरेलू एवं आयुर्वेदिक उपचार

बवासीर होने के कारण, लक्षण और घरेलू एवं आयुर्वेदिक उपचार

छाती में जलन होने के कारण, लक्षण और घरेलू एवं आयुर्वेदिक उपचार

अग्निमांद्य रोग होने के कारण, लक्षण और घरेलू एवं आयुर्वेदिक उपाय

रैबीज ( जलसंत्रास ) होने के कारण, लक्षण और आयुर्वेदिक एवं घरेलू उपाय

खांसी होने के कारण, लक्षण और घरेलू एवं आयुर्वेदिक उपचार

 

 

Post a Comment

0 Comments