प्रोटीन का ज्यादा सेवन शरीर के लिए हो सकता है खतरनाक, हालत हो जाएगी खराब

कल्याण आयुर्वेद - शरीर को स्वस्थ रखने के लिए पौष्टिक आहार के सेवन की सलाह दी जाती है. आहार में प्रोटीन का होना बहुत ही जरूरी होता है. यह मांसपेशियों को स्वस्थ रखने और उनके निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है. प्रोटीन को पोषण का एक महत्वपूर्ण अंग माना जाता है. बल्कि यह भी कहा जाता है कि वजन संतुलित रखने और शरीर को फिट रखने के लिए डाइट में अधिक से अधिक प्रोटीन और कम से कम कार्बोहाइड्रेट शामिल करना चाहिए. लेकिन बिना सोचे समझे प्रोटीन की अधिक मात्रा आपको नुकसान पहुंचा सकती है. खासकर किडनी व अन्य अंगों की सेहत को नुकसान पहुंचाती है.

प्रोटीन का ज्यादा सेवन शरीर के लिए हो सकता है खतरनाक, हालत हो जाएगी खराब

किडनी शरीर का वह महत्वपूर्ण अंग है, जो सारी गंदगी को फिल्टर करके बाहर निकालता है. यानी एक तरह से यह शरीर के भीतर का हाउसकीपर है. फिल्ट्रेशन का यह काम तो किडनी या मिलकर करती है और इसमें बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. अध्ययनों से पता चलता है कि शरीर में प्रोटीन की अधिकता इस अंग को नुकसान पहुंचाती है आइए जानते हैं इसके बारे में -

प्रोटीन और उसके स्रोत -

प्रोटीन अमीनो एसिड की लंबी चैन होती है. यानी इसमें एक से ज्यादा अमीनो एसिड पाए जाते हैं और अलग-अलग प्रोटीन के साधनों से शरीर को यह अमीनो एसिड मिलते हैं. तमाम तरह के खाद्य पदार्थ प्रोटीन की शरीर को पूर्ति करते हैं. विशेषज्ञ मानते हैं कि एनिमल प्रोटीन यानी मांसाहार प्लांट प्रोटीन से इस मामले में बेहतर होते हैं. क्योंकि उनमें से एक बार में ही सभी जरूरी अमीनो एसिड प्राप्त हो जाते हैं. लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि शाकाहार आपकी प्रोटीन की जरूरत को पूरा नहीं कर सकता है. इसके लिए जरूरत होती है सही मात्रा में अलग-अलग तरह के प्रोटीन स्रोत को डाइट में शामिल करने की, जैसे दूध के साथ सब्जियां, दालें, फल, ड्राई फ्रूट आदि.

कितनी मात्रा में प्रोटीन का सेवन करना है -

प्रोटीन शरीर को मजबूती देने और उसे सही तरीके से काम करने में मदद करता है. यह हड्डियों को ताकतवर बनाते हैं और शरीर को दिनभर ऊर्जावान बनाए रखते हैं. सामान्यतः एक स्वस्थ व्यक्ति को प्रतिदिन शरीर के हर किलो वजन के लिए 0.8 ग्राम प्रोटीन की जरूरत होती है. मतलब 65 किलोग्राम के एक व्यक्ति को करीब 52 ग्राम प्रोटीन प्रतिदिन चाहिए होता है. इतना प्रोटीन सामान्य तौर पर एक संतुलित और सही भोजन से प्राप्त हो जाता है. इसके लिए जरूरी नहीं कि अलग से सप्लीमेंट लिए जाएं.

अधिक मात्रा में प्रोटीन लेने से क्या होता है -

सामान्य से अधिक प्रोटीन की मात्रा जरूरत आमतौर पर एथलीट्स फिजिकली ज्यादा काम करने वाले या स्पोर्ट्स से जुड़े लोगों को हो सकती है. इन लोगों को अपने शरीर की उर्जा बनाए रखने के लिए प्रोटीन की अतिरिक्त मात्रा काम आती है. लेकिन यह मात्रा पेशेवर विशेषज्ञों की सलाह पर ही ली जाती है, अगर आप अपनी मर्जी से प्रोटीन की अत्यधिक मात्रा लेने लगते हैं तो इससे शरीर को नुकसान होता है.

प्रोटीन की अधिकता के नुकसान -

विशेषज्ञ मानते हैं, कि प्रोटीन के अधिक सेवन से किडनीओं पर अतिरिक्त काम करने का दबाव आ सकता है. लेकिन ज्यादातर ऐसा उन लोगों में होता है, जिन्हें पहले से किडनी संबंधी कोई समस्या होती है. जिस चीज से ज्यादा नुकसान हो सकता है, वह है प्रोटीन के सप्लीमेंट या प्रोटीन ड्रिंक आदि इसका जरूरत से ज्यादा सेवन करने से बचें.

प्राकृतिक साधनों से मिलने वाले प्रोटीन की अधिक मात्रा भी नुकसान नहीं पहुंचाती, लेकिन सप्लीमेंट की अधिकता मुश्किल खड़ी कर सकती है. इसके अलावा अधिक प्रोटीन के सेवन से मुंह की दुर्गंध, कब्ज, याददाश्त, डिहाइड्रेशन और गंभीर मामलों में किडनी डैमेज की समस्या भी हो सकती है. कुछ अध्ययनों में प्रोटीन की अधिकता के कारण कैंसर तथा हृदय रोगों के खतरे के बारे में भी बताया गया है.

आपको यह जानकारी कैसी लगी ? हमें कमेंट में जरूर बताएं और अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक तथा शेयर जरूर करें. साथ ही चैनल को फॉलो जरूर कर लें. इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments