इन 2 गलत आदतों की वजह से सुनने में होने लगती है परेशानी, ये लक्षण दिखते ही तुरन्त बदल लें आदत

कल्याण आयुर्वेद - क्या आपको भी सुनने में दिक्कत होती है या फिर किसी से बात करते वक्त आप तेज आवाज में बात करते हैं. यह दोनों ही स्थितियां हियरिंग लोस के लक्षण हो सकते हैं. हियरिंग लॉस यानी की सुनने की क्षमता में कमी होना, सुनने की शक्ति ऐसी शक्ति है जिसके माध्यम से दुनिया हमारे संपर्क में रहता है. इसका कमजोर होना या ना होना काफी हद तक हमारी जिंदगी को प्रभावित करता है और एक बहुत बड़ी समस्या पैदा करता है. इससे हमें कई तकलीफों का सामना भी करना पड़ता है.

इन 2 गलत आदतों की वजह से सुनने में होने लगती है परेशानी, ये लक्षण दिखते ही तुरन्त बदल लें आदत

हियरिंग लॉस के लक्षण -

हियरिंग लॉस की समस्या होने पर कई तरह के लक्षण नजर आने लगते हैं. ऐसे में इन लक्षणों पर गौर करना बेहद जरूरी होता है. ताकि समस्या को बढ़ने से पहले ही रोका जा सके.

तेज आवाज में टीवी देखना,

तेज आवाज में रेडियो या गाने सुनना, 

बातचीत, सुनने और समझने में दिक्कत होना 

फोन पर कम सुनाई देना और तेज आवाज में बोलना, 

कान से भनभनाहट की आवाज.

हियरिंग लॉस यानी सुनने में तकलीफ होना वैसे तो किसी भी उम्र में हो सकता है. लेकिन उम्र बढ़ने के साथ सुनने की क्षमता कम होना सामान्य बात है. ज्यादातर 60 साल से अधिक उम्र के लोगों में यह समस्या देखने को मिलती है. इसके अलावा कुछ ऐसी गलतियां भी है, जो समय से पहले आपके हियरिंग लॉस समस्या का कारण बन सकती है. नीचे जानते हैं ऐसे ही दो गलतियों के बारे में.

1.कानों को गिला रखना -

अगर आप कानों को अक्सर गिला रखते हैं तो इससे सावधान हो जाएं. क्योंकि ऐसा करने से काम में फंगल इंफेक्शन हो सकता है. यह समस्या ज्यादातर तैराकी करने वाले लोगों में देखने को मिलती है. इस रोग में कान की नलिका के बाहरी भाग में संक्रमण हो जाता है. संक्रमण की वजह से एसपरगिल्स व कैंडिडा नामक जीवाणु होते हैं जो नमी की वजह से तेजी से फैलने लगते हैं.

2.तेज म्यूजिक सुनना -

अगर आप तेज म्यूजिक सुनना पसंद करते हैं, तो इस आदत को जल्द बदल ले. क्योंकि बहुत तेज म्यूजिक सुनने और ऑडियो डिवाइसेज के ज्यादा इस्तेमाल से काम के काम करने की क्षमता पर असर पड़ता है, तो इस बात का ध्यान रखें. जब आप लाउड म्यूजिक सुनते हैं तो कुछ ही समय बाद आसपास की ध्वनियां धीमी लगने लगती है. यह हमें अक्सर महसूस भी होता है. लगातार लाउड म्यूजिक सुनने से धीरे-धीरे आपके सुनने की क्षमता कम हो जाती है और आपको पता भी नहीं चलता है.

हियरिंग लॉस के अन्य कारण -

अनुवांशिकता, 

कान के परदे में खराबी,

मशीनों की तेज आवाज के साथ काम करना,

हियरिंग लॉस की समस्या से बचने के टिप्स -

1.कानों में बार-बार इयरबड्स और पीन ना डालें. 

2.नहाते वक्त कान में पानी डालने से बचें. 

3.तेज आवाज के बीच कान में रुई लगा कर रखें. 

4.अधिक तेज आवाज में टीवी या गाने ना सुने.

आपको यह जानकारी कैसी लगी ? हमें कमेंट में जरूर बताइए और अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक तथा शेयर जरूर करें. साथ ही चैनल को फॉलो जरूर कर लें. इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments