डायबिटीज के मरीज चबाएं ये 4 तरह के पत्ते, मिलेगा कमाल का फायदा

कल्याण आयुर्वेद - डायबिटीज एक ऐसी बीमारी है, जो सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में अपना कहर बरसा रही है और लोगों को बीमार बना रही है. सबसे बड़ी चिंता की बात यह है, कि डायबिटीज एक ऐसी बीमारी है, जो एक बार किसी को हो जाए, तो वह जीवन भर साथ रहती है. डायबिटीज के मरीजों के लिए जरूरी है कि वह अपनी लाइफ स्टाइल और खान-पान से जुड़ी आदतों का ध्यान रखिए. जिससे ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल में रहे, कुछ नेचुरल तरीके है. जिससे ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित करने में मदद मिलती है. एक्सपर्ट के मुताबिक तुलसी, जैतून और गुड़मार जैसे पौधों के हरे पत्ते डायबिटीज की समस्या को कम करने में मदद करते हैं.

डायबिटीज के मरीज चबाएं ये 4 तरह के पत्ते, मिलेगा कमाल का फायदा

डायबिटीज के मरीज चबाएं यह चार हरे पत्ते -

1.जैतून के पत्ते -

जैतून के पत्ते चबाने से भी फायदा मिलता है. टाइप टू डायबिटीज के मरीज अगर जैतून के पत्तों का सेवन करते हैं, तो इससे ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में मदद मिलती है. एक स्टडी के मुताबिक जैतून के पत्ते का सेवन इन्सुलिन रेजिस्टेंस में सुधार लाने में मदद करता है. इस स्टडी में 46 लोगों को जैतून के पत्ते खाने के लिए दिए गए और 12 हफ्ते बाद देखा गया, कि इससे डायबिटीज के मरीजों को फायदा मिलेगा.

2.शलजम के पत्ते -

शलजम के साग यानी इसके पत्तों में फाइबर की अधिक मात्रा पाई जाती है. स्टडी के मुताबिक टाइप वन डायबिटीज वाले लोग अगर फाइबर का सेवन करते हैं, तो इससे ब्लड शुगर लेवल को कम करने में मदद मिलती है. शलजम के पत्ते चबाने से टाइप टू डायबिटीज के मरीजों में ब्लड शुगर लिपिड और इंसुलिन के लेवल को सुधार करने में मदद मिलती है.

3.मीठी तुलसी -

मीठी तुलसी डायबिटीज मरीजों के लिए बहुत फायदेमंद मानी जाती है. साल 2018 में की गई एक स्टडी में शोधकर्ताओं ने पाया कि जिन मरीजों ने मीठी तुलसी का सेवन किया, उनमें ब्लड शुगर लेवल को कम करने में मदद मिली. अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन और अमेरिकन डायबिटीज एसोसिएशन के अनुसार मीठी तुलसी का सेवन करना डायबिटीज मरीजों के लिए फायदेमंद है.

4.गुड़मार के पत्ते -

औषधीय गुणों से भरपूर गुड़मार को ब्लड शुगर लेवल को कम करने के लिए बहुत ज्यादा जाता है. साल 2013 की एक स्टडी के अनुसार टाइप वन और टाइप 2 मरीजों को जब 18 महीने तक गुड़मार के पत्ते दिया जाए, तो उनमें इंसुलिन लेने वाले की तुलना में ज्यादा फर्क देखा गया. इससे ब्लड शुगर लेवल को कम करने में बहुत मदद मिली.

आपको यह जानकारी कैसी लगी ? हमें कमेंट में जरूर बताइए और अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक तथा शेयर जरूर करें. साथ ही चैनल को फॉलो जरूर कर लें. इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments