बच्चों को मल्टीटैलेंटेड बनाने के लिए कराएं ये 5 एक्टिविटी, कंप्यूटर से भी तेज चलेगा दिमाग

कल्याण आयुर्वेद - तेजी से बदलते इस दौर में आपके लिए मल्टी टैलेंटेड होना बहुत जरूरी है. क्योंकि आने वाले समय में आपको औरों से बेहतर करना होगा और हर जगह स्मार्ट काम करके दिखाना होगा. हम अक्सर देखते हैं कि पढ़ाई से लेकर नौकरी तक तेज दिमाग वाले आगे निकल जाते हैं. अगर बचपन से ही दिमागी कसरत पर ध्यान दिया जाए तो बड़े होकर ज्यादा परेशानी नहीं आती है. हम देखते हैं कि हर मां बाप अपने बच्चे को होशियार और तेज दिमाग का बनाना चाहते हैं. अगर आप चाहते हैं कि आपका बच्चा भी मल्टी टैलेंटेड और तेज दिमाग वाला बने तो आपको उसकी दिमागी कसरत पर अभी से ध्यान देना चाहिए.

बच्चों को मल्टीटैलेंटेड बनाने के लिए कराएं ये 5 एक्टिविटी, कंप्यूटर से भी तेज चलेगा दिमाग

दिमाग को तेज और स्वास्थ्य तथा एक्टिव बनाए रखने के लिए बहुत सारे लोग खान-पान पर विशेष ध्यान देते हैं. कुछ लोग बच्चों को बादाम और अखरोट खिलाते हैं. लेकिन दिमाग को तेज करने के दूसरे कई विकल्प भी मौजूद है. इस खबर में हम आपको इन्हीं विकल्पों के बारे में बताने जा रहे हैं.

1.दिमागी कसरत है जरूरी -

एक्सपर्ट बताते हैं कि जैसे शरीर को फिट रखने के लिए एक्सरसाइज जरूरी होता है. वैसे ही दिमाग को तेज बनाने के लिए भी दिमागी कसरत का होना बहुत जरूरी होता है. आप बच्चों के साथ कोई दिमागी खेल खेल सकते हैं. जैसे प्रश्नोत्तर, शब्दकोश भरना या कोई ऑप्शन आप सवाल-जवाब का गेम भी खेल सकते हैं. इससे बच्चों की याददाश्त बढ़ेगी और ज्ञान भी बढ़ेगा.

2.खेलकूद भी है जरूरी -

फिटनेस एक्सपर्ट कहते हैं कि बच्चों को खेलकूद करना बहुत जरूरी होता है. इससे वह फुर्तीले होते हैं. शरीर एक्टिव रहता है. जिससे कि उनका दिमाग भी तेज चलता है. आपको बता दें कि कुछ पेरेंट्स ऐसे होते हैं, जो बच्चों को खेलने कूदने से रोकते हैं और सिर्फ पढ़ाई करने को कहते हैं. लेकिन ऐसा करने से जो बच्चे कमजोर हो जाते हैं. क्योंकि उन्हें शरीर को एक्टिव रखने के लिए और दिमाग को तेज बनाने के लिए खेलकूद करने की और शारीरिक एक्टिविटीज करने की जरूरी होती है. खेलने से बच्चों के दिमाग में ऑक्सीजन का प्रवाह तेजी से होता है. जिससे मस्तिष्क रहता है और दिमाग की ग्रोथ भी अच्छी तरह होती है.

3.कलात्मकता भी है जरूरी -

आपको बचपन से ही अपने बच्चों का कला के प्रति रूचि बढ़ाना होगा. इससे उनका दिमाग तेजी और अच्छी तरीके से विकसित होता है, क्योंकि कला के जरिए बच्चे नई चीजें देखते और समझते हैं. बात यह भी है कि कला का अभ्यास बच्चों को कल्पनाशील बनाता है और बहुआयामी सोच विकसित करता है, जिससे बच्चों का दिमाग तेज होता है.

4.नई भाषा सीखना जरूरी -

अगर आप कम उम्र में ही बच्चों को दूसरी भाषाओं का ज्ञान कराएंगे, तो वह मल्टी टैलेंटेड बनते हैं. क्योंकि जिन बच्चों को कई भाषा आती है. उनका दिमाग एक ही भाषा आने वाले बच्चों से तेज चलता है. इससे बच्चे में और भी ज्यादा योग्यताएं विकसित हो जाती हैं. यह उनके भविष्य के लिए बहुत ही जरूरी होता है.

5.गणित सब्जेक्ट समझना बेहद जरूरी -

बच्चों को बचपन से ही गणित का अभ्यास कराना जरूरी है. क्योंकि गणित एक ऐसा विषय है, जो बच्चे के दिमाग को तेज करता है और ज्यादातर बच्चे इस सब्जेक्ट में कमजोर हो जाते हैं. अगर उन्हें बचपन से ही इसके बारे में ज्यादा बताया जाए, जिन लोगों को गणित में ज्यादा रुचि होती है. वह दूसरों की तुलना में ज्यादा बुद्धिमान पाए जाते हैं.

आपको यह जानकारी कैसी लगी ? हमें कमेंट में जरूर बताइए और अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक तथा शेयर जरूर करें. साथ ही चैनल को फॉलो जरूर करें. इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments