सबके लिए नहीं है मेथी का पानी, यहां जानिए इसके 9 साइड इफेक्ट

कल्याण आयुर्वेद - डायबिटीज हो या भूख ना लगे या कब्ज की परेशानी हो, तो ज्यादातर लोग आपको मेथी का पानी पीने की सलाह देते हैं. पेट दर्द की शिकायत होने पर अक्सर बड़े बुजुर्ग मेथी का पानी पीने की सलाह देते हैं. सीमित मात्रा में और विशेषज्ञ की सलाह पर मेथी पानी सेवन करना सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होती है. पर यह भी सच है कि हर चीज हर किसी को सूट नहीं करती है. यह हाल मेथी के पानी के साथ भी है. कुछ लोगों को मेथी का पानी पीने के फायदे मिलते हैं, तो कुछ लोगों को फायदे की जगह नुकसान देखने को मिलते हैं. आज हम आपको उन्हीं चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं.

सबके लिए नहीं है मेथी का पानी, यहां जानिए इसके 9 साइड इफेक्ट

तो आइए जानते हैं मेथी पानी पीने के 9 साइड इफेक्ट -

1.गर्भपात होने का खतरा -

गर्भवती महिलाओं को मेथी का पानी पीने से बचना चाहिए. क्योंकि कुछ महिलाओं में यह गर्भपात का कारण बन सकता है. एक शोध के मुताबिक, प्रेग्नेंट महिलाओं में गर्भपात उनके खान-पान सहित तमाम पहलुओं पर निर्भर करता है. कई बार मेथी से बने आहार की वजह से भी गर्भपात हो सकता है.

2.एलर्जी की प्रतिक्रिया -

कुछ लोगों को मेथी का पानी पीने से त्वचा से संबंधित परेशानियां शुरू हो जाती हैं. उनकी त्वचा पर सूजन या दर्द एलर्जी के रूप में उभरता है. ऐसे लोगों को मेथी का पानी पीने से परहेज करना चाहिए. एक रिसर्च के अनुसार, त्वचा से संबंधित मरीजों की त्वचा खरोचकर टेस्ट किए जाने पर पता चला, कि उन्हें मेथी से एलर्जी की शिकायत होने के कारण बीमारियां पैदा हुई है.

3.दमा -

मेथी पानी लेने से कई लोगों को सांस लेने में दिक्कत आने लगती है. ऐसे लोगों को डॉक्टर से परामर्श लेने के बाद ही मेथी का पानी पीने के बारे में सोचना चाहिए.

4.दस्त -

कई लोगों को मेथी पानी पीने के बाद खट्टी डकार आनी शुरू हो जाती है. ऐसे में शरीर असहज होने लगता है और कुछ लोगों को इसे लेने के बाद दस्त भी शुरू हो जाते हैं. अगर आपके साथ ऐसा हो रहा है तो मेथी पानी लेने से परहेज करें.

5.आंत में गैस बनने के कारण पेट फूलना -

मेथी पानी लेने के बाद कुछ लोगों को अपच होने की शिकायत शुरू हो जाती है. ऐसे लोगों की आंत में मौजूद बैक्टीरिया गैस बनाना शुरु कर देती है, जिसकी वजह से वे असहज महसूस करने लगते हैं.

6.लो ब्लड शुगर यानी हाइपोग्लाइसीमिया -

लो ब्लड शुगर यानी हाइपोग्लाइसीमिया एक प्रकार की डायबिटीज है, डायबिटीज के मरीजों को मेथी पानी की मात्रा पर विशेष ध्यान देने की जरूरत होती है. ऐसे लोगों को मेथी पानी लेने पर हमेशा सावधान रहना चाहिए.

7.सांस लेते समय घरघराहट -

कुछ लोगों में मीठे पानी की वजह से सांस लेने के दौरान गले से घरघराहट की आवाज सुनाई देने लगती है. दरअसल ऐसे लोगों में सांस लेने में मदद करने वाले प्रमुख अंगों में एलर्जी होने लगती है. जिसकी वजह से वह अंग असहज होने लगते हैं और ऐसी आवाज आने लगती है.

8.बच्चों के शरीर से अजीबोगरीब गंध आने लगती है -

बच्चों को मेथी का पानी देने से बिल्कुल परहेज करना चाहिए. बिना डॉक्टर की सलाह के उन्हें यह देने से बचें. क्योंकि मेथी पानी लेने के बाद ज्यादातर बच्चों के शरीर से अजीबोगरीब गंदगी आनी शुरू हो जाती है.

9.बच्चों में चेतना का नुकसान -

मेथी का पानी कुछ बच्चों में चेतना की कमी का कारण बन जाता है. बिना डॉक्टर से सलाह लिए उन्हें इसे देने से बचना चाहिए.

कैसे तैयार किया जाता है मेथी का पानी -

वेट लॉस, फैट बर्न, जोड़ों के दर्द और हाजमे के लिए मेथी का पानी इस्तेमाल किया जाता है. मेथी पानी आसानी से बनाया जा सकता है. शरीर के ज्यादा फायदा और कम नुकसान होने के कारण मेथी पानी को लेने के लिए वरीयता दी जाती है. इसे बनाने के 2 तरीके होते हैं. तैयार करने से पहले जान लें, आपको किन सामग्री की जरूरत पड़ेगी.

मेथी पानी बनाने के लिए आपको मेथी के बीज,या दाने और पानी की जरूरत पड़ेगी.

पहला तरीका -

सबसे बड़े एक चम्मच मेथी के बीज और एक गिलास पानी एक बर्तन में मिलाकर रातभर करीब 12 से 14 घंटे के लिए भिगोकर छोड़ गए. फिर इस्तेमाल करने से पहले उसे छान लें. इस तरह आपका मेथी पानी बनकर तैयार हो जाएगा. आप सुबह खाली पेट इसका सेवन करें.

दूसरा तरीका -

तवे पर हल्का सा तेल डालकर एक चम्मच मेथी बीज को फ्राई कर ले. फिर उसे पीस लें. अब एक गिलास गर्म पानी में तैयार किया पाउडर मिलाकर अच्छे से घोल लें. आपका मेथी पानी बनकर तैयार हो जाएगा.

आपको यह जानकारी कैसी लगी ? हमें कमेंट में जरूर बताइए और घर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक तथा शेयर जरूर करें. साथ ही चैनल को फॉलो जरूर करें. इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments