छाती में जमे बलगम से हो रहे हैं परेशान ? तो अपनाएं ये 4 तरीके, तुरंत मिलेगा छुटकारा

कल्याण आयुर्वेद - अक्सर आपने महसूस किया होगा कि सर्दी की वजह से नाक जाम हो जाती है और छाती में काफी कफ जम जाता है. आमतौर पर यह समस्या सर्दी के मौसम में होती है. लेकिन हम गर्मियों में काफी ठंडे पानी और अन्य चीजों का सेवन करते हैं, जिसकी वजह से गर्मी में भी यह समस्या हो जाती है. ऐसे में अगर आप इन समस्याओं से जूझ रहे हैं, तो आज के पोस्ट में हम आपको कुछ ऐसे टिप्स देंगे, जिनकी मदद से आप इस समस्या को दूर कर सकते हैं.

छाती में जमे बलगम से हो रहे हैं परेशान ? तो अपनाएं ये 4 तरीके, तुरंत मिलेगा छुटकारा

छाती में जमे कफ को कैसे बाहर निकाले -

जब ऐसी दिक्कत होती है तो नाक और छाती में कफ भर जाता है और नाक जाम होने लगता है. हालांकि विंड पाइप में थोड़ा बलगम होना अच्छा होता है. इससे वहां की नमी बरकरार रहती है. ज्यादा कफ तब बनता है जब साइनस, एलर्जी, सर्दी या प्रदूषण का असर होता है. आइए जानते हैं बलगम से छुटकारा कैसे पाया जाए.

1.भाप लेना -

छाती पर कफ को दूर करने के लिए आप सबसे पहले एक बर्तन में पानी उबालें और फिर उसी खोलते पानी में बाम को डालें. फिर सिर को तौलिए से ढक ले और इसी पानी का भाप सूंघते रहे. ऐसा करने से आपको तकलीफ से काफी राहत मिलेगा.

2.तेल का इस्तेमाल करें -

जब सीने में कफ जरूरत से ज्यादा जम जाए और सांस लेने में भी तकलीफ होने लगे तो छुटकारा पाने के लिए आप कुछ नेचुरल तेलों का इस्तेमाल कर सकते हैं. क्योंकि इसमें एंटी इन्फ्लेमेटरी और एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज पाए जाते हैं. आप रात को सोने से पहले नाक में दो-दो बूंद एसेंशियल आयल डाले, सुबह तक नाक साफ हो जाएगा.

3.खूब पानी पिएं - 

कफ जमने की स्थिति में आपको खूब पानी पीना चाहिए. इससे शरीर हाइड्रेटेड रहेगा तो बलगम को कमजोर करने में मदद मिलेगी. इसके उलट अगर वाटर की कमी है, तो कफ और सख्त हो जाएगा जिससे परेशानी बढ़ जाएगी.

4.वर्कआउट -

फिजिकल एक्टिविटीज कफ को ढीला करने में काफी मदद करते हैं. इससे शरीर में गर्मी आती है और और बलगम कमजोर होने लगता है. इसलिए डेली पैदल चलना, साइकिलिंग करना और दौड़ना जैसे वर्कआउट करें.

आपको यह जानकारी कैसी लगी ? हमें कमेंट में जरूर बताइए और अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक तथा शेयर जरूर करें. साथ ही चैनल को फॉलो जरूर करें. इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments