आयुर्वेद में माना जाता है सहजन को बहुत ही गुणकारी, फायदे जानकर रह जाएंगे हैरान

कल्याण आयुर्वेद - आजकल की भागदौड़ भरी लाइफस्टाइल के कारण लोग अपनी सेहत को लेकर काफी लापरवाह होते हैं. हालांकि कहीं ना कहीं करोना कॉल के बाद परिस्थितियां बदल गई है और लोगों में अपनी हेल्थ के प्रति थोड़ी गंभीरता आई है. कहीं ना कहीं यह कहना गलत नहीं होगा कि अब एक बार फिर हम भारतीय आयुर्वेदिक औषधि और उपायों पर विश्वास करने लगे हैं.

आयुर्वेद में माना जाता है सहजन को बहुत ही गुणकारी, फायदे जानकर रह जाएंगे हैरान

ऐसे में आज हम आपको सहजन के गुणों के बारे में बताने जा रहे हैं. इसे मुनगा, सूरजना, मोरिंगा, ड्रमस्टिक भी कहा जाता है. इसका इस्तेमाल आप कई रोगों से बचाव के लिए कर सकते हैं. आज इस पोस्ट में हम आपको इस सब्जी के फायदे बताने जा रहे हैं.

सहजन को आयुर्वेद में माना जाता है बहुत महत्वपूर्ण -

इसे सालों से आयुर्वेद में कई तरह की बीमारियों के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जाता है. यह एक पेड़ है जिसके पत्ते, तना, फूल, फली आदि सभी हिस्सों का इस्तेमाल किया जाता है. ऐसा माना जाता है कि सहजं के पत्तों में संतरे से 7 गुना ज्यादा विटामिन सी और केले से 15 गुना ज्यादा पोटेशियम होता है.

जानकारी के मुताबिक, आयुर्वेद में सहजन को पूरे दिन तो रोगों का इलाज करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है. इसे चमत्कारी पेड़ भी माना जाता है. यह पेड़ बाल झड़ने के इलाज लेकर स्थ्मना और आर्थराइटिस में भी फायदेमंद होता है.

सहजन इन पोषक तत्वों का है खजाना -

आयुर्वेद डॉक्टर के मुताबिक, सहजन का पेड़ all-in-one हर्ब है. यह पेड़ एंटीबायोटिक, एंटीऑक्सीडेंट, anti-inflammatory, anti-cancer, anti-diabetic, एंटीवायरस, एंटीफंगल और एंड टीचिंग के तौर पर काम करता है. इसमें विटामिन ए, विटामिन b1, B2, B3, b6, फॉलेट, विटामिन सी, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, फास्फोरस और जस्ता जैसे कई पोषक तत्व भरपूर होते हैं.

सहजन के पत्ते हैं बहुत गुणकारी -

सहजन के पेड़ के सभी भाग फायदेमंद होते हैं. लेकिन इसके पत्ते को सबसे ज्यादा फायदेमंद माना जाता है. अगर आप अपने खाने में सहजन के पत्तों का इस्तेमाल करते हैं, तो इससे आपको बहुत फायदा मिलेगा. आप इसके लिए सूखे पत्तों के पाउडर का इस्तेमाल कर सकते हैं.

सहजन के फली की खूबियां -

सहजन की फली स्वादिष्ट होने के साथ ही काफी फायदेमंद भी होती है. यह करी और सब्जी का जाएगा बढ़ाने और खाने को हेल्दी बनाने के लिए आप इसकी फली का उपयोग कर सकते हैं. इसकी फली को उबालकर उसका सूप पीने से गठिया के दर्द से छुटकारा मिलता है.

सहजन के पत्तों का पाउडर -

आप सहजन के पत्तों का पाउडर बनाकर इसका इस्तेमाल कर सकते हैं. इसे आप अपनी रोटी, स्मूदी. एनर्जी ड्रिंक, दाल और सब्जी आदि में मिला सकते हैं. रोजाना आप एक छोटा चम्मच पाउडर का इस्तेमाल कर सकते हैं.

जाने सहजन के उपयोग के कुछ फायदे -

1.सहजन आपको हीमोग्लोबिन को बेहतर करने का काम करता है. जिससे खून की कमी से छुटकारा मिलता है.

2.यदि आप ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल की बीमारी से जूझ रहे हैं, तो ऐसे में सहजन का सेवन करना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है .

3.जो महिलाएं ब्रेस्टफीडिंग कराती हैं उनके लिए का सेवन करना फायदेमंद हो सकता है. क्योंकि इसका सेवन करने से महिलाओं में दूध का उत्पादन बढ़ता है.

4.सहजन का इस्तेमाल करने पर शरीर का थायराइड फंक्शन सुधरता है -

5.सहजन आपकी शुगर लेवल को कंट्रोल करने में मददगार साबित होता है/ इसलिए अगर आप डायबिटीज मरीज हैं तो इसका सेवन कर सकते हैं.

6.लीवर और किडनी को डिटॉक्सिफाई करने में भी सहजन काफी मददगार होता है.

7.शरीर में खून को साफ करने का काम करता है, जिससे कि रक्त प्रवाह भी अच्छी तरह से होता है और शरीर की गंदगी साफ होती.

8.शरीर में होने वाले चर्म रोगों को दूर करने में सर्जन मददगार होता है.

9.अगर आपके शरीर का वजन बढ़ गया है, जिसे आप हटाना चाहते हैं तो इसका सेवन करके वजन भी घटाया जा सकता है.

xआपको यह जानकारी कैसी लगी ? हमें कमेंट में जरूर बताइए और अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक तथा शेयर जरूर करें. साथ ही चैनल को फॉलो जरूर करें. इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments