रोज खाएं यह 1 फल, बैड कोलेस्ट्रॉल से मिलेगा छुटकारा, हृदय रहेगा स्वस्थ

कल्याण आयुर्वेद - बैड कोलेस्ट्रॉल हमारी सेहत के लिए बहुत ही नुकसानदायक होता है. दरअसल यह हृदय से संबंधित बीमारियों का कारण बनता है. ऐसे में इसे कंट्रोल करना बहुत जरूरी माना जाता है. इसलिए आज के इस पोस्ट में हम आपको एक ऐसे फ्रूट के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसका सेवन करने से इस समस्या को आसानी से कंट्रोल किया जा सकता है.

रोज खाएं यह 1 फल, बैड कोलेस्ट्रॉल से मिलेगा छुटकारा, हृदय रहेगा स्वस्थ

सबसे पहले आपको बता दें कि हम भी फल के बारे में बात कर रहे हैं उसका नाम है एवोकाडो. 

एवोकाडो भले ही भारत में हर जगह उपलब्ध नहीं होती है. लेकिन यह एक सुपर फूड के तौर पर लगातार चर्चा में बना रहता है. पोषक तत्वों से भरपूर यह फल फिटनेस और सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद साबित होता है. इसकी वजह से फिर इसका स्वाद और लुक नहीं है, बल्कि इसे खाने से होने वाले कई फायदों की वजह से भी है.

एक नई स्टडी में देखा गया है, कि 6 महीने तक हर दिन एक एवोकाडो खाने से मोटापा यह ज्यादा वजन वाले लोगों की पेट की चर्बी लीवर फैट या फिर कमर के फैट पर कोई फर्क नहीं पड़ा. हालांकि उनके कोलेस्ट्रॉल स्तर में गिरावट देखी गई इस रिसर्च में शोधकर्ताओं ने देखा की प्रतिभागी जिन्होंने एवोकाडो खाया उनकी हालत बेहतर हो गई.

एवोकाडो खाने के फायदे -

इससे पहले भी कुछ छोटे शोध में एवोकाडो और शरीर के वजन बीएमआई और कमर के आसपास पेट कम होने से जुड़ा लिंक देखा गया है. हालांकि हाल ही में हुए शोध में बोकारो खाने से वजन या पेट की चर्बी में कमी नहीं देखी गई. लेकिन इससे डाइट में संतुलन जरूर आया इसे डाइट में शामिल करने से बैड कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम हो गया.

रिसर्च में क्या पाया गया -

अध्ययन में यह पाया गया कि रोजाना एवोकाडो खाने से प्रतिभागियों की आहार की समग्र गुणवत्ता में 100 अंकों के पैमाने पर 8 अंकों का सुधार हुआ है.

अमेरिका में आमतौर पर लोग एक अच्छी डाइट का पालन नहीं करते हैं और शोध में निष्कर्ष निकाला गया है कि रोज एक एवोकाडो खाने से पूरी डाइट की क्वालिटी में काफी वृद्धि हो सकती है. यह एक जरूरी निस कर दिया क्योंकि हम जानते हैं कि खराब डुएट दिल की बीमारियां, टाइप टू डायबिटीज और कुछ तरह के कैंसर का जोखिम बढ़ जाती है.

कितना कम हुआ कोलेस्ट्रॉल -

एवोकाडो खाने से वजन तो कम नहीं हुआ लेकिन इस फल में मौजूद कैलोरी की वजह से वजन या फिर पेट की चर्बी बड़ी भी नहीं. वही एलडीएल यानी बैड कोलेस्ट्रॉल में कमी देखी गई रिसर्च में यह पाया गया कि रोज एवोकाडो खाने से कुल कोलेस्ट्रोल 2 पॉइंट 9 मिलीग्राम प्रति लीटर कम हो गया और एलडीएल कोलेस्ट्रॉल 2.5 मिलीग्राम कम हुआ.

रिसर्च ने कहा कि वे आगे भी इस शोध के डाटा को स्टडी करते रहेंगे. क्योंकि इस बार उन्होंने प्रतिभागियों को यह नहीं बताया था, कि उन्हें डाइट में एवोकाडो को कैसे शामिल करना है और फिर यह देखेंगे कि इससे सेहत पर किसी तरह का असर पड़ता है या नहीं.

आपको यह जानकारी कैसी लगी ? हमें कमेंट में जरूर बताइए और अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक तथा शेयर जरूर करें. साथ ही चैनल को फॉलो जरूर कर ले. इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments