सावधान ! बारिश के मौसम में आ सकता है अस्थमा का अटैक, बरतें ये सावधानियां

कल्याण आयुर्वेद - मौसम बदलने के साथ ही अस्थमा के मरीजों की समस्या में काफी बढ़ोत्तरी होने लगी है. विशेष तौर पर बारिश के मौसम में अस्थमा रोगियों को सांस की परेशानी होने लगती है. बरसात के सीजन में नमी होने और सूरज कम निकलने की वजह से धूप की कमी के कारण अस्थमा पेशेंट को परेशानी होती है. कई बार विटामिन बी की कमी से दमा का अटैक भी आ सकता है.

सावधान ! बारिश के मौसम में आ सकता है अस्थमा का अटैक, बरतें ये सावधानियां

बारिश का मौसम बढ़ाता है अस्थमा मरीजों की परेशानी -

इस मौसम में अस्थमा के मरीजों को सांस लेने में काफी दिक्कत आने लगती है. ऐसे व्यक्तियों को श्वास नलियों में सूजन आ जाती है. जिससे सांस नली सिकुड़ने लगती है. दमा के रोगियों को बरसात के मौसम में कुछ विशेष सावधानी बरतने की जरूरत होती है. कुछ बातों का ध्यान रखकर इस समस्या को काफी हद तक कम किया जा सकता है. अस्थमा का कारण जीवन शैली पर्यावरणीय कारकों और अनुवांशिक गड़बड़ी आदि हो सकती है.

ठंड ज्यादा होने के कारण सांस लेने में होती है परेशानी -

एक्सपर्ट के मुताबिक बारिश में अस्थमा की शिकायत बनने के कई कारण होते हैं. जिसमें से प्रमुख कारण है बरसात के मौसम में धूप का कम निकलना. इस वजह से हमारे शरीर में विटामिन बी की कमी हो जाती है. यह वजह ऐसी है, जो अस्थमा के मरीजों में अस्थमा का दौरा पड़ने की वजह को ट्रिगर करता है.

इसके साथ ही बरसात का ठंडा वातावरण ऐसे रोगियों के लिए और भी ज्यादा दिक्कत पैदा कर सकता है. कई बार अस्थमा का अटैक इतना खतरनाक होता है कि रोगी का दम घुटने लगता है. इस मौसम में गले में घरगहराहट खांसी और सांस लेने में तकलीफ होने लगती है.

कमरे में धूल के कण ज्यादा होने पर होती है परेशानी -

घर की हवा साफ-सुथरी होनी चाहिए. खासतौर पर जिस कमरे में अस्थमा का मरीज होता है. कई बार कमरे की हवा भी अस्थमा अटैक की संभावनाओं को बढ़ा देती है. हर दूसरे दिन कमरे की डस्टिंग अवश्य करनी चाहिए.

बारिश में अस्थमा मरीज अटैक से बचने के लिए अपनाएं ये उपाय -

1.अस्थमा के मरीजों को बरसात में सीलन वाली जगह पर नहीं रहना चाहिए.

2.अपने घर में रसोई और बाथरूम को हमेशा सूखा रखने की कोशिश करें.

3.अगर आपको डॉक्टर ने इनहेलर लेने की सलाह दी है तो बारिश के मौसम में इसका इस्तेमाल अवश्य करें.

4.अपने घर के तौलिये कारपेट और बेडशीट को हमेशा साफ और सुखा कर रखें.

5.घर में पालतू जानवर है, तो आपको उस से दूरी बनाकर रखनी है. इसके अलावा अगर घर में कहीं फंगस लगा है तो उसे तुरंत साफ कर दें.

6.अस्थमा के मरीजों के लिए सबसे जरूरी है कि उन्हें बैलेंस डाइट लेनी चाहिए. इसके साथ ही समय पर अपनी दवाओं का सेवन करें.

आपको यह जानकारी कैसी लगी ? हमें कमेंट में जरूर बताएं और अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक तथा शेयर जरूर करें. साथ ही चैनल को फॉलो जरूर कर लें. इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments