क्या है मेल इनफर्टिलिटी ? ऐसे पहचानें इसके लक्षण, जानें घरेलू उपचार

कल्याण आयुर्वेद - बच्चे पैदा करने के लिए महिला और पुरुष दोनों का फर्टाइल होना बहुत जरूरी है. मतलब दोनों में ही रीप्रोडक्टिव सिस्टम से जुड़ी समस्याएं नहीं होनी चाहिए. मेल इनफर्टिलिटी या पुरुषों में बांझपन उसे कहते हैं जब वे अपनी महिला पार्टनर को प्रेग्नेंट नहीं कर पाते हैं. यह इनफर्टिलिटी कई चीजों पर निर्भर करती है. लेकिन मुख्य वजह उनके स्पर्म की क्वालिटी होती है. वहीं कुछ समस्याएँ सेक्सुअल फंक्शन से जुड़ी होती है. यहां हम इस समस्या के बारे में जानेंगे और कुछ फूड जो इस प्रॉब्लम में फायदेमंद हो सकते हैं उसके बारे में भी बताएंगे.

क्या है मेल इनफर्टिलिटी ? ऐसे पहचानें इसके लक्षण, जानें घरेलू उपचार

हो सकती है कई समस्याएं -

कई बात पुरुषों की स्पर्म क्वालिटी से लेकर कुछ और समस्याएं भी हो सकती हैं, जिनकी वजह से उनकी पार्टनर गर्भधारण नहीं कर पाती है जैसे -

1.टेस्टोस्टेरोन लेवल कुछ पुरुषों में अगर इस हार्मन का लेवल कम हो जाता है तो उन्हें बांझपन की समस्या हो सकती है.

2.इरेक्टाइल डिस्फंक्शन, इरेक्टाइल डिस्फंक्शन यानी जब पुरुष इरेक्शन मेंटेन ना कर पाए इस वजह से भी बांझपन की समस्या आती है.

3.स्पर्म काउंट, सीमेन में स्पर्म की संख्या भी काफी अहम होती है. स्पर्म काउंट कम होने पर इनफर्टिलिटी की समस्या हो सकती है.

4.इससे उनका आगे बढ़ना, स्पर्म जितने हेल्दी होते हैं उतने ही आगे बढ़ेंगे. मोटिलिटी की कमी भी इनफर्टिलिटी की वजह हो सकती है.

1.लाइफस्टाइल है जिम्मेदार -

इनफर्टिलिटी के पीछे आपका खान-पान और लाइफ स्टाइल में काफी जिम्मेदार होती है. इन समस्याओं के होने पर डॉक्टर से मिलने के अलावा कुछ चीजों को आप खुद से दूर करें.

2.एक्टिव रहे -

एक्सरसाइज आपकी हेल्थ के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है. यह आपकी ओवरऑल हेल्थ को फायदा देता है. एक रिपोर्ट के मुताबिक कई स्टडीज में यह साबित हो चुका है कि नियमित रूप से एक्सरसाइज करने वाले लोगों का टेस्टोस्टेरोन लेवल अच्छा रहता है हालांकि ज्यादा एक्सरसाइज करने से उल्टा असर भी हो सकता है.

3.विटामिन सी का सेवन करें -

विटामिन सी आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को तो करता ही है. साथ ही आपकी फर्टिलिटी भी अच्छा रखता है. नींबू पानी या फिर साइट्रस फ्रूट जैसे संतरा, मौसमी इसके अच्छे सोर्स होते हैं. आंवला पाउडर या किसी भी फॉर्म में आंवले को भी खा सकते हैं.

4.विटामिन डी -

विटामिन सी की तरह विटामिन डी भी शरीर के लिए बहुत जरूरी होता है. बढ़ती उम्र के साथ ज्यादातर लोगों में इस विटामिन की कमी देखी जाती है. ऐसे में आप नेचुरल सूरज की रोशनी में कुछ वक्त गुजारें या फिर डॉक्टर की सलाह पर सप्लीमेंट ले सकते हैं. ऐसी चीजों का सेवन करें जिनमें जिंक पाया जाता है. जैसे - अंडा, काजू, कद्दू के बीज आदि.

आपको यह जानकारी कैसी लगी ? हमें कमेंट में जरूर बताइए और अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक तथा शेयर जरूर करें. साथ ही चैनल को फॉलो जरूर कर ले. इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments