पेरेंट्स की ये 10 गंदी आदतें, बच्चों का भविष्य करती है बर्बाद, ध्यान से पढ़ें

कल्याण आयुर्वेद - आज के जमाने में बच्चे की सही परवरिश करना आसान काम नहीं है. आप जैसा बर्ताव बच्चों के साथ करते हैं वही बर्ताव वह दूसरों के साथ करते हैं. आज की आपाधापी भरी जिंदगी में पेरेंट्स के पास अपने बच्चों के लिए वैसे ही समय की कमी होती है. ऐसे में कई चुनौतियों के बीच अक्सर कुछ पेरेंट्स ऐसी गलतियां कर बैठते हैं, जिसका उनके बच्चे के भविष्य पर गलत असर पड़ता है और उनके बच्चे बिगड़ने लगते हैं. ऐसे में आपको भारतीय पेरेंट्स के उन आरोपों के बारे में बताएंगे जिससे बच्चों की जिंदगी तबाह हो सकती है.

पेरेंट्स की ये 10 गंदी आदतें, बच्चों का भविष्य करती है बर्बाद, ध्यान से पढ़ें

1.फोन का इस्तेमाल करने की छूट -

आजकल लाखों बच्चे खासकर कोरोनावायरस के बाद मैदान में जाकर खेलने जिससे उनका मानसिक स्वास्थ्य बेहतर होता है. इसके बजाय में स्मार्टफोन लैपटॉप या कंप्यूटर में गेम खेलना पसंद करते हैं, जिन बच्चों को गेम खेलना नहीं पसंद होता है. वह यूट्यूब पर घंटों वीडियो देखते हैं. जिससे ना केवल बच्चों की आंखें और मेंटल हेल्थ पर बुरा असर पड़ता है. बल्कि उनका पूरा ओवरऑल विकास प्रभावित हो जाता है.

2.सिखाने की बजाय डांटना -

कई पेरेंट्स ऐसे होते हैं कि बात-बात पर बच्चों को डांटने लगते हैं. खासकर पढ़ने के समय बच्चों को कुछ समझ ना आने पर वे उसे डांटने लगते हैं. इससे बच्चे आगे कुछ भी पूछने के लिए डरने लगता है. पेरेंट्स के चीखने चिल्लाने और गुस्से को साइड इफेक्ट यह होता है कि आगे चलकर आपका बच्चा काफी गुस्सा प्रवृत्ति वाला बन सकता है.

3.धैर्य रखने की सीख ना देना -

एक चीज जिसका सामने आजकल की पीढ़ी को करना पड़ता है. वह है धैर्य यानी सब्र की कमी. ऐसे में जरूरी है कि आप खुद धैर्यवान हो यानी पहले खुद में सब लेकर आए खासकर उन विपरीत परिस्थितियों में जब आप परेशान हो, यानी आपके लिए यह ध्यान रखना काफी जरूरी है कि आप अपने बच्चे को धीरज धरना यानी सब्र करना सिखाए.

4.हमेशा जीतने का प्रोत्साहन -

आजकल के बच्चे में बात बात पर जीतने की भावना तेजी से बढ़ रही है. यह कंपटीशन के दौर की मजबूरी नहीं है बल्कि वह प्रवृत्ति है. जिसका चलन काफी ज्यादा इसलिए बड़ा है. क्योंकि ऐसे मामले में अधिकतर पेरेंट्स बच्चों को जीतने के लिए प्रोत्साहित करते हैं. ऐसा करना गलत नहीं है. लेकिन इसके साथ-साथ पैरंट्स को अपने बच्चों को फेल ईयर यानी फेल होने जैसी स्थिति से निपटना भी सिखाना चाहिए. क्योंकि कुछ मामलों में असफलता से सीख लेना भी बच्चों की ग्रोथ और विकास के लिए जरूरी होता है.

5.नखरो को प्यार समझना -

भारतीय मां बाप अपने सिर दर्दी और टाइम बचाने के लिए बच्चों की हर जिद को प्यार समझ कर बिना कुछ बोले ही पूरा कर देते हैं. ऐसे में उनके लाडले यह नहीं सीख पाते हैं, कि उन्हें अपनी भावनाओं पर कैसे काबू पाना है. वहीं इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि बच्चों की हल्दी तुरंत पूरी होने से वे अपनी जिंदगी में सही और गलत के बीच अंतर करना नहीं सीख पाते हैं.

6.तुलना करना -

सभी बच्चे एक जैसे नहीं होते हैं. हर किसी में कोई ना कोई अच्छाई या बुराई हो सकती है. हो सकता है आपका बच्चा किसी एक काम में दूसरे से बेहतर ना हो. लेकिन कुछ ऐसी चीजें भी होंगी जिसमें वह सबसे आगे और अच्छा होगा. इसलिए अपने बच्चों को कभी भी किसी और से तुलना नहीं करनी चाहिए.

7.चीजों को ना छोड़ पाना -

बच्चों की अच्छी हेल्थ और भविष्य के लिए जरूरी है कि आप खुद में भी बदलाव लाए. ऐसे में बच्चों पर कुछ भी सोचने से पहले जरूरी है कि आप बच्चों के आगे अपनी कुछ आदतों को बदलें.

8.मांग से पहले इच्छा पूरी करना -

कई बार पेरेंट्स बच्चों के मांगने से पहले ही उन्हें चीज है ला कर दे देते हैं. ऐसे में इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि आप अपने बच्चे की उन्ही जरूरतों को पूरा करें जो सही हो और जिन चीजों की असल में उन्हें जरूरत हो.

9.बच्चे को दोष देना -

अगर आपको अपने बच्चा का बर्ताव खराब लगता है तो इसके लिए उसे बुरा भला ना बोले. क्योंकि कहीं ना कहीं उसने वह चीज जो आपको अपने लिए अच्छी लगती है. लेकिन दूसरों के लिए नहीं. यह उसने आपसे यह आपके करीबी लोगों से सीखी होगी. अच्छी पेरेंटिंग यह है कि भले ही आप को कितना भी गुस्सा क्यों ना आए, लेकिन अपने बच्चे के ऊपर उस गुस्से को ना निकाले.

10.फैसला करने की आजादी -

कई बार पेरेंट्स किसी परिस्थिति से निपटने के लिए बच्चे को बहुत से ऑप्शन दे देते हैं और उन्हें खुद से फैसला लेने के लिए कहते हैं. वैसे तो खुद से फैसला लेने पर बच्चों में एक समझ आती है. लेकिन कई बार इस पर बच्चे किसी भी परिस्थिति का सामना करने की बजाय दूसरों के साथ एडजस्ट करने की बजाय कोई दूसरा विकल्प चुनने लगते हैं.

आपको यह जानकारी कैसी लगी ? हमें कमेंट में जरूर बताइए और अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक व शेयर जरूर करें. साथ ही चैनल को फॉलो जरूर करें. इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments