डायबिटीज मरीजों के लिए संजीवनी बूटी है ये 4 चीजें, तुरंत बढ़ता है इन्सुलिन लेवल

कल्याण आयुर्वेद - डायबिटीज के मरीजों का आंकड़ा काफी तेजी से बढ़ रहा है. डायबिटीज के मरीज के लिए शुगर लेवल को कंट्रोल करके रखना बहुत ही जरूरी होता है. डायबिटीज होने पर इसका असर शरीर के दूसरे अंगों पर भी पड़ने लगता है. अगर इसे जल्द कंट्रोल ना किया जाए, तो आपको और भी कई बीमारियां हो सकती हैं. जिनमें हृदय से जुड़ी बीमारियां भी शामिल है. इस बीमारी में शरीर इंसुलिन प्रतिरोधी हो जाता है या पाचक ग्रंथि पर्याप्त मात्रा में इंसुलिन का उत्पादन नहीं कर पाती है.

डायबिटीज मरीजों के लिए संजीवनी बूटी है ये 4 चीजें, तुरंत बढ़ता है इन्सुलिन लेवल

इसलिए पड़ती है इंसुलिन की जरूरत -

डॉक्टर बताते हैं कि इंसुलिन एक हार्मोन होता है, जो शरीर और उसकी कोशिकाओं में ग्लूकोस को अवशोषित कर के उसे ऊर्जा के रूप में उपयोग करने में मदद करता है. जब हम साधारण शुगर या कार्बोहाइड्रेट का सेवन करते हैं, तो ग्लूकोज रक्त प्रवाह में प्रवेश करता है. इंसुलिन कोशिकाओं में इसके अवशोषण में मदद करता है. यही कारण है कि जिन रोगियों में ब्लड शुगर का स्तर बढ़ जाता है उन्हें इंसुलिन के इंजेक्शन दिए जाते हैं.

इंसुलिन के लिए यह भी विकल्प -

जब हम भोजन करते हैं, तो उससे इंसुलिन बनता है और इंसुलिन ऊर्जा से शरीर में ग्लूकोस बनता है. लेकिन जब इंसान डायबिटीज की चपेट में आ जाता है, तो उस स्थिति में यह सब नहीं हो पाता है. यह हमारी मांस पेशियों यकृत और वसा की कोशिकाओं में प्रवेश करने में सक्षम नहीं होती है. मोटापा पेट का मोटापा भोजन की आदतें शारीरिक गतिविधि की कमी और कुछ दवाएं इंसुलिन प्रतिरोध का कारण बनती है. ऐसी स्थिति से बचने के लिए आपको नीचे बताई गई चीजों का सेवन करने की जरूरत है.

1.कार्बोहाइड्रेट -

कार्बोहाइड्रेट को स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है. इसमें उच्च फाइबर फाइटोन्यूट्रिएंट्स एंटी ऑक्सीडेंट और मध्यम से निम्न खाद्य पदार्थ शामिल है. यह हमारे शरीर के ऊर्जा स्तर को बनाए रखने में मदद करते हैं. इस स्थिति में इन खाद्य पदार्थ के सेवन से शरीर में चीनी का स्तर कम हो जाता है, जिससे इंसुलिन बनने में कोई परेशानी नहीं होती है.

2.फाइबर -

फाइबर इंसुलिन को नियंत्रित करने के लिए बहुत फायदेमंद पोषक तत्व माना जाता है. इसलिए डाइटिशियन फाइबर की मात्रा को बढ़ाने के लिए कहते हैं. इस स्थिति में आपको खूब सब्जियों का सेवन करना चाहिए. इसके अलावा विटामिन, मिनरल, पोटेशियम, कैल्शियम, एंटी ऑक्सीडेंट और आयरन से भरपूर खाद्य पदार्थों को डाइट में शामिल करना चाहिए.

3.हेल्थी फैट -

डायबिटीज के मरीजों को खाने में ही बैलेंस करने को कहा जाता है. क्योंकि इससे उनका ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है और इंसुलिन के कामों में भी कोई रुकावट की स्थिति पैदा नहीं होती है. जंक फूड या ट्रांस फैटी एसिड इंसुलिन पर नकारात्मक प्रभाव डालते हैं. इसलिए डायबिटीज के मरीजों को बादाम, अखरोट और अलसी के बीजों का सेवन करना चाहिए. साथ ही ड्राई फ्रूट का सेवन भी करना चाहिए.

4.डेरी प्रोडक्ट -

भारतीय भोजन के साथ रायता, दही आदि का सेवन किया जाता है. लेकिन कई लोग सेवन करना छोड़ देते हैं. ऐसा करना गलत है. अगर आप एक्टिव के मरीज हैं तो आपको जरूर डेरी खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए या वजन को सकारात्मक रूप से प्रभावित करता है और मांसपेशियों को मजबूत बनाने में अहम भूमिका निभाता है. प्रोटीन में दाल, स्प्राउटेड और मांस का सेवन कर सकते हैं.

आपको यह जानकारी कैसी लगी ? हमें कमेंट में जरूर बताएं और अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक बता शेयर जरूर करें. साथ ही चैनल को फॉलो जरूर कर लें. इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments