इन 5 बीमारियों के इलाज में रामबाण है तुलसी की पत्तियां, शरीर को बना देगी निरोगी

कल्याण आयुर्वेद - पिछले 2 साल से दुनिया को अपने आगोश में जकड़े हुए कोरोनावायरस से दुनिया लगातार चिंता में है. इस बीमारी की तीन लहर आ चुकी है. जिसमें लाखों लोगों की जान गई है. अब चौथी लहर की आशंका जताई जा रही है. आपको और आपके परिवार को यह बीमारी छू ना पाए, इसके लिए आपको रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने की जरूरत है. आज हम आपको तुलसी के कुछ ऐसे दुर्लभ गुणों के बारे में बताने जा रहे हैं. जिनके बारे में जानकर आप अपने परिवार को कोरोनावायरस से ही नहीं बल्कि दूसरी गंभीर बीमारियों से भी बचा सकते हैं. आइए जानते हैं तो तुलसी के दुर्लभ गुण क्या है.

इन 5 बीमारियों के इलाज में रामबाण है तुलसी की पत्तियां, शरीर को बना देगी निरोगी

तुलसी के पत्तियों के फायदे -

1.पाचन तंत्र को बनाती है मजबूत -

अगर आपको भूख कम लगती है और पाचन शक्ति लगातार कमजोर होते जा रहा है, तो तुलसी के पत्तियों से जुड़ा उपाय कर सकते हैं, आप रोजाना सुबह गुनगुने पानी के साथ तुलसी के चार से पांच पतियों को धोकर रोजाना खा सकते हैं. ऐसा करने से आप ही पाचन शक्ति दुरुस्त होती है. भूख बढ़ती है और खून साफ होता है. इस उपाय से आपकी याद रखने की क्षमता भी तेज होती है. बढ़ती उम्र में अक्सर याददाश्त कमजोर होने की दिक्कत आने लगती है. ऐसे में आप इसका सेवन करके अपनी इस समस्या को काफी हद तक कम कर सकते हैं.

2.कान के दर्द की सूजन में फायदा -

जिन लोगों के काम में अक्सर दर्द की शिकायत रहती है या कान के निचले हिस्से में सूजन आ जाती है. उनके लिए भी तुलसी कितनी रामबाण उपाय से कम नहीं है. कान में दर्द होने पर आप तुलसी की तीन से चार पत्तियां थोड़े से पानी के साथ गर्म कर लें इसके बाद उस पानी की दो से तीन बूंद थोड़ी थोड़ी देर में कान में डालें. आपको थोड़ी देर में ही काम के दर्द से राहत मिलने लगेगा. कान के पिछले हिस्से में सूजन हो जाने पर आप इसके तुलसी की पत्तियों को पीसकर उसे गुनगुने पानी में मिला लें. इसके बाद उस पर स्टको सूजन वाली जगह पर रख लें ऐसा करने से आपको दर्द की समस्या से राहत मिलता है.

3.बैक्टीरियल इनफेक्शन को करती है दूर -

शरीर की इम्युनिटी कमजोर होने पर तुलसी की पत्तियों का सेवन काफी कारगर सिद्ध होता है. आप तुलसी की पत्तियों का सेवन करके बैक्टीरियल इनफेक्शन पेट के दर्द, बुखार, जुकाम और दिल से जुड़ी बीमारियों से छुटकारा पा सकते हैं. तुलसी के 2 वैरायटी पाई जाती है. जिनमें एक राम तुलसी होती है और दूसरे श्याम तुलसी होती है. राम तुलसी की तुलना में श्याम तुलसी औषधीय गुणों के हिसाब से ज्यादा गुणकारी माना जाता है.

4.रतौंधी का इलाज करने में मददगार -

रतौंधी एक काफी गंभीर बीमारी है, इसमें व्यक्ति को रात के समय कुछ भी दिखाई नहीं देता है, जिन लोगों को रात में ना दिखने की दिक्कत आती है. वह तुलसी का इस्तेमाल अपने इलाज में कर सकते हैं. रतौंधी होने की स्थिति में रोजाना रात को आंखों में तुलसी के रस की दो से तीन बूंद डाल देने से काफी राहत मिलता है. इसके अलावा अगर आपको नाक से जुड़ी कोई बीमारी हो जाए तो इसके इलाज में भी तुलसी की पत्तियां बहुत फायदेमंद मानी जाती हैं. आप तुलसी को पीसकर उसे सुन सकते हैं ऐसा करने से नाक से जुड़ी समस्याओं से छुटकारा मिलता है.

5.बालों को मजबूत बनाने में मददगार -

मानसिक तनाव की वजह से अगर आपके बाल झड़ गए हैं या फिर उनमें जून की समस्या हो गई है, तो तुलसी की पत्तियां आपके लिए बहुत ही फायदेमंद साबित हो सकती हैं. आप तुलसी की पत्तियों का रस निकालकर उसे बालों में डालें दोबारा से बाल उगने शुरू हो जाते हैं और जो खत्म हो जाती है. तुलसी की पत्तियों का सेवन करने से आपको माइग्रेन और सिरदर्द की समस्या से भी राहत मिलता है साथ ही आपको तनाव से छुटकारा मिलता है.

आपको यह जानकारी कैसी लगी ? हमें कमेंट में जरूर बताइए और अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक तथा शेयर जरूर करें. साथ ही चैनल को फॉलो जरूर करें. इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments