शरीर में ये लक्षण दिखते ही तुरंत जाएं हॉस्पिटल, नहीं तो गंभीर हो सकते हैं परिणाम

कल्याण आयुर्वेद - सेहत का ध्यान रखने के लिए हमें हमेशा पौष्टिक भोजन करने की सलाह दी जाती है. क्योंकि फिर दो की मजबूती आपके स्वास्थ्य समस्या को खत्म करने में मदद करता है. देखा जाए तो हृदय गति का अचानक रुक जाना कार्डियक अटैक कहलाता है, जो बिना संकेत या चेतावनी कि अचानक होता है. यह टेक्स दिल में खराबी के कारण होता है या ठीक कंप्यूटर सिस्टम की तरह है जिस तरह से कंप्यूटर के तार एक दूसरे के जुड़े रहने पर हमारा काम करते करते हैं उसी तरह हमारा हृदय भी होता है. जिस का तार टूट जाने पर अचानक कार्डियक अटैक के चपेट में आ सकते हैं. आइए जानते हैं इसकी होने के और गंभीर वजहों के बारे में.

शरीर में ये लक्षण दिखते ही तुरंत जाएं हॉस्पिटल, नहीं तो गंभीर हो सकते हैं परिणाम

क्या होता है कार्डियक अटैक -

कई लोगों को लगता है कि कार्डियक अटैक हार्टअटैक का ही रूप में लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं है. आपको बता दें कि कार्डियक का अटैक दिल के भीतरी हिस्सों की खराब हो जाने पर होता है. यानी दिल का काम है खून को शुद्ध करना और पूरे शरीर में संचार कराना. अगर इसमें किसी भी तरह की दिक्कत आती है, तो इसका सीधा असर धड़कन पर पड़ता है, जो लोग पहले से ही हार्ट अटैक के दर्द से निकल चुके हैं, उन्हें कार्डियक अटैक आने की संभावना ज्यादा रहती है.

कार्डियक अटैक के लक्षण -

हृदय का तेजी से धड़कना, सीने में दर्द का अहसास होना, चक्कर आना, सांस लेने में दिक्कत होना, जल्दी थकान महसूस करना.

हार्ट अटैक क्या होता है -

आजकल के जीवन जीने के तरीके और गलत खानपान की वजह से हार्ट अटैक से मृत्यु दर काफी तेजी से बढ़ने लगा है. जिससे कई लोग अपनी लाइफ स्टाइल को अच्छा बनाने में लगे हैं. लेकिन वही जब कार्डियक अटैक की बात आती है, तो हार्ट अटैक की आशंका सताने लगती है. हार्ट अटैक तब होता है जब हृदय की कुछ हिस्सों में खून का संचार कम हो जाता है. लेकिन कार्डियक अटैक में खून का संचार अचानक बंद हो जाता है. हार्ट अटैक के बाद भी शरीर के कुछ हिस्सों में खून का संचार होता रहता है. लेकिन कार्डियक अटैक की स्थिति में खून का संचार पूरे शरीर में बंद हो जाता है.

हृदय को हेल्दी रखने के लिए खाएं ये फूड्स -

1.विटामिन ई से भरपूर चीजें खाएं -

सबसे पहले आपको बता दें कि विटामिन रक्त का थक्का बनने से रोकता है. सुझाव दिया जाता है कि जो लोग ब्लड थिनर के रूप में दवा ले रहे हैं. उनको विटामिन इ की दूध लेने से बचना चाहिए. विटामिन ई एंटीओक्सिडेंट की तरह काम करता है. विटामिन पाने के लिए आप पालक और बादाम आदि चीजें खा सकते हैं.

2.हल्दी करती है नेचुरल ब्लड थिनर का काम -

खाने में इस्तेमाल की जाने वाली हल्दी प्राकृतिक ब्लड थिनर है. हल्दी में करक्यूमिन पाया जाता है, जो खून को पतला करता है और खून का थक्का बनने से रोकता है. आप खाना बनाते समय इस्तेमाल कर सकते हैं.

3.लहसुन खाने से पतला होता है खुन -

खाने का स्वाद बढ़ाने के लिए लोग लहसुन का सेवन करते हैं. लेकिन क्या आपको पता है कि लहसुन प्राकृतिक एंटीबायोटिक एंटीबायोटिक अर्जेंट होता है जो खून को पतला करता है और खून का थक्का बनने से रोकता है.

4.लाल मिर्च खून पतला करने में मददगार -

लाल मिर्च बहुत ही गुणकारी चीज है. यह हमारे खून को पतला करने में बहुत मदद करता है. लाल मिर्च में सेलिसीलेट भी पाया जाता है. लाल मिर्च आपके ब्लड प्रेशर को कम करने में भी मदद करता है.

5.अदरक पतला करती है खून -

गौरतलब है कि अदरक एक एंटी इन्फ्लेमेटरी मसाला है. अदरक में सेलिसीलेट्स सिंथेटिक गुण पाया जाता है जो कि एक शक्तिशाली ब्लड थिनर का काम करता है आप खाने में डालकर अदरक का सेवन करते हैं.

आपको यह जानकारी कैसी लगी ? हमें कमेंट में जरूर बताइए और अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक तथा शेयर जरूर करें. साथ ही चैनल को फॉलो जरूर कर ले. इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments