गुड़हल का फूल डायबिटीज करेगा कंट्रोल, जानिए कैसे करना है इस्तेमाल

कल्याण आयुर्वेद - बिगड़ा हुआ लाइफस्टाइल और गलत खानपान की वजह से डायबिटीज होने का खतरा ज्यादा रहता है. जब पैंक्रियास में इंसुलिन की कमी हो जाती है तब कोई इंसान डायबिटीज से पीड़ित हो जाता है. डायबिटीज टाइप वन में पैंक्रियास इंसुलिन बनाना बंद कर देता है, तो वही डायबिटीज टाइप वन में इंसुलिन कम बनना शुरू हो जाता है. इंसुलिन कम बनने से खून में शुगर लेवल तेजी से बढ़ने लगता है. इंसुलिन खाने को एनर्जी में बदलता है और इस पर शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है.

गुड़हल का फूल डायबिटीज करेगा कंट्रोल, जानिए कैसे करना है इस्तेमाल

डायबिटीज को लेकर सबसे चिंताजनक बात तो यह होती है, कि इसे पूरी तरह से कभी भी ठीक नहीं किया जा सकता है. एक बार जिस व्यक्ति को डायबिटीज हो जाए जिंदगी में कभी भी इस बीमारी को ठीक नहीं कर सकते हैं. परंतु इसे कंट्रोल किया जा सकता है और इसे कंट्रोल करना बहुत ही जरूरी होता है. क्योंकि अगर आप इसे कंट्रोल नहीं करते हैं तो इससे गंभीर स्थिति पैदा हो सकती है साथ ही आपको और भी कई बीमारियां हो सकती हैं.

डायबिटीज को कंट्रोल करने में आयुर्वेदिक नुस्खे बहुत असरदार माने जाते हैं. जड़ी बूटियों से इसे कंट्रोल में रखा जा सकता है. आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों में गुड़हल के फूल एक ऐसा असरदार दवा है जो शुगर का लेवल कंट्रोल में रखता है आइए इसके बारे में जानते हैं.

गुड़हल के फूल में बहुत आवश्यक गुण पाए जाते हैं, जो कई बीमारियों को दूर करने का काम करते हैं. गुड़हल के फूल का सेवन करने से शुगर का स्तर भी कंट्रोल में रहता है. प्रीडायबिटीज या डायबिटीज के मरीज डेली गुड़हल के फूल का सेवन कर सकते हैं या शुगर से होने वाली बीमारियों का खतरा भी कम कर देता है. दिल्ल डेली खाली पेट चार से पांच गुड़हल की कली खाने से डायबिटीज की समस्या से बचा जा सकता है और इसे कंट्रोल किया जा सकता है.

गुड़हल के फूलों का अन्य फायदे -

1.गुड़हल का फूल कई पोषक तत्वों से भरपूर होता है. आपको बता दें इसमें एंटी ऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में भी असरदार होता है. ऐसे में जिन लोगों को हाई बीपी की समस्या है उन्हें भी इसका सेवन करना चाहिए.

2.गुड़हल का फूल एंटी ऑक्सीडेंट के साथ-साथ एंटी इन्फ्लेमेटरी के गुण से भी भरपूर होता है. गुड़हल का फूल सूजन को कम करने में असरदार होता है. ऐसे में अगर शरीर के किसी अंग में सूजन की समस्या हो जाए तो इसका सेवन करके इस समस्या को ठीक किया जा सकता है.

3.अगर आप वजन घटाना चाहते हैं तो भी इसमें गुड़हल आपकी मदद कर सकता है. आजकल ज्यादातर लोगों को मोटापे की दिक्कत है, अगर आप भी उनमें से एक है और अपना वजन आसानी से घटाना चाहते हैं, तो गुड़हल का फूल आपने डाइट में शामिल करें इससे वजन को कम करने में बहुत मदद मिलेगी.

4.इतना ही नहीं गुड़हल का सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल लेवल भी कम रहता है. आपको बता दें शरीर में कोलेस्ट्रॉल लेवल का हाई होना बिल्कुल भी अच्छा नहीं होता है. क्योंकि इससे दिल के रोग पैदा होते हैं. अगर आपके शरीर में हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या रहती है, तो आपको अपनी डाइट में गुड़हल को शामिल करना चाहिए.

5.गुड़हल का फूल सेहत के लिए तो बहुत ही फायदेमंद होता है. अब आपको बता दें कि गुड़हल के फूल आपकी त्वचा में निखार लाने का भी काम करता है. गुड़हल के फूल का सेवन करके भी आप अपनी त्वचा को ग्लोइंग बना सकते हैं. इसके साथ ही आप इसका फेस पैक बनाकर भी इस्तेमाल कर सकते हैं.

गुड़हल के फूल का सेवन कैसे करें -

1.गुड़हल के सूखे फूलों को मिक्सी में पीस लें और इसका पौधे तैयार कर लें. इस पाउडर को आप किसी कंटेनर में भर कर रख ले. इसे हवा से बचा कर रखें. आपको इसका सेवन रोजाना करना है आप इस पाउडर का एक चम्मच रोजाना पानी के साथ ले सकते हैं.

2.अगर आप इस तरीके से इसका सेवन नहीं करना चाहते तो आप गुड़हल के फूलों का दूसरे तरीके से सेवन कर सकते हैं. अगर आप चाय पीने के शौकीन हैं तो अपनी डाइट में दूध वाली चाय की जगह गुड़हल के फूलों की चाय बनाकर पी सकते हैं.

3.यदि आप इतनी मेहनत नहीं करना चाहते और बिना पाउडर बनाएं तथा बिना चाय बना इसका सेवन करना चाहते हैं, तो इसके लिए सबसे आसान तरीका है, कि आप गुड़हल के पत्ते या फिर इसके फूलों को डायरेक्ट चबाकर खाएं इससे भी आपको बहुत फायदा मिलता है.

आपको यह जानकारी कैसी लगी ? हमें कमेंट में जरूर बताइए और अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक तथा शेयर जरूर करें. साथ ही चैनल को फॉलो जरूर करें. इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments