महिलाओं की तुलना में पुरुषों में कैंसर होने की संभावना है अधिक, जानिए क्या है इसके कारण और बचने के उपाय

कल्याण आयुर्वेद - कैंसर एक ऐसी स्थिति है जिसने आपके शरीर के किसी भी एक हिस्से में कोशिकाएं अनियंत्रित रूप से बढ़ती है. यह कैंसर कोशिकाएं अंगों सहित आसपास के स्वस्थ टिश्यु को भी नष्ट कर देते हैं. जैसे-जैसे कैंसर फैलता है, इसका इलाज करना मुश्किल हो जाता है. आंकड़े के अनुसार, हर 2 में से एक व्यक्ति अपने जीवन काल में कैंसर से पीड़ित होता है. हाल ही में अमेरिकन कैंसर सोसायटी द्वारा किए गए एक नए अध्ययन के अनुसार महिलाओं की तुलना में पुरुषों में अधिक कैंसर होने की संभावना रहती है. यह निष्कर्ष करीब तीन लाख कैंसर मरीजों के विश्लेषण और उनके पीड़ित होने के बाद ट्रैकिंग से निकाला गया है.

महिलाओं की तुलना में पुरुषों में कैंसर होने की संभावना है अधिक, जानिए क्या है इसके कारण और बचने के उपाय

हालांकि वैज्ञानिक यह नहीं जानते हैं कि पुरुषों में कैंसर का खतरा अधिक रहता है. उनका मानना है कि इस अंतर को समझने से कैंसर के रोकथाम और उपचार दोनों में मदद मिल सकती है.

अध्ययन के अनुसार, कैंसर के विकास का खतरा महिलाओं की तुलना में पुरुषों में 1.3 से 10.8 गुना अधिक है. पुरुषों में एसोफैगल कैंसर, लैरिंक्स, गैस्ट्रिक का एरिया और ब्लेंडर कैंसर होने का खतरा ज्यादा रहता है. 1995 से 2011 तक किए गए इस अध्ययन के दौरान 7951 कैंसर पुरुषों में तो 8742 महिलाओं में विकसित हुए. इन मामलों के विश्लेषण के बाद यह निष्कर्ष निकाला कि पुरुषों में ज्यादा कैंसर विकसित होने का खतरा बढ़ गया है. पुरुषों और महिलाओं के बीच अंतर केवल खराब लाइफ़स्टाइल जिम्मेदार है.

खराब लाइफ़स्टाइल कैंसर के खतरे को बढ़ा देता है. यही कारण है कि विशेषज्ञ पुरुषों और महिलाओं से स्वस्थ आहार खाने नियमित रूप से व्यायाम करने तंबाकू और शराब से दूर रहने की सलाह देते हैं. कैंसर के मुख्य लक्षण इस बात पर निर्भर करते हैं. उस इंसान में किस प्रकार का कैंसर विकसित हुआ है. हालांकि कुछ सामान्य संकेत है जो विभिन्न प्रकार के कैंसर के बीच ओवरलैप करने का काम करते हैं. किसी भी नए लक्ष्यों से अवगत होना और सुरक्षित रहने के लिए आपको तुरंत डॉक्टर से सलाह लेना चाहिए.

आपको बता दें कैंसर होने पर कुछ आम लक्षण नजर आते हैं. जिनमें से आंत की आदतों में बदलाव, सूजन, सीने में दर्द, सांस फूलना, गांठ और नए 3 कैंसर के कुछ लक्षण है. अन्य लक्षणों में अचानक वजन घटाना या पीठ दर्द और इनडाइजेशन की समस्या होना. अपने डॉक्टर से सलाह लेना सबसे अच्छा होता है. क्योंकि यह सामान्य लक्षण किसी अन्य गैर खतरनाक और स्थाई स्वास्थ्य समस्या के संकेत हो सकते हैं.

पुरुषों को इन पांच कैंसर का होता है सबसे ज्यादा खतरा -

1.प्रोस्टेट कैंसर -

पुरुषों में सबसे ज्यादा खतरा प्रोस्टेट कैंसर का होता है. फेफड़ों में कैंसर के बाद सबसे ज्यादा मौतें प्रोस्टेट कैंसर की वजह से होती है. सीवीसी की रिपोर्ट बताती है कि साल 2007 में पाए गए करीब 100000 कैंसर पीड़ितों में से करीब 29000 लोगों की मौत प्रोस्टेट कैंसर की वजह से हो गई.

2.लंग कैंसर -

पूरी दुनिया में लंग कैंसर के कारण मरने वालों की संख्या सबसे ज्यादा मानी जाती है. आपको बता दें आंकड़ों के हिसाब से साल 2007 में करीब 88000 लोगों की मौत इसी भयंकर रोग की वजह से हुई.

3.कोलोरेक्टल कैंसर -

कोलोरेक्टल कैंसर यानी बड़ी आंत में होने वाला कैंसर पुरुषों के लिए यह सब से जानलेवा कैंसरओं में से एक है. एक लाख में करीब 53000 व्यक्ति कोलोरेक्टल कैंसर से पीड़ित है. साल 2007 में लगभग 27000 लोगों की मौत इस कैंसर की वजह से हुई थी.

4.ब्लैडर कैंसर -

पुरुषों में होने वाले चौथा सबसे खतरनाक कैंसर का नाम ब्लैडर कैंसर है. एक लाख कैंसर पीड़ितों में करीब 36 रोगी इसी कैंसर से पीड़ित है. जिनमें से लगभग आठ अपनी जान गवा देते हैं. ब्लैडर कैंसर के कारण पेशाब में खून आने लगता है, पेशाब में आने वाला खून ब्लड क्लोट जैसा दिखाई देता है.

5.स्किन कैंसर -

पुरुषों के लिए एक्सपर्ट के अनुसार पांचवा सबसे जानलेवा कैंसर स्किन कैंसर है. एक लाख कैंसर पीड़ितों में करीब 27 इसी कैंसर से पीड़ित होते हैं. जिनमें से चार की मौत होती है.

आपको यह जानकारी कैसी लगी ? हमें कमेंट में जरूर बताइए और अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक व शेयर जरूर करें. साथ ही चैनल को फॉलो जरूर करें. इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments