औषधीय गुणों से भरपूर है कालमेघ का पौधा, जानिए इसके कई जबरदस्त फायदे

कल्याण आयुर्वेद - कई बार लोगों की बॉडी कमजोर होने के चलते उन्हें बार-बार बुखार की शिकायत होती रहती है. वही कीटाणु मौसम के बदलते ही शरीर पर सबसे पहले प्रहार करते हैं. अगर आपकी एक तरह से अपने शरीर का ख्याल नहीं रखते हैं या फिर लापरवाही करते हैं तो आप को बुखार जुकाम फिर से संबंधित दिक्कतें अक्सर बनी रहती है. इन सबके लिए एक नेचुरल दवा है, जिसके इस्तेमाल से आप ऐसी बीमारियों से बच सकते हैं.

औषधीय गुणों से भरपूर है कालमेघ का पौधा, जानिए इसके कई जबरदस्त फायदे

ऐसे में हम आपको बताएंगे कालमेघ पौधे के बारे में. यह स्वाद में कड़वा होता है. साथ ही टॉनिक के रूप में कालमेघ का उपयोग किया जाता है. इसका इस्तेमाल करके बुखार गैस लीवर की दिक्कत पेट में कीड़ों को साफ करने के लिए भी किया जाता है. इसके बारे में बहुत ही कम लोग जानते हैं, तो चलिए जानते हैं विस्तार से कालमेघ के बारे में.

कालमेघ के गुण -

कालमेघ में बुखार को कम करने वाले एंटी बैक्टीरियल, एंटी ऑक्सीडेंट, लीवर की समस्या को ठीक करने वाले पेट में जलन और सूजन को कम करने वाले तत्व पाए जाते हैं. इसका इस्तेमाल खासकर बच्चों के लिए किया जाता है. कई बार छोटे बच्चों के पेट में कीड़े हो जाते हैं. उसके लिए कालमेघ बहुत असरदार होता है. कालमेघ पाचन तंत्र, त्वचा से जुड़े इंफेक्शन और पेट से जुड़ी समस्याओं का इलाज करने में काफी सहयोगी होता है.

आयुर्वेद में कालमेघ नामक हर्ब का बहुत महत्व है. इसका पौधा सजावट के तौर पर लगाया जाता है. यह एक ऐसी जड़ी बूटी है जो खून को साफ करती है. गुणों के कारण ही कालमेघ को त्वचा की समस्या शरीर में फोड़े फुंसी या अन्य घावों में इस्तेमाल किया जाता है.

कालमेघ कैसे करें इस्तेमाल -

1.यदि आपको अपाच या कब्ज से जुड़ी समस्या है, तो कालमेघ का इस्तेमाल करना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है. इसके लिए मुलेठी, कालमेघ और आंवला को पानी में उबाल लें. जब यह काढ़ा के रूप में बनकर तैयार हो जाए तो इसे छानकर पी लें.

2.त्वचा रोगों के लिए कालमेघ 1 घरेलू उपचार हो सकता है. इसके लिए कालमेघ की पत्तियों को अच्छे से साफ करके पानी में उबाल ले. फिर इसमें थोड़ा सा गुड़ मिला लें और गाढ़ा होने के बाद ठंडा करके इसकी गोलियां बना लें. इसे आप चाहें तो खा सकते हैं या फिर कालमेघ को पीसकर घाव या चेहरे के दानों पर लगा सकते हैं.

3.हृदय रोग के लिए कालमेघ बहुत उपयोगी होता है. दिल को स्वस्थ रखने के लिए कालमेघ एक जड़ी बूटी का उपयोग कर सकते हैं. कालमेघ का सेवन करने से हार्टअटैक की समस्या से बचा जा सकता है.

आपको यह जानकारी कैसी लगी ? हमें कमेंट में जरूर बताएं और अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक तथा शेयर जरूर करें. साथ ही चैनल को फॉलो जरुर कर लें. इस पोस्ट को पढने के लिए आपका धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments