सबको नहीं इन लोगों को अधिक काटते हैं मच्छर, क्या आप भी हैं परेशान ? तो जानें कारण

कल्याण आयुर्वेद - मच्छर की वजह से हम सभी बहुत परेशान रहते हैं. मच्छरों के काटने की वजह से कई बार लोग बीमार भी पड़ जाते हैं. वैसे तो मच्छर हर किसी को काटते हैं. लेकिन कुछ लोग ऐसे होते हैं, जिनको मच्छर बहुत ज्यादा कहते हैं. अगर किसी को ऐसा महसूस होता है कि मच्छर केवल उन्हें ही काट रहा है, किसी और को नहीं, तो यह मत सोचिए कि मच्छर से आपका कोई पुराना रिश्ता है. बल्कि कुछ ऐसे वैज्ञानिक कारण है, जिसकी वजह से आप मच्छरों के शिकार ज्यादा बनते हैं. आज के इस पोस्ट में हम आपको कुछ ऐसे लोगों के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं जिन्हें मच्छर बहुत ज्यादा काटते हैं.

सबको नहीं इन लोगों को अधिक काटते हैं मच्छर, क्या आप भी हैं परेशान ? तो जानें कारण

यदि आप भी समस्या से बहुत परेशान है और आपको लगता है, कि आपको मच्छर बहुत ज्यादा काटते हैं. इसके पीछे आखिर वजह क्या है ? तो इस जानकारी को पाने के लिए आपको इस पोस्ट को पूरा पढ़ना होगा, इसलिए इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़ें.

1.अपनी पसंद से चुनते हैं शिकार -

जैसे हम अपने भोजन का चुनाव अपनी पसंद और अपने हिसाब से करना चाहते हैं और करते भी हैं. ठीक उसी प्रकार से मच्छर भी अपने शिकार को खुद ही पसंद करते हैं और उन लोगों को ज्यादा काटते हैं. हमारे शरीर के कुछ चीजें ऐसी होती हैं, जो मच्छरों को हमारी तरफ आकर्षित करती है. मच्छर एक खास तरह की चीजों वाली बॉडी को काटना पसंद करते हैं.

2.खून -

कई बार आपने सुना होगा कि जिसका खून मीठा होता है, उसे ज्यादा मच्छर काटते हैं. यह बात कुछ हद तक सच भी है. कुछ खास खून तरह के वालों को मच्छर बहुत ज्यादा काटते हैं. ऐसे लोगों को मच्छर बहुत पसंद करते हैं, कुछ रिसर्च में यह बताया गया है कि जिन लोगों का ब्लड ग्रुप ओ होता है उन्हें भी मच्छर बहुत ज्यादा काटते हैं.

3.गंध - 

बॉडी की महक से कोई भी आपकी ओर आकर्षित हो सकता है. ठीक उसी प्रकार मच्छर भी आपकी ओर आकर्षित होते हैं. इसका मतलब यह नहीं है कि केवल परफ्यूम लगाने वालों को मच्छर काटते हैं. बल्कि कुछ खास तरह की बॉडी की महक मच्छरों को अट्रैक्ट करती है. कई बार शरीर में पसीने की वजह से बदबू आती है. ऐसी गंध आने की वजह से ही मच्छर अट्रेक्ट होते हैं. पसीने में अमोनिया और लैक्टिक एसिड जैसे कंपाउंड होते हैं जिनकी गंद मच्छरों को आकर्षित करती है.

4.मेटाबॉलिक रेट -

मेटाबॉलिक रेट का नाम तो आपने सुना होगा. इसका सीधा संबंध आपके मेटाबॉलिज्म से होता है. इसका नाम आपने शायद वेट लॉस के लिए जरूर सुना होगा. इसी की वजह से आपका वजन बढ़ता और घटता है. आपको बता दें जिन लोगों का मेटाबॉलिक रेट ज्यादा होता है. उन्हें मच्छर ज्यादा काटते हैं. आपने देखा होगा गर्भवती महिलाओं को मच्छर ज्यादा काटते हैं. दरअसल इसके पीछे का कारण यह है कि गर्भवती महिलाओं का मेटाबॉलिक रेट ज्यादा होता है, इसलिए उन्हें मच्छर ज्यादा काटते हैं.

5.बैक्टीरिया -

जहां बैक्टीरिया ज्यादा होते हैं वहां मच्छर ज्यादा पनपते हैं और वहां रहने वाले लोगों को मच्छर ज्यादा काट ते हैं. आप सभी जानते होंगे कि बैक्टीरिया वाले जगह पर मच्छर आ जाते हैं. यही वजह है कि गंदगी वाले जगहों पर मच्छर ज्यादा होते हैं. एक रिसर्च के मुताबिक, मच्छर हमारे पैरों को ज्यादा काटते हैं, क्योंकि पैरों में बैक्टीरिया होने के चांसेस ज्यादा होते हैं.

6.कार्बन डाइऑक्साइड -

मच्छर कार्बन डाइऑक्साइड गैस से अट्रेक्ट होते हैं, जो जितनी लंबी सांसे लेकर छोड़ता है, उससे उतनी ही ज्यादा कार्बन डाइऑक्साइड निकलती है. ऐसे लोगों को मच्छर ज्यादा काटने के लिए पसंद करते हैं.

आपको यह जानकारी कैसी लगी ? हमें कमेंट में जरूर बताइए और अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक तथा शेयर जरूर करें. साथ ही चैनल को फॉलो जरूर कर लें. इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments