डायबिटीज में रामबाण है इस खूबसूरत फूल की पत्तियां, जानें कैसे करना है इस्तेमाल

कल्याण आयुर्वेद - डायबिटीज भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया भर में एक बेहद घमंडी बन चुकी है और करोड़ों की तादात में लोग इसके शिकार हो रहे हैं. इसकी वजह जेनेटिक हो सकती है. लेकिन आमतौर पर या खराब जीवनशैली और अन हेल्थी फूड की वजह से होता है. मधुमेह रोगियों को अपनी सेहत का खास ध्यान रखना पड़ता है. वरना कई अन्य बीमारियों का खतरा पैदा हो जाता है. आइए जानते हैं कि वह क्या नेचुरल चीज है जिनकी मदद से ब्लड शुगर लेवल कम किया जा सकता है.

डायबिटीज में रामबाण है इस खूबसूरत फूल की पत्तियां, जानें कैसे करना है इस्तेमाल

डायबिटीज का दुश्मन है सदाबहार पौधा -

ग्लूकोस लेवल कंट्रोल करने के लिए जरूरी नहीं है कि आप महंगी दवाइयों का इस्तेमाल करें कुछ घरेलू और प्राकृतिक उपायों को अपनाकर भी आपको मनचाहा रिजल्ट हासिल हो सकता है. ऐसे में सदाबहार फूल की पत्तियां आपके लिए बहुत ही फायदेमंद साबित हो सकती हैं.

औषधीय गुणों से भरपूर है सदाबहार -

सदाबहार के पौधे का इस्तेमाल सदियों से आयुर्वेदिक औषधि के तौर पर किया जाता रहा है. यह डायबिटीज ही नहीं बल्कि इसके साथ-साथ आपको कई समस्याओं से छुटकारा दिलाता है. आपको बता दे सदाबहार का पौधा आपको गले में खराश ल्यूकेमिया और मलेरिया जैसी बीमारी में हर्बल इलाज का जरिया है. इस पौधे में अल्कलॉइड और 10 इन जैसे हम कंपाउंड पाए जाते हैं. इसके अलावा इस प्लांट में 100 से भी अधिक अल्कलॉइड होते हैं जो हमारे शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं.

ब्लड शुगर लेवल होता है -

सदाबहार की पैदावार मूल रूप से अफ्रीकी आईलैंड मेडागास्कर में होती है. लेकिन भारत में भी यह आसानी से मिल जाता है. इसके गुलाबी और सफेद फूल दिखने में काफी खूबसूरत होते हैं. यही वजह है कि कई लोग इसे सजावट के लिए इस्तेमाल करते हैं. इसकी हरी पत्तियां टाइप टू डायबिटीज के मरीजों के लिए नेचुरल मेडिसिन के तौर पर काम करती है. यह ब्लड शुगर लेवल को नहीं बढ़ने देता है और इससे मधुमेह के रोगियों की अच्छी सेहत बरकरार रहती है.

कैसे करें सदाबहार का इस्तेमाल -

सबसे पहले सदाबहार की पत्तियों को धूप में सुखा लें और फिर इसे पीस लें और एक एयरटाइट कंटेनर में रख लें. रोजाना आप पानी या ताजे फलों के रस के साथ इस पाउडर को मिक्स कर लें और फिर इसका सेवन करें. आप चाहे तो हर दिन 2 से 4 पत्तों को चबा सकते हैं. इसके गुलाबी फूलों में भी anti-diabetic प्रॉपर्टी पाई जाती है. इन फूलों को एक कप पानी में उबाल लें और फिर से छलनी से छान लें. अब हर सुबह खाली पेट इस पानी का सेवन करें इससे शुगर लेवल कंट्रोल करने में मदद मिलती है.

आपको यह जानकारी कैसी लगी ? हमें कमेंट में जरूर बताएं और अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक तथा शेयर जरूर करें. साथ ही चैनल को फॉलो जरुर कर लें. इस पोस्ट को पढने के लिए आपका धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments