इन वजहों से फैलता है कैंसर, न बरतें लापरवाही, वरना जा सकती है जान

कल्याण आयुर्वेद - कैंसर बीमारियों का एक बड़ा समूह है, जो तब होता है जब अब नॉर्मल सेल्स तेजी से डिवाइड होने लगते हैं और यह दूसरे टिश्यू सौ रंगों में फैल सकते हैं. यह तेजी से बढ़ने वाली कोशिकाएं ट्यूमर का कारण बन सकती हैं.

इन वजहों से फैलता है कैंसर, न बरतें लापरवाही, वरना जा सकती है जान

वह बॉडी के नॉर्मल फंक्शन में भी रूकावट डालती है. कैंसर दुनिया भर में होने वाली मौतों के प्रमुख कारणों में से एक है. वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाईजेशन के मुताबिक, साल 2020 में 6 में से 1 मौत के लिए कैंसर का कारण था विशेषज्ञ हर दिन नए कैंसर उपचारों का परीक्षण करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं. लेकिन अब तक इसका पुख्ता इलाज नहीं मिल पाया है.

क्यों होता है कैंसर -

कैंसर का मुख्य कारण आपकी सेल्स का म्यूटेशन या इसके डीएनए में बदलाव है, आपके जेनेटिक म्यूटेशन विरासत में मिल सकते हैं. जन्म के बाद यह एनवीरो इन मेंटल फोर्स के कारण भी हो सकता है. अब जेनेटिक कारणों से तो बचना मुश्किल है, लेकिन कुछ बाहरी वजहों से बचा जा सकता है.

कैंसर के बाहरी कारणों को कार्सिनोजेंस कहा जाता है, जो इस प्रकार है -

1.रेडिएशन और अल्ट्रावॉयलेट लाइट जैसे फिजिकल कार्सिनोजेंस.

2.सिगरेट का धुआं, शराब, वायु प्रदूषण और दूषित भोजन और पीने के पानी जैसे केमिकल कार्सिनोजेन.

3.कैंसर जानलेवा बीमारी, वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के अनुसार कैंसर से होने वाली मौतों में से लगभग 33 फ़ीसदी तंबाकू, शराब, हाय बॉडी मास इंडेक्स, कम फल और सब्जियों के सेवन और पर्याप्त शारीरिक गतिविधि न करने के कारण हो सकते हैं.

कैंसर के प्रकार -

अपेंडिक्स कैंसर, ब्लड कैंसर, बोन कैंसर, ब्रेन कैंसर, ब्रेस्ट कैंसर, सर्विकल कैंसर, कोलोन कैंसर, lip कैंसर, रिनल किडनी कैंसर, ल्यूकेमिया, लिप कैंसर, लीवर कैंसर, लंग कैंसर, लिंफोमा, ओरल कैंसर, ओवेरियन कैंसर, पैंक्रिएटिक कैंसर, प्रोस्टेट कैंसर, स्किन कैंसर, छोटी आंत का कैंसर, स्प्लीन कैंसर, वेजिनल कैंसर, यूटेराइन कैंसर, टेस्टिकुलर कैंसर, स्टमक कैंसर, आदि.

आपको यह जानकारी कैसी लगी ? हमें कमेंट में जरूर बताइए और अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक तथा शेयर जरूर करें. साथ ही चैनल को फॉलो जरूर कर लें. इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments