पैरों के तलवों में महसूस हो रही है ये दिक्कतें ? तो समझ जाएं डैमेज हो रहा है आपका लीवर

कल्याण आयुर्वेद - लिवर हमारे शरीर में कई तरह के काम करता है. लीवर पेट के ऊपर की साइड में स्थित अंग होता है जो पसलियों के अंदर स्थित होता है. लीवर शरीर में टॉक्सिक पदार्थों को तोड़ने वालों का उत्पादन जैसे कई तरह के काम करता है. बीते कुछ सालों में लोगों को काफी ज्यादा संख्या में लिवर डिजीज की समस्या का सामना करना पड़ रहा है. लिवर डैमेज होने के पीछे कई कारण हो सकते हैं. परंतु एक अच्छी बात यह है कि लीवर से संबंधित बीमारियों को ठीक किया जा सकता है. लेकिन इसके लिए जरूरी है कि आप इसके शुरुआती लक्षणों को नजरअंदाज ना करें.

पैरों के तलवों में महसूस हो रही है ये दिक्कतें ? तो समझ जाएं डैमेज हो रहा है आपका लीवर

लिवर में दिक्कत होने पर हमारा शरीर कई तरह के संकेत देने लगता है. लिवर डिजीज होने पर इसके संकेत आपको अपने पैरों पर दिखाई देते हैं तो अगर आपके पैरों में भी ऐसे लक्षण और संकेत नजर आ रहे हैं तो इसका मतलब है कि आप के लिवर में कोई दिक्कत हो रही है तो चलिए जानते हैं इन संकेतों के बारे में.

सूजन एक्सपर्ट का कहना है कि अगर आपको अपने पैरों, तखनो और तलवों में सूजन महसूस हो रही है तो यह कई तरह के लीवर से संबंधित बीमारियों का संकेत हो सकता है. जैसे हेपेटाइटिस बी, हेपेटाइटिस सी, सिरोसिस फैटी लिवर डिजीज और यहां तक कि लिवर कैंसर भी हो सकता है. ऐसे में इस लक्षण को नजरअंदाज ना करें और डॉक्टर से संपर्क करें.

एक्सपर्ट का कहना है कि अगर आपको हेपेटाइटिस बी या हेपेटाइटिस सी है, तो आपको कैंसर का खतरा और भी ज्यादा बढ़ जाता है. क्योंकि इन बीमारियों से ऊपर सिरोसिस का खतरा बढ़ जाता है. किसी भी कारण के चलते लिवर डिजीज सिरोसिस में बदल सकती है. जिससे लिवर कैंसर होने का खतरा काफी ज्यादा बढ़ जाता है, तो अगर आपको अपने पैरों में सूजन दिखाई दे रही है तो जरूरी है कि इसका इलाज करवाएं.

1.पैरों के तलवों में खुजली होना -

हेपेटाइटिस के एडवांस मामलों में कुछ मरीजों को हाथों और पैरों के तलवों में खुजली की शिकायत होती है. ऐसा pruritus नाम की समस्या के कारण होता है. जिससे आपकी त्वचा में काफी ज्यादा खुजली होने लगती है. इसके अलावा भी लिवर डिजीज होने पर आपके हाथ और पैरों की त्वचा काफी ज्यादा ड्राई हो जाती है. जिसके वजह से खुजली होती है ऐसे में जरूरी है कि आप अपने हाथों और पैरों में मॉइश्चराइजर का इस्तेमाल करें. 

2.पैरों के तलवों में दर्द -

लिवर डिजीज के कारण पैरों के तलवों में दर्द की शिकायत भी होती है. जब लीवर सही तरीके से काम नहीं करता है, कि धीमा में फ्लूइड इकट्ठा होना शुरू हो जाता है. पैरों में पेरीफेरल न्यूरोपैथी कमजोरी और नरम डैमेज के कारण दर्द को भी क्रॉनिक लिवर डिजीज के साथ जोड़ा जाता है. लीवर डिजीज का सबसे आम कारण हेपेटाइटिस है लिवर डिजीज के बाकी टाइप में लिवर में सिरोसिस फैटी लिवर डिजीज और नॉन अल्कोहलिक लिवर डिजीज शामिल है. लीवर की समस्या होने पर पैरों के तलवों में दर्द और सूजन की समस्या होती है.

3.झनझनाहट और पैरों का सुन्न पड़ना -

लीवर की समस्या से पीड़ित लोगों को हेपेटाइटिस सी इंक्शन या एल्कोहलिक लिवर डिजीज के कारण पैर सुन्न पड़ने या झनझनाहट का एहसास हो सकता है. यह दोनों ही समस्या डायबिटीज के मरीजों में देखने को मिलती है, जो लीवर की समस्याओं से पीड़ित लोगों में काफी आम है. क्योंकि लिवर ग्लूकोस के लेवल को कंट्रोल करने में मदद करता है. यह सभी दिक्कतें पेरीफेरल न्यूरोपैथी कारण होती है जो दिमाग और रीढ़ की हड्डी के बाहर की नसों को नुकसान पहुंचाता है.

इन कारणों के चलते करना पड़ता है लिवर डिजीज का सामना  -

किसी दवाई की वजह से साइड इफेक्ट होना, डाइट में बहुत ज्यादा चीनी का सेवन करना, अत्यधिक मात्रा में प्रोसेस्ड फूड का सेवन करना, सब्जियां ना खाना, शराब का अत्यधिक मात्रा में सेवन करना, डाइट में बहुत ज्यादा प्रोटीन शामिल करना.

क्या है अल्कोहलिक और नॉन अल्कोहलिक लिवर डिजीज -

एल्कोहलिक लिवर डिजीज का सामना तब करना पड़ता है जब आप अत्यधिक मात्रा में शराब का सेवन करते हैं. नेशनल हेल्थ सर्विस के मुताबिक अगर आप शराब का सेवन कम से कम मात्रा में करें, तो इस से एल्कोहलिक लिवर डिजीज की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है.

नॉन अल्कोहलिक लीवर डिजीज का सामना उन लोगों को करना पड़ता है, जो शराब का सेवन बहुत ही कम या ना के बराबर करते हैं. नॉन अल्कोहलिक लीवर डिजीज का सामना तब करना पड़ता है. जब आप अधिक मात्रा में फैट युक्त चीजों का सेवन करते हैं इससे लीवर में फैट जमने लगता है.

लिवर सिरोसिस के लक्षण -

सिरोसिस के शुरुआती लक्षणों के बारे में पता करना काफी मुश्किल होता है. क्योंकि आपका लिवर डैमेज होने के बावजूद भी काम करता रहता है. लेकिन सिरोसिस होने पर आपका शरीर कई तरह के संकेत देता है, जिन्हें आप को समझना जरूरी है इसमें शामिल है.

थकान और कमजोरी, बीमार महसूस करना, भूख न लगना और वजन कम होना, हथेलियों में लाल पैच, त्वचा पर रक्त कोशिकाओं के छोटे-छोटे जाल नजराना.

आपको यह जानकारी कैसी लगी ? हमें कमेंट में जरूर बताइए और अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक तथा शेयर जरूर करें. साथ ही चैनल को फॉलो जरूर कर लें. इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments