जानिए- बेली फैट होने के कारण और छुटकारा पाने के आसान उपाय

कल्याण आयुर्वेद- बेली फैट से छुटकारा पाने के लिए प्रतिदिन सुबह उठकर टहलने जाएं. रात का खाना खाने के तुरंत बाद सोने से बचें, थोड़ी देर टहलें इससे अतिरिक्त कैलोरी और बेली फैट भी बर्न हो सकता है.

ज्यादातर लोग ऐसे होते हैं, जिनका पूरा शरीर दुबला-पतला दिखता है, लेकिन पेट खुद ही बहुत फैला हुआ नजर आता है, दरअसल, ऐसा पेट में और उसके आसपास अत्यधिक चर्बी एकत्रित होने के कारण होता है. इससे पेट बाहर निकलने जैसा महसूस होता है. इससे कमर भी चौड़ी हो जाती है. पुरानी पैंट-शर्ट, टी-शर्ट तक पहनना मुश्किल हो जाता है. क्या आप भी इस समस्या से परेशान हैं ? दो-तीन महीने पहले आपने जो कपड़े खरीदे थे, अगर वे अब फिट नहीं होते हैं, तो आपको इस समस्या को गंभीरता से लेना चाहिए. अधिक मोटापा आपको और भी कई बीमारियों का शिकार सकता है. पेट पर जमा चर्बी से जुड़े कई शोधों में यह बात सामने आई है कि चर्बी की वजह से व्यक्ति में हार्ट अटैक, डायबिटीज और ब्लड प्रेशर का खतरा अधिक हो जाता है. पेट के आसपास की चर्बी आहार और जीवन शैली में गड़बड़ी, व्यायाम और योग, शारीरिक गतिविधियों की कमी के कारण होती है. इस समस्या से निपटने के लिए कुछ महीनों तक आजमाएं ये आसान और असरदार उपाय, पेट में जमा चर्बी गायब हो जाएगी.

बेली फैट होने के क्या कारण हो सकते हैं ?

1 .आनुवंशिक कारण-

शोध के अनुसार अगर माता-पिता या परिवार का कोई अन्य सदस्य मोटापे का शिकार है तो यह समस्या आने वाली पीढ़ी को भी हो सकती है. शरीर में कुछ वसा कोशिकाएं आनुवंशिक रूप से विकसित होती हैं.

2 .पाचन तंत्र की कमजोरी-

जैसे-जैसे हमारी उम्र बढ़ती है, पाचन तंत्र ठीक से काम नही कर पाता है, कई बार इससे पेट की चर्बी बढ़ जाती है. पाचन तंत्र खराब होने से थायराइड और शुगर जैसी समस्याएं भी शरीर को घेर लेती हैं.

3 .हार्मोनल परिवर्तन-

महिलाओं में, जब वे अपने जीवन के मध्य चरण में पहुंचती हैं, यानी लगभग 40 वर्ष की आयु में, शरीर के वजन की तुलना में वसा तेजी से बढ़ती है. रजोनिवृत्ति के दौरान, एस्ट्रोजन हार्मोन का स्तर कम होता है और एंड्रोजन हार्मोन का स्तर अधिक हो जाता है. इन दोनों कारणों से कमर और पेट की चर्बी बढ़ने लग जाती है.

4 .तनाव में रहना-

कई बार शरीर में चर्बी का बढ़ना भी तनाव के कारण होता है. जब आप तनाव में होते हैं तो रक्त में कोर्टिसोल का स्तर बढ़ जाता है. कोर्टिसोल शरीर में वसा के स्तर को बढ़ाता है, जिससे वसा कोशिकाएं बड़ी हो जाती हैं. आमतौर पर इस स्थिति में पेट के आसपास चर्बी जमा होने लगती है.

5 .लगातार काम करना-

आज लोगों की शारीरिक गतिविधियां काफी हद तक कम हो गई हैं. लगातार बैठकर काम करना, टीवी देखना, व्यायाम न करना कुछ ऐसी आदतें हैं जो पेट की चर्बी बढ़ाती हैं. लोग व्यायाम करने के लिए समय निकालने के बजाय टीवी देखना या कंप्यूटर पर काम करना पसंद करते हैं. खाली समय में फिजिकली एक्टिव रहने की बजाय सोशल मीडिया से जुड़ें रहते है. नतीजतन, शरीर में वसा का स्तर बढ़ने लगता है.

6 .ज्यादा खाना-

कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो दिन भर उल्टा- पुल्टा कुछ न कुछ खाते रहते हैं. कभी-कभी वे काम के दबाव या तनाव में ज्यादा खा लेते हैं. वे एक जगह बैठकर काम करते रहते हैं तो जाहिर सी बात है कि आपकी यह आदत कमर और पेट के आसपास की चर्बी को बढ़ा देगी.

पेट की चर्बी कम करने के आसान उपाय-

1 .उपवास करें- यह आवश्यक नहीं है कि आप व्रत हो तभी उपवास करें, बल्कि आप सप्ताह में एक दिन उपवास कर सकते हैं. उन्हें एक दिन का उपवास करना चाहिए, जो भोजन को देखकर खुद को नियंत्रित करने में असमर्थ हैं. उपवास के दौरान पेय पदार्थ या फलों का सेवन करें जैसे- नींबू पानी, दूध, जूस, सूप आदि. सब्जी या फलों का सलाद खाएं. सलाद शरीर के लिए हेल्दी होने के साथ-साथ वजन भी कम करता है.

2 .योग करें- पेट की चर्बी कम करने के लिए योग एक अच्छा विकल्प है. रोजाना सुबह आधा घंटा योग करने से शरीर पर जमा चर्बी कम होती है. पेट की चर्बी कम करने के लिए केवल योग चुनें. योग से आप और भी कई बीमारियों से बचे रहेंगे. सूर्य नमस्कार, सर्वांगासन, भुजंगासन, वज्रासन, पद्मासन, शलभासन से अच्छा लाभ होगा.

3 .जंक फूड से रहें दूर- अगर आप एक दिन का उपवास भी करते हैं तो भी पेट की चर्बी तब तक कम नहीं होगी जब तक आप जंक फूड से दूरी नहीं रखेंगे. जंक फूड से वजन तेजी से बढ़ता है. साथ ही तेल और मसाले वाली चीजों का सेवन कम करें. खाने में भाप वाली सब्जियों को भी शामिल करें.

4 .शहद का सेवन करें- वजन घटाने के लिए भी शहद का सेवन फायदेमंद होता है. प्रतिदिन सुबह खाली पेट गुनगुने पानी के साथ थोड़ी मात्रा में शहद मिलाकर पिएं. इससे आपके पेट पर जमा चर्बी कुछ ही दिनों में गायब हो जाएगी.

5 .ग्रीन टी पिएं- अगर आप ज्यादा चाय पीते हैं तो दूध वाली चाय पीने की बजाय ग्रीन टी पीने की आदत डालें. एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर ग्रीन टी के अलावा आप लेमन टी या ब्लैक टी भी पी सकते हैं. दूध वाली चाय पीने से मोटापा बढ़ने की संभावना बढ़ जाती है.

7 .टहलना भी है जरूरी- सुबह-शाम की सैर शरीर को फिट और स्वस्थ रखती है. बेली फैट से छुटकारा पाने के लिए रोज सुबह उठकर टहलने जाएं. रात का खाना खाने के बाद सोने से बचें. थोड़ी देर टहलें, इससे अतिरिक्त कैलोरी और बेली फैट भी बर्न हो सकता है.

नोट- यह लेख शैक्षिक उद्देश्य से लिखा गया है, अधिक जानकारी के लिए किसी योग्य चिकित्सक से सलाह लें. शुक्रिया.

Post a Comment

0 Comments