महिलाओं को डायबिटीज के कारण हो सकती है ये गंभीर समस्याएं, इग्नोर करना पड़ेगा भारी

कल्याण आयुर्वेद - आजकल के वक्त में डायबिटीज एक आम बीमारी बन चुकी है. पहले यह केवल बुजुर्गों में सुनने को मिलती थी. परंतु आज के समय में छोटे बच्चे युवा सभी इस बीमारी का शिकार बन रहे हैं. यह एक घातक बीमारी है जो आपके साथ अंतिम वक्त तक रहती है. जी हां डायबिटीज को लेकर सबसे दुख और फिक्र की बात यह है कि इस बीमारी को कभी भी पूरी तरीके से ठीक नहीं किया जा सकता. एक बार यह बीमारी जिस व्यक्ति को लग जाए तो फिर जिंदगी भर यह बीमारी है. उसके साथ चलती है. परंतु जरूरी होता है कि इसे कंट्रोल किया जाए.

महिलाओं को डायबिटीज के कारण हो सकती है ये गंभीर समस्याएं, इग्नोर करना पड़ेगा भारी

देखा जाए तो पुरुषों के मुकाबले महिलाओं के लिए डायबिटीज ज्यादा हानिकारक होता है. अगर इसे कंट्रोल न किया जाए तो यह बीमारी महिलाओं में बहुत ज्यादा गंभीर समस्याएं पैदा कर सकता है. ऐसे में इसे नजरअंदाज करना बहुत बड़ी भूल हो सकती है. आज के इस पोस्ट में हम आपको बताएंगे कि डायबिटीज के कारण महिलाओं में क्या दिक्कत है आती है और डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए हमें अपनी डाइट में किन चीजों को शामिल करना चाहिए. 

तो चलिए जानते हैं विस्तार से -

1.यूरिनरी ब्लैडर में इंफेक्शन -

डायबिटीज से पीड़ित महिलाओं में पेशाब की थैली यानी यूरिनरी ब्लैडर में इंफेक्शन की समस्या हो सकती है. हाई ब्लड शुगर लेवल इम्यून सिस्टम को कमजोर कर देता है. जिसके कारण हमारा संक्रमण से लड़ पाना संभव नहीं होता है. ऐसी स्थिति में महिलाओं में यूरिनरी ट्रैक्ट इनफेक्शन की संभावना बढ़ जाती है. डायबिटीज के कारण कुछ महिलाएं अपने पेशाब की थैली को पूरी तरह से खाली नहीं कर पाती है. जिससे संक्रमण का खतरा और भी ज्यादा बढ़ जाता है. आगे चलकर यह बहुत बड़ी समस्या पैदा कर सकता है. इसलिए इसका इलाज करवाना बहुत जरूरी है.

2.पीसीओएस -

पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम महिलाओं की ओवरी से जुड़ी एक गंभीर बीमारी होती है. इसमें महिला के शरीर में हार्मोन का संतुलन बिगड़ जाता है. जिसकी वजह से महिला को गर्भ धारण करना मुश्किल हो जाता है. डायबिटीज में पीसीओएस का खतरा काफी बढ़ जाता है. कई रिपोर्ट में इस बात का दावा किया गया है, कि जो महिलाएं पीसीओएस से पीड़ित हैं उनमें टाइप टू डायबिटीज होने का खतरा काफी बढ़ जाता है.

3.पीरियड साइकिल बिगड़ना -

डायबिटीज से पीड़ित महिलाओं में हर महीने आने वाले पीरियड्स में भी काफी बदलाव देखने को मिलता है. इससे उनका पीरियड साइकिल बिगड़ सकता है. जिससे उसके अनुसार टाइप वन डायबिटीज से पीड़ित महिलाओं में अनियमित पीरियड्स होते हैं. हालांकि यह समस्या सभी डायबिटीज पीड़ित महिलाओं के साथ हो ऐसा जरूरी नहीं है. परंतु कुछ महिलाओं के साथ यह समस्या देखी जाती है. अगर आपके साथ ऐसी समस्या है तो आपको तुरंत ही डॉक्टर के पास जाना चाहिए.

डायबिटीज कण्ट्रोल करने के उपाय -

1.संतुलित आहार लें -

हेल्थ एक्सपर्ट की मानें तो डायबिटीज के मरीजों को डाइट में केवल उन चीजों को शामिल करना चाहिए. जिनका सेवन करने से शुगर का स्तर न बढ़े. इसके लिए संतुलित आहार का सेवन करें. वही डाइट में शुगर फ्री ताजे फल और सब्जियों को जरूर शामिल करें. इन चीजों का सेवन करना सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है और डायबिटीज मरीजों के लिए तो और भी अच्छा होता है.

2.रोजाना एक्सरसाइज करें -

आधुनिक समय में सेहतमंद रहने के लिए रोजाना एक्सरसाइज करना बहुत ही जरूरी हो गया है. इसके लिए रोजाना कम से कम 30 मिनट तक एक्सरसाइज जरूर करनी चाहिए. अगर आप हाई इंटेक एक्सरसाइज नहीं करना चाहते हैं, तो लाइट एक्सरसाइज कर सकते हैं. आसान शब्दों में कहें तो आप वाकिंग और ब्रिस्क वाकिंग जरूर करें. एक्सरसाइज करने से बढ़ते वजन को कंट्रोल करने में मदद मिलता है. इसके साथ ही शुगर कंट्रोल में रहता है साथ ही पाचन तंत्र भी मजबूत होता है.

3.तंबाकू का सेवन न करें -

धुम्रपान तंबाकू इन सभी चीजों का सेवन करना हमारी सेहत के लिए बिल्कुल भी अच्छा नहीं होता है. यह बात हम सभी जानते हैं, उसके बावजूद भी ज्यादातर लोगों को इन सभी चीजों की आदत पड़ गई है. लेकिन आपको बता दें डायबिटीज के मरीजों को इसका सेवन बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए. आप बिल्कुल भी ना करें शुगर को कंट्रोल करने के लिए धूम्रपान से दूरी बनाना बहुत जरूरी है. हेल्थ एक्सपर्ट की मानें तो तंबाकू का सेवन करने से कैंसर रोग का खतरा भी बढ़ जाता है.

4.पर्याप्त नींद लें -

सेहतमंद रहने के लिए रोजाना पर्याप्त नींद लेना बहुत ही जरूरी होता है. डॉक्टर भी सेहतमंद रहने के लिए रोजाना 8 घंटे की नींद लेने की सलाह देते हैं. इससे शरीर के सभी अंग सही तरीके से काम करने लगते हैं. अच्छी नींद लेने से विभिन्न प्रकार की बीमारियां दूर हो जाती है. इसके साथ ही डायबिटीज में फायदा मिलता है. ऐसे में डायबिटीज मरीजों को पर्याप्त नींद लेना चाहिए.

आपको यह जानकारी कैसी लगी ? हमें कमेंट में जरूर बताइए और अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक तथा शेयर जरूर करें. साथ ही चैनल को फॉलो जरूर कर लें. इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments