सर्दियों में डेंगू कर रहा है बच्चों पर अटैक, इस तरह रखें ख्याल

कल्याण आयुर्वेद - सर्दी आते हीं बच्चों की सेहत का खास ख्याल रखना पड़ता है. ऐसे मौसम में डेंगू तेजी से लोगों को अपना शिकार बना रहा है. जिसमें अधिक गिनती बच्चों की होती है. डेंगू बुखार एक ट्रॉपिकल डिजीज है. यह मच्छरों के काटने से फैलने वाले वायरस पर होता है. एक हेल्थ वेबसाइट के अनुसार, डेंगू को ब्रेक बोन फीवर या हड्डी तोड़ बुखार भी कहते हैं. बच्चों को डेंगू होने पर पूरे शरीर में शक करते बदन दर्द और तेज बुखार होने लगता है. हालाँकि डेंगू बुखार के अधिकांश मामले माइल्ड होते हैं, जो लगभग 1 सप्ताह के अंदर अपने आप ही कम होने लगते हैं. लेकिन कुछ मामलों में इसे गंभीर भी देखा गया है. ऐसे यह बॉडी विक्रय और प्लेटलेट्स कम होना जैसे लक्षण दिखते हैं.

सर्दियों में डेंगू कर रहा है बच्चों पर अटैक, इस तरह रखें ख्याल

आपको बता दें कि डेंगू किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकता है. खासकर बुजुर्ग और बच्चों को आसानी से यह बीमारी अपने चपेट में ले लेती है. दरअसल बच्चों की इम्युनिटी वीक होती है. इसलिए डेंगू उन पर अधिक अटैक करता है. बच्चों को डेंगू से बचाने के लिए सावधानी बरतनी बहुत जरूरी है. खासकर स्कूल जाने वाले बच्चों का विशेष ध्यान रखना चाहिए.

इस तरह रखे बच्चों का ध्यान -

1.घरों के खिड़की दरवाजे शाम होते ही बंद कर ले. ताकि मच्छर घर में ना आए मच्छरों को घर में आने से रोकने की कोशिश करें.

2.बच्चे घर से बाहर जाते हैं तो उन्हें पूरे आस्तीन के कपड़े यानी फुल शर्ट पेंट जूते और मोजे पहनाकर भेजें. जिससे शरीर का कोई भी हिस्सा खुला ना रहे इस पर मच्छर काटेंगे नहीं.

3.यदि कोशिशों के बावजूद भी घर में मच्छर आ जाते हैं, तो आपको सोने से पहले मच्छरदानी जरूर लगा लें. बच्चों को हमेशा मच्छरदानी के अंदर से लाएं ताकि उन्हें मच्छरों से डर ना हो.

4.बच्चों को सोते समय इंसेंट रेपेलेंट लगाएं. अगर यह उपलब्ध ना हो तो बीआईटी या नींबू और नीलगिरी का तेल भी लगा सकते हैं.

5.अगर बच्चे खेलना है घूमना चाहते हैं तो उन्हें दोपहर के समय बाहर भेजें. क्योंकि सुबह और शाम के समय मच्छर ज्यादा एक्टिव रहते हैं. ऐसे में दोपहर का समय अच्छा रहता है.

6.मच्छरों को पनपने के लिए जगह न दे. डेंगू मच्छर पानी में अपने अंडे देते हैं. इसलिए घर में रखे किसी भी खाली कंटेनर में पानी जमा होने से बचाएं. साथ ही घर के आस-पास की जगहों में भी पानी न जमने दे.

7.घर में यदि पेट से है तो उनके साफ सफाई का अधिक ध्यान रखें. क्योंकि इनकी वजह से भी मच्छर ज्यादा आते हैं.

8.बच्चों की इम्युनिटी को बढ़ाने के लिए आप उनके खान-पान पर ज्यादा ध्यान दे और उनकी डाइट को बदले. इसके लिए आप किसी न्यूट्रिशन एक्सपर्ट की सलाह ले सकते हैं.

9.बच्चों को योग और एक्सरसाइज करवाएं. वैसे तो बच्चों को यह सब करना पसंद नहीं आता है. लेकिन आप उन्हें खेल खेल में योग तथा एक्सरसाइज करवा सकते हैं.

ध्यान रहे डेंगू कोई बमारी नहीं, जिसका इलाज न हो सके. समय रहते अगर मरीज का उपचार किया जाए, तो डेंगू से छुटकारा पाया जा सकता है. बच्चों में डेंगू का कोई भी लक्षण नजर आने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए. अगर इसे नजरअंदाज किया गया तो यह कभी-कभी गंभीर रूप भी ले सकता है.

आपको यह जानकारी कैसी लगी ? हमें कमेंट में जरूर बताइए और उधर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक तथा शेयर जरूर करें. साथ ही चैनल को फॉलो जरूर कर लें. इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments