महिलाओं में तेजी से फैल रही है यह रहस्यमय बीमारी, कहीं आप तो नहीं बन गई शिकार

कल्याण आयुर्वेद - महिलाएं घर गृहस्ती के कामकाज में इतना व्यस्त रहती हैं, कि अक्सर उन्हें खुद पर ध्यान देने के लिए समय नहीं मिल पाता है. इसके अलावा परिवार में उलझ जाने की वजह से भी वे अपना ध्यान नहीं रख पाती है. ऐसे में उनकी बीमार होने का खतरा बहुत बढ़ जाता है. यहां पर बात लड़कियों और युवतियों में तेजी से बढ़ रही उस बीमारी की जिसक फैलने की दर चिंताजनक हो रही है. ऐसे में इस पर ध्यान देना बहुत ही जरूरी है, वरना आगे चलकर आपको पछताना पड़ सकता है. आज के इस पोस्ट में हम आपको एक ऐसी बीमारी के बारे में बताने जा रहे हैं, जो बड़ी खतरनाक है और काफी तेजी से महिलाओं तथा लड़कियों में फैल रही है.

महिलाओं में तेजी से फैल रही है यह रहस्यमय बीमारी, कहीं आप तो नहीं बन गई शिकार

चलिए जानते हैं इसके बारे में विस्तार से -

आपको बता दें हम जिस खतरनाक बीमारी की बात कर रहे हैं, उसका नाम है अल्जाइमर. अल्जाइमर एसोसिएशन की हालिया रिपोर्ट इस भूलने वाली बीमारी को लेकर एक बड़ा ही चौंकाने वाला खुलासा हुआ है. रिपोर्ट के मुताबिक महिलाओं में अल्जाइमर यानी कि भूलने की बीमारी का खतरा पुरुषों की तुलना में 2 गुना ज्यादा होता है. डॉक्टरों का कहना है कि इस बीमारी के चलते महिलाओं के अंदर सोच ले और याद रखने की क्षमता पर बहुत बुरा असर पड़ रहा है और अब तो यह समस्या 20 साल की युवती यो से लेकर 30 साल की उम्र वाली महिलाओं को भी परेशान कर रही है. ऐसे में अपना ध्यान रखना बहुत जरूरी होता है.

1.हार्मोन से जुड़ा मामला -

डॉक्टरों का कहना है कि महिलाओं में अल्जाइमर भूलने की बीमारी हार्मोन नल हेल्थ की समस्या से जुड़ी हुई है . एक लेटेस्ट मेडिकल रिसर्च में महिलाओं में अल्जाइमर के बढ़ने की सबसे बड़ी वजह हार्मोन अल डिसबैलेंस और खराब जीवनशैली के साइड इफेक्ट बताए गए हैं.

2.एक वजह यह भी -

हालांकि इस बीमारी का एक कारण शरीर में एस्ट्रोजन की मौजूदगी भी हो सकती है. जिसमें उम्र बढ़ने के साथ हार्मोन का प्रोडक्शन घटने लगता है और यही एक ऐसा खास वजह है जो महिला को अल्जाइमर की ओर ले जाती है ऐसे में इसका ध्यान रखना जरूरी है.

अल्जाइमर की रोकथाम कैसे करें -

शोध के मुताबिक, अल्जाइमर की स्थिति दिमाग में एमाइलॉयड और ताऊ प्रोटीन के निर्माण से बनती है. डॉक्टरों का कहना है कि एस्ट्रोजन एमाइलॉयड बीटा प्रोटीन के कुछ हानिकारक प्रभाव को रोककर मानव मस्तिष्क में अल्जाइमर से बचाने में मददगार साबित हो सकता है. लेकिन जब इसकी कमी होने लगती है तो यह दिमाग के फंक्शन यानी दिमाग के कामकाज को प्रभावित करने लगता है और इस तरीके से कोई महिला इस भूलने वाली बीमारी का शिकार हो जाती है.

ऐसे करें एस्ट्रोजन को बैलेंस -

महिलाओं में एस्ट्रोजन हार्मोन को बैलेंस करने के लिए सबसे पहले आपको अपना डेली रूटीन सुधारने की जरूरत है. इसके लिए आपको रोजाना 15 से 30 मिनट की एक्सरसाइज करना शुरु करना होगा. इसके अलावा वजन को संतुलित रखने के लिए पूरी कोशिश करनी होगी इसके साथ-साथ अपने शरीर का ब्लड शुगर लेवल भी कंट्रोल में रखना होगा.

जरूरी सलाह -

यदि किसी महिला को अपने शरीर में विटामिन डी की कमी महसूस हो रही है तो इसे पूरा करने के लिए उन्हें सुबह की पहली धूप में थोड़ी देर के लिए बैठना चाहिए और तनावमुक्त जीवन शैली को अपनाना चाहिए. दूसरे नंबर पर यह है कि आपका खान-पान भी आप को प्रभावित करता है. इसलिए खान-पान पर ध्यान देना जरूरी है. आप अपनी डाइट में हाई प्रोटीन डाइट लें, इसके लिए आप अंडा, दाल, मछली आदि का सेवन भी कर सकती हैं. ऐसे कुछ छोटे और बड़े आसान से उपाय को अपनाकर महिलाएं अपने आप को इस बीमारी से बहुत दूर रख सकती हैं.

कहीं आपको तो नहीं दिख रहे हैं यह लक्षण -

हो सकता है कि आपके अंदर भी उसके कुछ लक्षण दिखाई दे रहे हो, इसलिए इसे नजरअंदाज करना बिल्कुल भी सही नहीं होता है. यदि आपको निम्न में से कोई भी लक्षण अपने अंदर महसूस हो रहा है तो यह अल्जाइमर की शुरुआती चपेट में आने का संकेत हो सकता है. हाल ही में हुई कोई बात या घटना का याद न रहना वही चीजों को रख कर भूल जाना अपने किसी दोस्त या परिचित का नाम भूल जाना यह सभी अल्जाइमर बीमारी के लक्षण है छोटी-छोटी बातों को भी भूल जाना आपके लिए खतरनाक साबित हो सकता है.

बोलते समय सही शब्द ना सोच पाना -

हालांकि इसके अलावा अलग-अलग मरीजों में उनके शरीर के अनुसार कुछ अन्य लक्षण भी देखे जा सकते हैं. जैसे बोलते समय सही समय पर उपयुक्त शब्दों का नाम सोच पाना कई बार ऐसा होता है, कि हम जो बोलते हैं और उसके साथ या उसके आगे हमें क्या बोलना है. यह हमारे मन में तो होता है, लेकिन हमारे दिमाग में नहीं आ पाता है और हम उसे बोल नहीं पाते हैं. नॉर्मल होता है लेकिन अगर आपको बार-बार यह समस्या हो रही है, तो हो सकता है आपको अल्जाइमर का लक्षण दिख रहा हूं इसके लिए आपको डॉक्टर से संपर्क करने चाहिए.

कैसे करें रोकथाम -

मेडिकल एक्सपर्ट के मुताबिक अल्जाइमर होने के बाद उसे जड़ से खत्म करना नामुमकिन होता है. लेकिन जिन लोगों को अल्जाइमर का खतरा है वह कुछ बातों का ध्यान रख कर इस बीमारी को अपने अंदर होने से बचा सकते हैं. इसके लिए आपको सबसे पहले अपने जीवन शैली में बदलाव करना होगा एक्सपर्ट का यह कहना है, कि शुरुआती दौर में अगर लक्षणों को पहचानें के साथ उनका सही इलाज शुरू कर दिया जाए तो काफी हद तक इस बीमारी के दुष्प्रभावों से बचा जा सकता है. वहीं अगर आप सही जीवन शैली अपनाते हैं तो इस बीमारी को अपने अंदर होने से रोक सकते हैं.

आपको यह जानकारी कैसी लगी ? हमें कमेंट में जरूर बताएं और अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक तथा शेयर जरूर करें. साथ ही चैनल को फॉलो जरूर कर लें. इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments