इन लोगों को ज्यादा रहता है सर्वाइकल कैंसर का खतरा, ऐसे करें पहचान

कल्याण आयुर्वेद - कैंसर अपने आप एक बहुत ही गंभीर और भयानक बीमारी है. इसका नाम सुनते ही लोगों की आंखें बड़ी हो जाती है. हालांकि पुरुषों से ज्यादा महिलाओं में कैंसर के मामले ज्यादा देखने को मिलते हैं. आपको बता दें महिलाओं में सबसे अधिक होने वाला ब्रेस्ट कैंसर है और दूसरा सर्वाइकल कैंसर है. सर्वाइकल कैंसर महिलाओं में होने वाला सबसे गंभीर कैंसर में से एक माना जाता है. भारत में महिलाएं सबसे ज्यादा इस बीमारी से ग्रसित रहते हैं यह कैंसर महिलाओं के सर्विस में होता है.

इन लोगों को ज्यादा रहता है सर्वाइकल कैंसर का खतरा, ऐसे करें पहचान

दरअसल महिलाओं के गर्भाशय और योनि को जोड़ने वाले हिस्से को सर्विक्स कहते हैं. इसमें होने वाले कैंसर को सर्वाइकल कैंसर कहा जाता है. यह कैंसर 35 से 40 वर्ष की महिलाओं में होता है. साथ ही इसमें महिलाओं को अनियमित पीरियड्स भी आने लगते हैं. कई बार यह समस इतनी बढ़ जाती है कि उन्हें ब्लीडिंग ज्यादा होंने लगती है. ज्यादातर महिलाएं इस समस्या को सामान्य समस्या नजर अंदाज कर देती है जो आगे चलकर जानलेवा साबित होता है.

इन लोगों को ज्यादा रहता है सर्वाइकल कैंसर का खतरा, ऐसे करें पहचान

आपको बता दें कि सर्वाइकल कैंसर काफी खतरनाक होता है. क्योंकि यह सरविक्स से शुरू होने वाला कैंसर लीवर ब्लैडर फेफड़ों योनि और किडनी तक फैलने लगता है इसके लक्षणों को सही समय पर पहचानकर इलाज करवाना बहुत जरूरी है, तो चलिए जानते हैं इसके कुछ लक्षणों के बारे में.

क्या है वजह और पहचान -

महिलाओं के शरीर में एचपीवी के फैलने की वजह से सर्वाइकल कैंसर होता है. इसके अलावा आनुवंशिकता भी इसका मुख्य कारण है. वही फैमिली हिस्ट्री के कारण भी महिलाओं में सर्वाइकल कैंसर की संभावना बढ़ जाती है. इसके अलावा जो महिलाएं धूम्रपान करती हैं और सिगरेट जैसी चीजों का सेवन करती हैं, उन्हें भी इसका खतरा बढ़ जाता है. क्योंकि सिगरेट में निकोटिन पाया जाता है, जो इस बीमारी को बढ़ावा देता है. पर्सनल हाइजीन की कमी या कुपोषण भी सर्वाइकल कैंसर की वजह बन सकती है. इतना ही नहीं एक सेक्सुअल ट्रांसमिटेड डिजीज भी है. ऐसे में असुरक्षित यौन सम्बन्ध से भी यह बीमारी हो सकती है.

सर्वाइकल कैंसर से बचाव -

1.इसके लिए महिलाएं नियमित रूप से पैच जांच करवाएं.

2.तंबाकू या सिगरेट जैसे उत्पाद के सेवन से सरविक्स कोशिकाओं के डीएनए को नुकसान पहुंचता है, जो सर्वाइकल कैंसर में बदल सकता है. इसलिए आपको आज सही धूम्रपान और नशीले पदार्थों का सेवन करना बंद कर देना चाहिए.

3.सर्वाइकल कैंसर कई प्रकार के एचपीवी के कारण भी होता है. ऐसे में आपको एचपीवी से सुरक्षा पाने के लिए टीका जरूर लगाना चाहिए.

4.असुरक्षित यौन संबंध से बचें. क्योंकि सुरक्षित सम्बन्ध की वजह से आप इस गंभीर बीमारी से खुद को काफी हद तक बचा सकती हैं.

आपको यह जानकारी कैसी लगी ? हमें कमेंट में जरूर बताइए और अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक तथा शेयर जरूर करें. साथ ही चैनल को फॉलो जरूर कर लें. इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments